राजसमंद-30 जनवरी 2024 की पमुख खबरे

राजसमंद-30 जनवरी 2024 की पमुख खबरे 

ज़िले से संबंधित खबरे पढ़े उदयपुर टाइम्स पर 

 
Rajsamand

News-अगर राशन कार्ड में कोई सदस्य कम हुआ है तो तुरंत कराएं ई मित्र से संशोधन

राजसमंद 30 जनवरी। डीएसओ संदीप शर्मा ने बताया है कि खाद्य विभाग द्वारा निर्देश दिए गए हैं कि जिले में खाद्य सुरक्षा योजना में कतिपय राशनकार्डो में कुछ सदस्य, मुखिया निरस्त या हट चुके है। ऐसे राशनकार्डों में परिवार के सदस्यों द्वारा ई-मित्र से निर्धारित प्रक्रिया द्वारा नाम, यूनिट नहीं हटाये गये हैं जिससे इन राशन कार्डों में अंकित यूनिटों एवं पोर्टल पर अंकित यूनिटों में अन्तर प्रदर्शित हो रहा है। 

इस अन्तर के कारण खाद्य सुरक्षा योजना में चयनित प्रत्येक यूनिट का सत्यापन नहीं हो पा रहा है। ऐसी स्थिति में खाद्य सुरक्षा योजना में चयनित होकर राशनकार्डो में निरस्त सदस्य, मुखिया का सत्यापन किया जाना आवश्यक है।

डीएसओ ने कहा है कि ऐसे उपभोक्ता तुरन्त अपने नजदीकी ई-मित्र पर सम्पर्क कर खाद्य सुरक्षा योजना में चयनित राशनकार्ड में यथोक्त सुधार कार्य करवाएं। यदि राशनकार्ड में दर्ज मुखिया, सदस्य की मृत्यू हो चुकी है। तो ई-मित्र के माध्यम से नाम हटवा कर मुखिया के नाम, यूनिट में संशोधन करवाया जाना सुनिश्चित करें।

News-पुस्तक मेले एवं शिक्षक सेमीनार का जिला प्रमुख ने किया शुभारंभ

राजसमंद 30 जनवरी। समग्र शिक्षा विभाग एवं अजीम प्रेमजी फाउंडेशन की ओर से सूचना केंद्र में आयोजित 'पुस्तक मेले एवं शिक्षक सेमीनार' का शुभारंभ जिला प्रमुख रतनी देवी चौधरी ने किया। इस मौके पर मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी रवींद्र तोमर, अतिरिक्त जिला शिक्षा आधिकारी शिव कुमार व्यास, एडीपीसी समग्र शिक्षा घनश्याम गौड़ आदि मौजूद रहे।

जिला प्रमुख ने कहा कि जीवन में पुस्तकों का अहम योगदान है, यह व्यक्ति के समग्र विकास के लिए जरूरी है, अच्छी पुस्तकें हर व्यक्ति को पढ़नी चाहिए। इस दौरान उन्होंने पुस्तक मेले का अवलोकन करते हुए अलग-अलग प्रकाशकों द्वारा प्रकाशित पुस्तकें देखी।

अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के जिला प्रभारी विष्णु जोशी ने बताया कि पुस्तक मेले में विभिन्न गतिविधियां जैसे कहानी सुनना और सुनाना, रचनात्मक लेखन, विज्ञान के चमत्कार, चित्रकारी, बाल साहित्य परिचर्चा, मजेदार पहेलियाँ आदि का आयोजन हो रह है। महापुरुषों के उपदेशों पर आधारित तस्वीरें लगाई गई हैं।

पुस्तक मेले में नेशनल बुक ट्रस्ट, साहित्य अकादेमी, राजकमल प्रकाशन, वाणी प्रकाशन, रेखता पब्लिकेशन, प्रकाशन संस्थान, राजकमल एंड संस, मंजुल, लोक भारती, भारतीय ज्ञानपीठ सहित अन्य प्रमुख प्रकाशकों की पुस्तकें प्रदर्शित की गई है। आमजन इनका अवलोकन कर सकते हैं और खरीद सकते हैं।

साकेत साहित्य संस्थान के सहयोग से एक गोष्ठी का आयोजन भी हुआ। इस दौरान परितोष पालीवाल, नारायण सिंह, दिनेश श्रीमाली, कुसुम अग्रवाल, कमल अग्रवाल, डॉ रचना तैलंग, पूरन शर्मा सहित अन्य साहित्यकार पहुंचे और साहित्य के प्रति आमजन में रुचि विकसित करने पर विचार व्यक्त किए। मेवाड़ के प्रचुर साहित्य को जन मानस तक पहुंचाने पर भी विचार-विमर्श हुआ।

साहित्यकार कुसुम अग्रवाल ने बाल साहित्य की आज के दौर में आवश्यकता पर जोर दिया और कहा कि बच्चे कम उम्र से मोबाइल की ओर अधिक झुक रहे हैं ऐसे में उन्हें पुनः साहित्य से जोड़ना जरूरी है। दिनेश श्रीमाली ने कहा कि साहित्यकार का कर्तव्य है कि वह सत्य को साहस से उजागर है। डॉ रचना तैलंग ने पुष्टिमार्गीय वल्लभ संप्रदाय की समृद्ध साहित्यिक परंपरा को आगे ले जाने पर विचार रखे।

जोशी ने बताया कि पुस्तक मेला 2 फरवरी तक चलेगा। 1 एवं 2 फरवरी को शिक्षक सेमीनार आयोजित होगा जिसमें सरकारी विद्यालयों के शिक्षक अपने नवाचारों को प्रस्तुत करेंगे, साथ ही बेस्ट प्रेक्टिसेज को आपस में साझा करेंगे।

News-जिला सहकारी विकास समिति एवं पेक्स कम्प्युटराइजेशन योजना की बैठक आयोजित

राजसमंद 30 जनवरी। भारत सरकार द्वारा प्रायोजित पेक्स कम्प्युटराइजेशन योजना के क्रियान्वयन के क्रम में प्रथम जिला स्तरीय मॉनिटरिंग एवं इंप्लीमेंटेशन कमेटी की बैठक का आयोजन जिला कलक्टर डॉ. भंवरलाल की अध्यक्षता में किया गया। बैठक के आरम्भ में बैंक के प्रबंध निदेशक एवं कमेटी के सदस्य सचिव आलोक चौधरी द्वारा उपस्थित सभी सदस्यों का स्वागत किया गया। कलक्टर की अनुमति से प्रस्तुत एजेण्डे के अनुसार बिंदुवार समीक्षा की गई।

सर्वप्रथम प्रबंध निदेशक चौधरी ने बताया कि पैक्स कम्प्युटराईजेशन योजनान्तर्गत जिले की ऑडिटेड पेक्स की डीएलएमइार्सी बैठक आयोजित कर अनुशंषा निर्णयार्थ प्रस्तुत करने हेतु शीर्ष बैंक भिजवाई जानी है। कलक्टर द्वारा जिले की 11 ऑडिटेड पैक्स की सूची पैक्स कम्युटराईजेशन प्रोजेक्ट में शामिल करने हेतु एसएलएमआईसी को अग्रेषित करने हेतु शीर्ष बैंक जयपुर भेजने की अनुशंसा की गई। तत्पश्चात बैठक सधन्यवाद समाप्त की गई।

सहकारी विकास समिति में दिए निर्देश

इसके बाद जिले में जिला सहकारी विकास समिति की बैठक भी हुई जिसमें पैक्स को बहुउददेशीय बनाने के लिए उनके आदर्श उपविधियों का पंजीकरण, पेक्स कम्प्युटराईजेशन, पेक्स विहीन ग्राम पंचायतों में नए मल्टीपरपज पेक्स, डेयरी, फिशरीज समिति की स्थापना करना, विश्व की सबसे बड़ी अनाज भण्डारण योजना के अन्तर्गत अनुमोदन भिजवाना, ई-सेवाओं की बेहतर पंहुच के लिए कॉमन सेवा केन्द्र (सीएससी) के रुप में पैक्स द्वारा सेवाएं उपलब्ध करवाना पर कलक्टर ने दिशा निर्देश दिए।

साथ ही पैक्स के माध्यम से नए किसान उत्पादक संगठनों का गठन करने, पैक्स द्वारा पेट्रोल पंप रिटेल आउटलेट, एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटरशिप के लिए आवेदन करने, प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्र की स्थापना, पैक्स को फर्टिलाइजर वितरण केन्द्र के रूप में स्थापित करने, पैक्स को प्रधानमंत्री किसान समृद्धि केन्द्र के रूप में रूपांतरित करने पर चर्चा हुई

पीएम कुसुम सहित अन्य योजनाओं की समीक्षा

पैक्स को पीएम कुसुम योजनान्तर्गत रूपांतरित करने, बैंक मित्र सहकारी समितियों को माइक्रो एटीएम उपलब्ध कराने, सहकारी समितियों के सदस्य किसानों को रूपे किसान क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराने, जल जीवन मिशन हेतु समितियों का चयन करने, केन्द्र सहकारी बैंकों में आधार प्लेटफार्म स्थापित करने, सहकारी बैंकों में व्यावसायिक बैंकों की भांति बकाया ऋणों के वन टाइम सेटलमेंट योजना बनाने हेतु योग्य बनाने को लेकर दिशा-निर्देश दिए।

ऐसे ही राष्ट्रीय सहकारी निर्यात लिमिटेड की सदस्यता के संबंध में, सहकारी समितियों को आयकर अधिनिम के अन्तर्गत सरचार्ज में कमी करने, सहकारी समितियों को आयकर अधिनिम के अन्तर्गत एमएटी में कमी करने, जेम पॉर्टल पर सहकारी समितियों को ऑनबोर्ड किया जाने पर चर्चा हुई। बैठक में संयुक्त निदेशक पशुपालन, संयुक्त निदेशक कृषि, संयुक्त निदेशक मत्स्य, प्रबन्ध निदेशक केन्द्रीय सहकारी बैंक लि., प्रबन्ध निदेशक जिला दुग्ध संघ आदि उपस्थित हुए। सहकारिता विभाग के दिनेश जागिड़, कुलदीप सिंह, उदयपुर सी सी बी हितेश पांचाल, गणपत सेठी, अलकेश भाटी आदि मौजूद रहे। 

जिला कलक्टर का किया अभिनंदन

बैठक के बाद ग्राम सेवा सहकारी समितियों के व्यवस्थापकों द्वारा जिला कलक्टर डॉ भंवर लाल का मेवाड़ी पाग और उपरना ओढ़ा कर अभिनंदन किया गया। जिला कलक्टर ने आश्वस्त किया कि सहकारी समितियों को हर संभव सहयोग प्रशासन द्वारा दिया जाएगा। इस दौरान प्रबंध निदेशक आलोक चौधरी सहित अन्य मौजूद रहे।

News-शहीद दिवस पर गांधीजी को स्मरण किया गया

सेठ रंगलाल कोठारी राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, राजसमन्द में आज शहीद दिवस के अवसर पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को पुण्य श्रद्धान्जलि दी गई। 

महाविद्यालय प्राचार्य श्रीमती निर्मला मीणा ने बताया कि इस अवसर पर राष्ट्रपिता को पुष्पांजलि दी गई तथा रामधुनी और गांधीजी के प्रिय भजनों “वैष्णव जन तो तैने कहिए.......“ “सीताराम सीताराम कहिए...........“ “रघुपति राघव राजाराम..........“ आदि का गायन किया गया। तत्पश्चात् राष्ट्रपिता की पुण्य स्मृति में दो मिनट का मौन रखा गया।

कार्यक्रम में विद्यार्थियों, महाविद्यालय परिवार के साथ-साथ अजीम प्रेमजी फाउण्डेशन के मुकेश शर्मा व अभिषेक भट्ट तथा वरिष्ठ नागरिक गोवर्धन लाल सुखवाल ने भी भाग लिया। इस अवसर पर प्रो. दुर्गेश शर्मा, डॉ. उषा शर्मा, डॉ. विभा शर्मा, डॉ. महेश चन्द्र तिवारी, डॉ. अनिल कुमार कालोरिया, सुश्री खुशबू, विजेन्द्र कुमार शर्मा आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन हिन्दी विभागाध्यक्ष डॉ. उषा शर्मा ने किया।

News-गांधी सेवा सदन में शहीद दिवस पर अर्पित की श्रद्धांजलि

राजसमंद 30 जनवरी। मंगलवार को शहीद दिवस पर जिले के अलग-अलग स्थानों पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। जिला मुख्यालय पर गांधी सेवा सदन में आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में जिला प्रमुख श्रीमती रतनी देवी चौधरी, जिला कलक्टर डॉ भंवरलाल, अतिरिक्त जिला कलेक्टर राजेंद्र सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी, कर्मचारी एवं विद्यालय के छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।

कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलन कर एवं महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर की गई। विद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा हारमोनियम की धुन के साथ मधुर गायन कर शहीदों को याद किया गया जिसने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। 11 बजे सभी ने शहीदों को श्रद्धांजलि देने हेतु मौन रखा।

कलक्टर ने गांधी सेवा सदन का किया अवलोकन 

जिला कलक्टर डॉ भंवर लाल ने इस मौके पर गांधी सेवा सदन परिसर का अवलोकन किया एवं यहां संचालित गतिविधियों की जानकारी ली। इस दौरान डॉ महेंद्र कर्नावट गांधी सेवा सदन मंत्री, समाजसेवी दिनेश श्रीमाली, संयुक्त मंत्री राजकुमार दक ने उन्हें गांधी सेवा सदन परिसर एवं स्वतंत्रता सेनानी देवेंद्र कर्नावट के जीवन पर आधारित समिति कक्ष का अवलोकन कराते हुए जानकारी प्रदान की।

News-कुष्ठ रोग की रोकथाम हेतु जागरूकता रैली को जिला कलक्टर ने दिखाई हरी झंडी

राजसमंद, 30 जनवरी। जिला कलेक्टर डॉ भंवर लाल ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा कुष्ठ दिवस के मौके पर संचालित होने वाले स्पर्श अभियान का शुभारंभ रैली व माईकिंग वाहन को हरी झंडी बताकर कर किया। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ प्रकाश चन्द्र शर्मा, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी आर.के जिला चिकित्सालय डॉ रमेश रजक, त्वचा विशेषज्ञ डॉ रोहित कटारिया, उपमुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ जिनेश सैनी, प्राचार्य अशोक पुरोहित सहित संस्थान के ट्यूटर एवं नर्सिंग छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

इससे पहले जिला कलेक्टर ने सभी प्रशिक्षणार्थी छात्र-छात्राओं एवं उपस्थित लोगो को जिले को कुष्ठ मुक्त बनाने के लिये शपथ दिलाई तथा समाज में कुष्ठ रोग को लेकर फैली भ्रान्तियो एवं भेदभाव को मिटाने के लिये काम करने के लिये अपील की तथा कुष्ठ रोग से सम्बन्धित जागरूकता पोस्टर का विमोचन किया।

कार्यक्रम में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ प्रकाश चन्द्र शर्मा ने कुष्ठ रोग की जानकारी देते हुए बताया की कुष्ठ रोग के प्रारम्भिक लक्षणो में शरीर पर दाग, त्वचा पर लाल रंग के उभरे हुए सूजन वाले धब्बे, त्वचा में मटर के दाने जैसी गांठे, कान की त्वचा में गांठ, मोटापा, बाँह, कोहनी, हाथ, घुटने, पंजे की नसो में सूजन, मोटापा, झनझनाहट जैसे लक्षण प्रकट होते है।

उन्होंने बताया कि कुष्ठ बहुत की कम संक्रामक रोग है जो रोगाणुओं के कारण होता है। कुष्ठ रोग किसी भी आयु के स्त्री पुरुष या बच्चों को हो सकता है। कुष्ठ रोग का उपचार सभी सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों एवं अस्पतालों में निःशुल्क किया जाता है। इसलिये हमे लोगो को जागरूक करके उन्हे सजग करना है जिससे वे लक्षणो के नजर आने पर तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर संपर्क कर उपचार शुरू करवा सके।

उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ जिनेश सैनी ने स्पर्श अभियान के बारे में जानकारी देते हुए बताया की अभियान आगामी 13 फरवरी तक संचालित होगा जिसकी थीम कलंक मिटाए, गरिमा अपनाये होगी। जिसमें जिला व खंड स्तर से गांव-ढांणी तक माईकिंग की जाएगी, स्कूलों में प्रार्थना सभा में कुष्ठ रोग के बारे में विद्यार्थियों को जानकारी दी जायेगी, राजकीय चिकित्सा संस्थानो तक कुष्ठ रोग से सम्बन्धित प्रचार प्रसार सामग्री का वितरण एवं प्रदर्शन किया जायेगा।

प्राचार्य अशोक पुरोहित ने संस्थान में अभियान के दौरान आयोजित होने वाली प्रश्नोत्तरी, पोस्टर प्रतियोगिता एवं अन्य गतिविधियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी तथा सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया।  

News-उद्यानिकी योजनाओं से अंतिम छोर तक किसानों को लाभान्वित करें – जिला कलक्टर

राजसमंद, 30 जनवरी। जिला कलक्टर डॉ भंवरलाल की अध्यक्षता में उद्यान विकास समिति की बैठक का आयोजन कलेक्ट्रेट सभागार में किया गया। बैठक में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान, पी एम कुसुम अंतर्गत कार्यक्रमों-नवीन बगीचा स्थापना, वर्मी कम्पोस्ट इकाई, सामुदायिक जल स्रोत, प्लास्टिक मल्च, लो-टनल, ग्रीन हाउस, शेडनेट हाउस व ड्रिप, मिनी स्प्रिंकलर, फव्वारा संयंत्र स्थापना एवं सौर ऊर्जा संयंत्र की समीक्षा की गई।

बैठक में उप निदेशक उद्यान डॉ रविन्द्र कुमार वर्मा ने योजनाओं की प्रगति की जानकारी दी तथा अवगत कराया कि आवंटित बजट का शत-प्रतिशत उपयोग करते हुए कृषकों को उपलब्ध बजट अनुसार अनुदान राशि का भुगतान डी.बी.टी. के माध्यम से कृषकों के बैंक खातों में प्रेषित किया जा चुका है।

शेष रहे कृषकों को बजट आंवटन उपरांत ही अनुदान राशि का भुगतान संभव होगा। जिला कलक्टर द्वारा निर्देशित किया गया कि विभागीय योजनाओं की जानकारी विभिन्न माध्यमों से अंतिम छोर के कृषक तक पहुंचाना सुनिश्चित किया जाए जिससे अधिकाधिक कृषक योजनाओं का लाभ ले सके तथा समयबद्ध तरीके से प्राप्त पत्रावलियों को निस्तारण करते हुए लक्ष्यों की शत-प्रतिशत प्राप्ति सुनिश्चित की जाए।

बैठक के दौरान संयुक्त निदेशक कृषि (वि), उप निबन्धक सहकारिता,  संयुक्त निदेशक पशुपालन विभाग, कृषि वैज्ञानिक, कृषि विज्ञान केन्द्र, सहायक निदेशक कृषि (वि) राजसमंद, नाथद्वारा, देवगढ़, प्रतिनिधि जल संसाधन विभाग, सहायक निदेशक उद्यान एवं कृषि अधिकारी उद्यान सहित अन्य विभागों के प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे।

News-फसल बीमा से जुड़ी शिकायतों का करें समयबद्ध निस्तारण, किसानों को न हो परेशानी -जिला कलक्टर

राजसमंद, 30 जनवरी। जिला कृषि विकास कार्यक्रमों के सफल क्रियान्वयन हेतु गठित जिला स्तरीय कृषि समिति, जिला स्तरीय निगरानी समिति एवं जिला मिशन कमेटी (नमसा हेतु) की बैठक का आयोजन मंगलवार सुबह कलेक्ट्रेट सभागार में जिला कलक्टर डॉ भंवर लाल की अध्यक्षता में किया गया।

संयुक्त निदेशक कृषि कैलाश मेघवंशी ने बताया कि बैठक में सर्वप्रथम वर्ष 2023-24 कृषि बजट घोषणा प्रावधानुसार क्रियाविन्त 12 मिशन कार्यक्रमों के अन्तर्गत सम्पादित गतिविधियों की प्रगति रिपोर्ट, फसल बीमा सम्बन्धित एवं नमसा अन्तर्गत कलस्टर चयन के बारे में विस्तृत जानकारी पी.पी.टी. के माध्यम से अवगत कराया गया। चर्चा उपरान्त कलक्टर द्वारा विभाग को विभिन्न योजनान्तर्गत आवंटित भौतिक एवं वित्तीय लक्ष्यों को समय पर शतप्रतिषत प्राप्त करने हेतु साथ ही अग्रिम बैठक में प्रगति (भौतिक एवं वित्तीय) कृषि उप जिलावार प्रस्तुत करने एवं फसल बीमा योजनान्तर्गत अधिक से अधिक कृषको को जोडने हेतु निर्देशित किया गया।

मेघवंशी ने बताया कि सदन की सर्वानुमति से नमसा कलस्टर चयन (राजसमन्द प्रस्ताव) का अनुमोदन किया गया। कलक्टर द्वारा कलस्टर अन्तर्गत सम्पादित की जाने वाली आवंटित गतिविधियों के लक्ष्यों को निर्धारित करने हेतु सभी जिला स्तरीय अधिकारीयों को निर्देषित किया गया। जिला स्तरीय निगरानी समिति अन्तर्गत इस वर्ष जिले में फसल बीमा कार्य सम्पादन हेतु कार्यरत कम्पनी रिलांयस जनरल इन्शोरेंस कम्पनी लिमिटेड के जिला समन्वयक द्वारा वर्ष 2023-24 खरीफ एवं रबी मौसम हेतु फसल बीमा हेतु तहसीलवार आवंटित फसलो एवं फसल बीमा दिषा-निर्देषो इत्यादि की जानकारी देते हुए सदन को अवगत कराया गया।

उप निदेशक उद्यान रविन्द्र कुमार वर्मा द्वारा उद्यान विभाग द्वारा संचालित विभिन्न गतिविधियों के बारे में अवगत कराया गया। कार्यक्रम में विभिन्न विभागों जैसे-उद्यानिकी, आत्मा, पशु पालन, सहकारीता, डेयरी, जिला उद्योग, मत्स पालन, कृषि विज्ञान केन्द्र के अधिकारियों के साथ-साथ आदान विक्रेता सहकारी समिति के प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal