Rajsamand-6 जुलाई 2024 की प्रमुख खबरे


Rajsamand-6 जुलाई 2024 की प्रमुख खबरे 

ज़िले से संबंधित खबरे पढ़े Udaipur Times पर 
 
 
News from Rajsamand
UT WhatsApp Channel Join Now

News-बाल वाहिनियों का चेकिंग अभियान जारी, शुक्रवार को बनाए नौ चालान
बच्चों की सुरक्षा के साथ कोई कोताही नहीं बरतने के निर्देश

राजसमंद। जिला कलक्टर डॉ भंवरलाल के निर्देशानुसार जिले में संचालित होने वाली बालवाहिनियों पर बालवाहिनी नियमों एवं यातायात नियमों की पालना नहीं करने के विरूद्ध कार्यवाही करने के लिए विशेष अभियान के अन्तर्गत परिवहन विभाग की टीम द्वारा 5 जुलाई को गुंजोल, राज्यावास, एमडी, धोइन्दा, केलवा एवं राजसमन्द शहरी क्षेत्र के हरिता इन्टरनेशनल स्कूल, आलोक स्कूल, ऑरेन्ज काउंटी, गांधी सेवा सदन, पेरामाउण्ट स्कूल, सेंट मीरा स्कूल, गायत्री पब्लिक स्कूल, स्मार्ट स्टडी स्कूल, विद्या निकेतन स्कूल एवं सीबीए स्कूल की लगभग 210 बालवाहिनियां की जाचे की गई। डीटीओ कल्पना शर्मा ने बताया कि कुछ स्कूलों की बालवाहिनियां के सारे दस्तावेज पूर्ण एवं बालवाहिनियां बहुत अच्छी स्थिति में पाई गई। बालवाहिनी नियमों एवं यातायात नियमों की पालना नहीं करने वाले बालवाहिनियों के विरूद्ध मोटर वाहन अधिनियम के तहत नियमानुसार प्रवर्तन कार्यवाही करते हुए बिना परमिट, बीमा, फिटनेस के 9 चालान बनाए गए। जिला परिवहन अधिकारी डॉ. कल्पना शर्मा ने बालवाहिनी संचालको को फिटनेस, बीमा, पीयूसी, परमिट के बिना संचालन नहीं करने की हिदायत दी गई। बिना फिटनेस, बीमा, पीयूसी, परमिट के बालवाहिनी संचालन करने पर उनकी आरसी एवं परमिट रद्द करके नियमानुसार उनकी खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

News-खटामला में आयोजित रात्रि चौपाल में आई 42 शिकायतें, समाधान के निर्देश

राजसमंद। जिला कलक्टर के निर्देशन में जिले के राजसमंद उपखंड के खटामला में रात्रि चौपाल का आयोजन किया गया। इस चौपाल में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हनुमान सिंह राठौड़ और राजसमंद उपखंड अधिकारी अर्चना बुगालिया ने समस्याओं को सुना। रात्रि चौपाल के दौरान आमजन की समस्याओं को सुना गया और मौके पर ही उनके निस्तारण के प्रयास किए गए।

रात्रि चौपाल में कुल 42 शिकायतें प्राप्त हुईं, जो विभिन्न विषयों से संबंधित थीं। जिन शिकायतों का मौके पर ही समाधान संभव था, उनका तुरंत समाधान किया गया। शेष शिकायतों के निस्तारण के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए। रात्रि चौपाल में अतिक्रमण हटाने, पेयजल सप्लाई, विद्युत सप्लाई, साफ सफाई, नाली निर्माण, सड़क की मरम्मत, राजस्व विवाद आदि संबंधी शिकायतें आई।

सीईओ राठौड़ ने बताया कि रात्रि चौपाल का आयोजन ग्रामीण क्षेत्रों में प्रशासन और जनता के बीच सीधा संवाद स्थापित करने का एक प्रभावी माध्यम है।  ग्रामीण जनता की समस्याओं को तुरंत सुनकर उनका निस्तारण किया जाता है, जिससे उनकी समस्याओं का शीघ्र समाधान होता है। ऐसे कार्यक्रमों से प्रशासन और जनता के बीच विश्वास और पारदर्शिता बढ़ती है। ग्रामीण क्षेत्रों के लोग अपने मुद्दों को सीधे उच्च अधिकारियों के समक्ष रख सकते हैं, जिससे उन्हें अपनी समस्याओं को बेहतर ढंग से प्रस्तुत करने का अवसर मिलता है। अधिकारियों को ग्रामीण जनता की वास्तविक समस्याओं का पता चलता है, जिससे वे प्राथमिकता के आधार पर उनके समाधान के लिए कदम उठा सकते हैं। रात्रि चौपाल से ग्रामीण समाज में सहभागिता की भावना बढ़ती है और लोग मिलकर अपने क्षेत्र की समस्याओं का समाधान करने के लिए प्रेरित होते हैं। रात्रि चौपाल जैसे कार्यक्रम ग्रामीण विकास और प्रशासनिक सुधार के लिए महत्वपूर्ण हैं और इनके नियमित आयोजन से जनसमस्याओं का प्रभावी समाधान संभव हो सकता है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal