आयुर्वेदिक दिवस पर पीएम की विडियो कॉन्फ्रेसिंग

आयुर्वेदिक दिवस पर पीएम की विडियो कॉन्फ्रेसिंग

आयुर्वेद हमारी परंपरा

 
आयुर्वेदिक दिवस पर पीएम की विडियो कॉन्फ्रेसिंग

पीएम मोदी ने किया राजस्थान और गुजरात में दो आयुर्वेदिक संस्थानों का उद्धाटन

आज पूरा विश्व कोरोना महामारी के संक्रमण से जूझ रहा है।एक अच्छी प्रतिरक्षा प्रणाली कोविड-19 की रोकथाम के लिए बहुत जरुरी है। कोविड-19 के प्रकोप के बाद से प्रतिरक्षा बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों की उपयोग, संक्रमण को खत्म करने के लिए प्राकृतिक जीवनशैली और योग को अपनाने की चारों तरफ चर्चा रही है। आयुर्वेदिक दवाएं न केवल बीमारियों को रोकने में सक्षम है बल्कि बीमारियों के पश्चात होने वाली जटिलताओं के प्रबंधन में भी सहायक होता है।

आपको बता दें कि आज आयुर्वेद दिवस है। आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों के साथ कोरोना संक्रमण को मात देने में भी शामिल है। प्रधानमंत्री मोदी ने पांचवे आयुर्वेदक दिवस के मौके पर आयुर्वेद संस्थानों, जामनगर के आयुर्वेद अध्यापन अनुसंधान संस्थान (आईटीआरए) और जयपुर के राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान (एनआईए) का विडियो कॉनफ्रेसिंग के माध्यम से उद्धाटन किया।

इस कार्यक्रम में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी मौजूद रहे।

वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने आयुर्वेद को लेकर बात कही की है आयुर्वेद हमारी परंपरा और कोरोना काल में आयुर्वेद की परंपरा से देश को फायदा मिला है। बताया कि कोरोना काल में हल्दी समेत कई अन्य चीजों ने इम्यूनिटी बूस्टर का काम किया है।कोरोना काल में पूरी दुनिया में आयुर्वेदिक उत्पादों की मांग तेजी से बढ़ी है। वहीं दुनिया के प्रतिष्ठित मेडिकल जर्नल भी आयुर्वेद में नई आशा और उम्मीद देख रहे है। और कहा कि गर्व की बात है कि ग्लोबल सेंटर फॉर ट्रेडिशनल मेडिसन की स्थापना के लिए भारत को चुना है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal