डेटामाईन सोफ्टवेयर पर आयोजित 5 दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न

डेटामाईन सोफ्टवेयर पर आयोजित 5 दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न

प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले 93 सदस्यों को प्रमाण पत्र प्रदान किये गये

 
datamine software workshop

उदयपुर 24 फ़रवरी 2024। माईनिंग इंजीनिर्यस एसोसिएशन ऑफ इण्डिया, राजस्थान चेप्टर उदयपुर और खनन अभियांत्रिकी विभाग, सी.टी.ए.ई., उदयपुर के संयुक्त तत्वावधान में आयोजन खदान में उपयोग होने वाले डेटामाइन सोफ्टवेयर पर आयोजित 5 दिवसीय कार्यशाला आज सम्पन्न हुई।

कार्यशाला में इंजीनियरींग कॉलेज स्टुडेंट चैप्टर के छात्र-छात्राओ सहित एमईएआई के 93 सदस्यों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया। डाँ. हितांशु कौशल ने बताया कि डेटामाईन सोफ्टवेयर द्वारा खदानों में खनिज का पर्यावरण संरक्षण दृष्टि से समुचित दोहन को आधुनिक तरीके से कार्य करने जिसमे  एक्सपलोरेशन एवं जियोलॉजी से प्राप्त डाटा का उपयोग कर माईन प्लानिंग, शिड्युलिंग,3 डी ब्लॅाक मोड्यूलिंग, रिर्सोस एस्टीमेशन कर खनिजों का भण्डार का आंकलन एवं पिट ऑप्टीमाइजेशन, कटऑफ ग्रेड ऑपटिमाइजेशन, हालेज एनालिसिस, स्टोक पाइल मेनेजमेन्ट, अल्टीमेट पिट लिमिट एवं खदान के लाइफ का भी मूल्यांकन करने के अतिरिक्त ड्रिलिंग ब्लास्टींग, मॉडलिंग व ब्लास्टिंग परर्फोमेंस मे सुधार आदि का भी प्रशिक्षण दिया गया। यह प्रशिक्षण निश्चित रूप से खदान में काम करने वाले इंजीनियर्स के लिए सहायक सिद्ध होगा। समापन समारोह की अध्यक्षता एमपरयूटी के कुलपति अजित कुमार कर्नाटक ने की व विशिष्ट अतिथि सीटभ्ण्ई के डीन डॉ. पीके सिंह थे।

इस अवसर पर एमईएआई राजस्थान उदयपुर चेप्टर के अध्यक्ष मधु सूदन पालीवाल ने स्वागत करते हुए बताया कि राजस्थान चेप्टर खनन उधोग में इस तरह के आयोजन कर क्षेत्र में काम करने वाले इंजीनियर्स, स्टूडेंट एवं स्टेक होल्डर्स के तकनीकी ज्ञान, आधुनिकरण कर खानो में पर्यावरण संरक्षण एवं खनिज का समुचित दोहन में अपनी महत्ती भूमिका अदा कर रहा है। यही वजह है कि राजस्थान चैप्टर उदयपुर इस देश के अग्रणी चैप्टर्स के शीर्ष पर रहा है। आज जिस कार्यशाला का समापन किया जा रहा है इसका उद्देश्य भी खदानों में तकनीकी रूप में माइनिंग सॉफ्टवेयर के उपयोग की कमी को ध्यान में रखते हुए किया गया।

सीटीएई के खनन अभियांत्रिकी विभाग के विभागाध्यक्ष डाँ अनुपम भटनागर ने प्रशिक्षण कार्यक्रम की महता और जानकारी देते हुए आने वाले समय में खदानो में इस प्रकार के सॉफ्टवेयर का उपयोग कर माईनिंग प्रासेस को ऑप्टीमाइज किया जा सकता है। डेटामाइन सोफ्टवेयर के संजय चौधरी, टेक्नीकल सर्विस मेनेजर ने बताया कि सभी प्रतिभागियों ने प्रशिक्षण का पुर्ण रूप से ज्ञान अर्जित कर लाभ लिया है। विशिष्ट अतिथि के तौर पर डाँ. पीके सिंह ने एमईएआई को इस प्रकार के प्रशिक्षण आयोजन करने पर धन्यवाद प्रेषित किया। प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले 93 सदस्यों को प्रमाण पत्र अजित कुमार कर्नाटक द्वारा प्रदान किये गये।

इस मौके पर कर्नाटक ने कहा कि ज्ञान प्राप्त करने की कोई आयु नही होती। सीटीएई कॉलेज द्वारा वर्ष 1957 से खनन अभियात्रिकी में डिप्लोमा एवं डिग्री दी जा रही है। खदानों में खनन की प्रक्रिया को किस प्रकार ऑप्टीमाइज किया जाए जिससे कि खनिजों का सही रूप से समुचित दोहन हो सकें यही इस प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य रहा है एवं इस कार्यशाला की सफलता पर आयोजको को बधाई प्रेषित की।

इस अवसर पर आर.पी. गुप्ता, अरूण कुमार कोठारी,प्रवीण शर्मा, एन एस शक्तावत, वाई सी गुप्ता एवं डॉ एस एस राठौड़, विवेक मीणा, विक्रम सीरवी सहित एमईएआई के सदस्य उपस्थित थे। क्रार्यक्रम के कोर्स कॉडिनेटर डॉ हितांशु कौशल ने मंच का संचालन किया एवं धन्यवाद उदयश्पुर चेप्टर के सचिव आसिफ एम. अंसारीने ज्ञापित किया।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal