कोरोना से स्वस्थ होकर लौटे मीडियाकर्मी ने वेबिनार में बयां की कहानी

कोरोना से स्वस्थ होकर लौटे मीडियाकर्मी ने वेबिनार में बयां की कहानी
 

मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग की ओर से "नए दौर की पत्रकारिता और चुनोतिया- कोरोना काल के विशेष सन्दर्भ में" विषयक  दो दिवसीय वेबिनार मंगलवार को संपन्न हुआ।
 
कोरोना से स्वस्थ होकर लौटे मीडियाकर्मी ने वेबिनार में बयां की कहानी
सकारात्मक सोच और उचित दिनचर्या से महामारी पर पाया जा सकता है काबू
 

उदयपुर 9 जून 2020। मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग की ओर से "नए दौर की पत्रकारिता और चुनोतिया- कोरोना काल के विशेष सन्दर्भ में" विषयक  दो दिवसीय वेबिनार मंगलवार को संपन्न हुआ। इस वेबिनार में देश के विभिन्न भागों से विद्यार्थियों, शोध छात्रों, शिक्षकों और मीडियाकर्मियों ने भाग लिया। 

मंगलवार को समापन सत्र में कोरोना से जंग जीत कर स्वस्थ हो कर लौटे टीवी9 गुजराती के रिपोर्टर और एंकर जयेश पार्कर ने विस्तार से अपनी कहानी सुनाई। पार्कर ने कहा कि कोरोना महामारी ने निस्संदेह पूरी दुनिया को चिंता और परेशानी में डाल रखा है लेकिन उचित खान पान और सावधानी वाली दिनचर्या से इस पर आसानी से विजय प्राप्त कर सकते है।  

उन्होंने बताया कि वे रिपोर्टिंग के दौरान वे संक्रमित हो गए लेकिन शरीर पर कोई लक्षण नहीं था। अच्छी इम्यूनिटी और सकारात्मक सोच के कारण उन्होंने जल्द ही इस से निजात पा ली। बाद में घरेलू आयुर्वेदिक दवाओं से जल्द रिकवरी भी कर की। पार्कर ने कहा पत्रकार फील्ड में काम करते है इसलिए खतरा भी ज्यादा है लेकिन थोड़ी सी जागरूकता से इस संकट से निपटा जा सकता है। उन्होंने कहा कि यह रोग इतना जल्दी जाता नहीं दिखता, हम मीडियाकर्मियों को भी इसके साथ ही रहना सीखना होगा। 

उन्होंने प्रतिभागियों के सवालों का विस्तार से जवाब देते हुए कहा कि स्वस्थ होकर लौटने के बाद वे सतत जागरूकता बढ़ाने के लिए भी कार्य कर रहे है साथ ही कोरोना पॉजिटिव लोगों से फोन पर बात करके उनमे सकारात्मक ऊर्जा के संचार कर रहे है। उन्होंने कहा कि भयग्रस्त होने और पैनिक होने से भी इम्युनिटी कमज़ोर होती है इसलिए अपने आत्मविश्वास को कमज़ोर न होने दें।

इससे पूर्व सुबह के सत्र में जी न्यूज के संपादक मनोज माथुर और दैनिक भास्कर भोपाल के डिप्टी न्यूज़ एडिटर डा देवेंद्र शर्मा ने कोरोना काल में मीडिया की मौजूदा हालतों पर विस्तार से चर्चा की। माथुर ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के सर्वाधिक मामले है और मीडिया संस्थान इससे अछूते नहीं हैं। कई मीडिया संस्थानों के पूरे के पूरे भवन खाली करवाये गए है। चैनलों के प्रसारण अन्य स्थानों से हो रहे है। एंकर्स अपने घर से बुलेटिन पढ़ रहे हैं। इस से ज्यादा संकट की बात यह है कि विज्ञापन कम हो गए है और पत्रकारों की नोकरियों पर खतरा आ गया है। कहीं छंटनी हो रही है तो कहीं वेतन कम कर दिया गया है।  

डॉ शर्मा ने कहा कि कोरोना से मीडिया का डिजिटलीकरण भी पूरी ताकत से हुआ है। ना सिर्फ मीडिया बल्कि जन जीवन से जुड़ी अधिकांश गतिविधियां भी डिजिटल हो गई है। भविष्य में भी लोग पारम्परिक मीडिया की बजाय डिजिटल मीडिया को ज्यादा तरजीह देंगे। वेबिनार के आयोजन सचिव व संयोजक और पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के प्रभारी डॉ कुंजन आचार्य ने वेबिनार की संकल्पना बताते हुए विषय प्रवर्तन किया एवं अतिथि वक्ताओं का परिचय दिया।  वक्ताओं ने सवाल जवाब सत्र में प्रतिभागियों की जिज्ञासा का समाधान भी किया।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal