चिरंजीवी योजना अब 31 तक पंजीयन करवाने पर मिलेगा 1 फ़रवरी से लाभ

चिरंजीवी योजना अब 31 तक पंजीयन करवाने पर मिलेगा 1 फ़रवरी से लाभ

ज़िले में अब तक लगभग 2 लाख मरिजो को 240 करोड़ रुपये का ईलाज 1633 पैकेज के ज़रिए दिया गया हैं
 
chiranjeevi

राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में नये पंजीयन कराने को लेकर राहत दी हैं। आदेश के अनुसार अब 31 जनवरी तक पंजीयन करवाने वाले परिवार को 1 फ़रवरी से ही योजना का लाभ मिलने लगेगा। 31 जनवरी के बाद पंजीयन करवाने पर लाभ 1 मई से मिलेगा नियमों के तहत पंजीयन कराने 3 तीन महीने के बाद लाभार्थी योजना से जुड़ता है लेकिन अब इसमें सरकार ने राहत दी हैं। 

सीएमएचओं डॉक्टर शंकर बामनिया ने बताया कि उदयपुर ज़िले के 22 निजी अस्पताल एवं सभी राजकीय अस्पताल जुड़े हुए हैं। योजना से जुड़ने वालों को 10 लाख रुपया तक का नि शुल्क इलाज मिलता है वही 5 लाख तक का दुर्घटना बीमा योजना का लाभ परिवार के किसी भी सदस्य के निधन या शारीरिक अपंगता पर लाभ मिलेगा। 

ज़िले में अब तक लगभग 2 लाख मरिजो को 240 करोड़ रुपये का ईलाज 1633 पैकेज के ज़रिए दिया गया हैं। सीएमएचओ डॉ बामनिया ने बताया कि यह योजना नि:शुल्क इलाज से बढ़कर कैशलेस इलाज है। नि शुल्क इलाज योजना में पहले पैसा देना पड़ता है फिर रिफ़ंड मिलता है किन्तु इस योजना में इलाज कैशलेस हैं जिसका कोई पैसा नहीं देना पड़ता है आमजन अपना जन आधार कार्ड नंबर या जन आधार पंजीयन रसीद के माध्यम से ई मित्र या स्वयं की एसएसओ आईडी के ज़रिये से अपना पंजीयन करवाकर योजना से जुड़ सकते हैं ।

योजना के अंतर्गत सामान्य बीमारियों से लेकर हार्ट, बाईपास सर्जरी, कैंसर और डायलिसीस जैसी गंभीर बीमारियों का इलाज निशुल्क किया जाता हैं ।आमजन के हित में हार्ट, लिवर ,बोन मेरो ट्रांसप्लांट जैसे नए पैकेज भी जोड़े गए हैं। 

राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में नये पंजीयन कराने को लेकर राहत दी हैं। आदेश के अनुसार अब 31 जनवरी तक पंजीयन करवाने वाले परिवार को 1 फ़रवरी से ही योजना का लाभ मिलने लगेगा। 31 जनवरी के बाद पंजीयन करवाने पर लाभ 1 मई से मिलेगा नियमों के तहत पंजीयन कराने 3 तीन महीने के बाद लाभार्थी योजना से जुड़ता है लेकिन अब इसमें सरकार ने राहत दी हैं। 

सीएमएचओं डॉक्टर शंकर बामनिया ने बताया कि उदयपुर ज़िले के 22 निजी अस्पताल एवं सभी राजकीय अस्पताल जुड़े हुए हैं। योजना से जुड़ने वालों को 10 लाख रुपया तक का नि शुल्क इलाज मिलता है वही 5 लाख तक का दुर्घटना बीमा योजना का लाभ परिवार के किसी भी सदस्य के निधन या शारीरिक अपंगता पर लाभ मिलेगा। 

ज़िले में अब तक लगभग 2 लाख मरिजो को 240 करोड़ रुपये का ईलाज 1633 पैकेज के ज़रिए दिया गया हैं। सीएमएचओ डॉ बामनिया ने बताया कि यह योजना नि:शुल्क इलाज से बढ़कर कैशलेस इलाज है। नि शुल्क इलाज योजना में पहले पैसा देना पड़ता है फिर रिफ़ंड मिलता है किन्तु इस योजना में इलाज कैशलेस हैं जिसका कोई पैसा नहीं देना पड़ता है आमजन अपना जन आधार कार्ड नंबर या जन आधार पंजीयन रसीद के माध्यम से ई मित्र या स्वयं की एसएसओ आईडी के ज़रिये से अपना पंजीयन करवाकर योजना से जुड़ सकते हैं ।

योजना के अंतर्गत सामान्य बीमारियों से लेकर हार्ट, बाईपास सर्जरी, कैंसर और डायलिसीस जैसी गंभीर बीमारियों का इलाज निशुल्क किया जाता हैं ।आमजन के हित में हार्ट, लिवर ,बोन मेरो ट्रांसप्लांट जैसे नए पैकेज भी जोड़े गए हैं। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal

From around the web