मतगणना: आवंटित टेबल पर ही रहना होगा काउंटिंग एजेंट्स को

मतगणना: आवंटित टेबल पर ही रहना होगा काउंटिंग एजेंट्स को

अन्य टेबल पर भ्रमण करने अथवा कक्ष से बाहर जाने की नहीं मिलेगी अनुमति

 
vote counting
अनुशासन बिगाड़ने पर रिटर्निंग अधिकारी निकाल सकेंगे कक्ष से बाहर

उदयपुर 1 दिसम्बर 2023 । विधानसभा आम चुनाव- 2023 के तहत मतगणना 3 दिसम्बर को मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय आर्टस् कॉलेज परिसर में होनी है। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतगणना के दौरान गणना कक्ष में अनुशासन बनाए रखने की पूर्ण जिम्मेदारी रिटर्निंग अधिकारियों की रहेगी। रिटर्निंग अधिकारी अनुशासन बिगाड़ने का प्रयास करने पर किसी भी व्यक्ति को गणना कक्ष से बाहर निकाल सकते हैं।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि आर्टस् कॉलेज परिसर में मतगणना को लेकर विधानसभा वार पृथक-पृथक व्यवस्थाएं की गई हैं। गणना कक्ष में भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों एवं निर्धारित मापदण्डों के अनुरूप व्यवस्थाएं की जा रही हैं। मतगणना के दौरान गणना स्टाफ के अतिरिक्त प्रत्याशी, उनके चुनाव अभिकर्ता एवं गणन अभिकर्ता उपस्थित रहेंगे। उन्हें विशेष प्रवेश पत्र जारी किए जा रहे हैं। 

प्रत्याशियों के गणन अभिकर्ता की संख्या गणना कक्ष में स्थापित टेबल के अनुपात में रहेगी। प्रत्येक टेबल पर एक प्रत्याशी का एक अभिकर्ता रहेगा। इन अभिकर्ताओं को गणना प्रारंभ होने से पूर्व अपनी आवंटित टेबल पर स्थान लेना होगा। पूरी मतगणना प्रक्रिया संपन्न होने से पूर्व वे मतगणना केंद्र से बाहर नहीं जा सकेंगे और न ही स्वयं को आवंटित टेबल के अतिरिक्त अन्य टेबल पर भ्रमण कर सकेंगे। यह व्यवस्था गणना कार्य में जुटे कार्मिकों पर भी लागू रहेगी। गणना स्थल पर अनुशासन बनाए रखना होगा। अनुशासन बिगड़ने की स्थिति में रिटर्निंग अधिकारी किसी भी व्यक्ति को गणना कक्ष से बाहर निकलवाने के लिए अधिकृत हैं।

प्रत्याशी, अभिकर्ता व पर्यवेक्षक की उपस्थिति में खुलेगा स्ट्रांग रूम

मतगणना के दौरान सुरक्षा एवं पारदर्शिता को लेकर भारत निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन के अनुरूप व्यवस्थाएं की जा रही हैं। आयोग के निर्देशानुसार सभी प्रत्याशियों व चुनाव अभिकर्ताओं को मतगणना दिवस, समय व स्ट्रांग रूम खोलने की लिखित सूचना दी गई है। रिटर्निंग अधिकारी कोषाधिकारी से चाबी प्राप्त सुबह 7 बजे पर्यवेक्षक, प्रत्याशी व अभिकर्ताओं की उपस्थिति में स्ट्रांग रूम खोलेंगे। इस दौरान संपूर्ण प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी की जाएगी।

8 बजे बाद प्राप्त डाक मत पत्र नहीं होंगे गिनती में शामिल

मतगणना के दौरान सर्वप्रथम डाक मत पत्रों की गिनती की जानी है। इसके लिए डाक मत पत्र प्रकोष्ठ प्रभारी डाक मत पत्र एवं उनसे संबंधित रेकार्ड 3 दिसम्बर को सुबह 8 बजे से पूर्व मतगणना स्थल पर रिटर्निंग अधिकारी की टेबल पर पहुंचाना सुनिश्चित करेंगे। 8 बजे बाद प्राप्त होने वाले डाक मत पत्रों को गिनती में शामिल नहीं करते हुए पृथक रखा जाएगा। गणना से पूर्व ईटीपीबीएस स्केनिंग प्रणाली से डाक मत पत्रों की वैधता परखी जाएगी। निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार इस बार बुजुर्ग व दिव्यांग मतदाताओं के लिए हुई होम वोटिंग के दौरान डाले गए मतपत्रों को भी 2 दिसम्बर को अपराह्न 3 बजे तक सभी रिटर्निंग अधिकारी समुचित सुरक्षा व्यवस्था के साथ जिला मुख्यालय लाकर कोषालय लाएंगे। यहां विधानसभावार पीबी वाले ट्रंक में मिलाकर रिकार्ड अपडेट कर उसी दिन पुलिस जाब्ते के साथ मतगणना स्थल पर बने पीबी स्ट्रांग रूम में जमाकर कमरे को सील किया जाएगा। 3 दिसम्बर को सुबह 7 बजे निर्धारित प्रोटोकॉल की पालना करते हुए इस स्ट्रांग रूम को खोलकर विधानसभा वार गणना के लिए उपलब्ध कराए जाएंगे।

मीडिया सेल तक ही अनुमत रहेंगे मोबाइल

मतगणना स्थल पर सक्षम अनुमति पत्र धारक मीडियाकर्मियों तथा चिन्हित कार्मिकों को मोबाइल ले जाने की अनुमति रहेगी। हालांकि मीडियाकर्मी गणना स्थल पर पुस्तकालय भवन में स्थापित मीडिया सेल तक ही मोबाइल ले जा सकेंगे। राउण्ड वार घोषित परिणामों की सूचना मीडियाकर्मियों को मीडिया सेल में उपलब्ध कराई जाएगी।

यह रहेगी प्रवेश व्यवस्था

मतगणना स्थल पर मतगणना कार्य में नियुक्ति अधिकारियों, मतगणना कार्मिकों, प्रत्याशी, उनके चुनाव एवं गणन अभिकर्ताओं को ही प्रवेश दिया जाएगा। उनके लिए भी विशेष प्रवेश पत्र जारी किए जाएंगे। इसके अलावा उक्त सभी के प्रवेश को लेकर भी पृथक-पृथक व्यवस्था की गई हैं। आर्ट्स कॉलेज के गेट नंबर 1 से आब्जर्वर, जिला निर्वाचन अधिकारी, उप जिला निर्वाचन अधिकारी, प्रभारी अधिकारी एवं मतगणना में लगे गणना सुपरवाइजर, गणना सहायक, एमओ, आरओ, आरओ स्टाफ एवं अन्य व्यवस्थाओं में नियुक्त अधिकारी-कर्मचारी प्रवेश कर सकेंगे। जिले के गोगुन्दा, उदयपुर, मावली, झाडोल व उदयपुर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्रों के प्रत्याशी, उनके निर्वाचन अभिकर्ता एवं गणना अभिकर्ता महाविद्यालय के गेट नंबर 02 से होते हुए निर्धारित मतगणना कक्ष में प्रवेश करेंगे। इसी प्रकार विधानसभा क्षेत्र वल्लभनगर, खेरवाड़ा व सलूम्बर के प्रत्याशी एवं अभिकर्ता गेट नंबर 03 से प्रवेश कर सकेंगे।

मतगणना में आने वाले सभी कार्मिकों, प्रत्याशी, अभिकर्ताओं की मैटल डिटेक्टर से जांच की जाएगी। कोई भी व्यक्ति अपने साथ बीडी, सिगरेट, तम्बाकू, गुटखा, माचिस, सेलफोन, मोबाइल, टेपरिकार्डर, रेडियो, ट्रांजिस्टर आदि नहीं ले जा पाएगा। जिन अधिकारियों को मोबाइल रखने की अनुमति दी जाएगी, उनके प्रवेश कार्ड के पीछे सक्षम प्राधिकारी की अनुमति संबंधी मुहर लगाई जाएगी।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal