मतदाता सूचियों का प्रारूप प्रकाशन, 22 तक आपत्तियां आमंत्रित

मतदाता सूचियों का प्रारूप प्रकाशन, 22 तक आपत्तियां आमंत्रित

7 और 21 जनवरी को विशेष अभियान, राजनैतिक दल और मीडियाकर्मियों की बैठक

 
election

उदयपुर 6 जनवरी 2024 । भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मतदाता सूचियों का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम शनिवार से प्रारंभ हुआ। इसके तहत शनिवार को जिला निर्वाचन अधिकारी अरविन्द पोसवाल के निर्देशन में उप जिला निर्वाचन अधिकारी एवं एडीएम प्रशासन शैलेश सुराणा ने राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों तथा मीडियाकर्मियों की बैठक ली। इसमें मतदाता सूचियों को त्रुटिरहित बनाने में सहयोग की अपील की।

एडीएम सुराणा ने बैठक में बताया कि विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत शनिवार को मतदाता सूची का प्रारूप प्रकाशन किया गया। इसके मुताबिक उदयपुर जिले में कुल 21 लाख 85 हजार 974 मतदाता पंजीकृत हैं। आगामी 22 जनवरी तक नए नाम जोड़ने, हटाने तथा संशोधन को लेकर दावे एवं आपत्तियां आमंत्रित की जाएंगी। 2 फरवरी तक आपत्तियों का निस्तारण किया जाकर 8 फरवरी को मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन किया जाएगा। उन्होंने सभी मीडियाकर्मियों एवं राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि आमजन तक इसकी जानकारी पहुंचा कर अधिक से अधिक पात्र लोगों के नाम मतदाता सूची में जुड़वाएं तथा सूचियों को त्रुटिरहित बनाने में सहयोग करें। 

सुराणा ने राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों को बूथ स्तर पर बूथ लेवल अभिकर्ता नियुक्त कर अभियान को सफल बनाने का आह्वान किया। बैठक में भाजपा से दीपक बोल्या, शांतिलाल जैन, मनीष शर्मा, कांग्रेस से महेंद्र डामोर, हरिश भाई, आम आदमी पार्टी से मोहम्मद हनीफ, बसपा से सुरेशकुमार मेघवाल सहित प्रिंट और इलेक्ट्रोनिक मीडिया के पत्रकारगण मौजूद रहे।

7 और 21 को विशेष अभियान

एडीएम सुराणा ने बताया कि कार्यक्रम के तहत 7 जनवरी और 21 जनवरी विशेष तिथियां रहेंगी। इस दरम्यान बूथ लेवल अधिकारी संबंधित बूथ पर मौजूद रहकर आमजन से दावे एवं आपत्तियां प्राप्त करेंगे। उन्होंने स्पष्ट किया कि 7 जनवरी को आपीएससी की ओर से आयोजित प्रतियोगी परीक्षा है। ऐसे में जिन बूथों पर परीक्षा केंद्र है, वहां बूथ लेवल अधिकारी परीक्षा समाप्त होने तक बूथ के अंदर प्रविष्ट नहीं होकर उसके आसपास के स्थल पर मौजूद रहकर लोगों के आवेदन स्वीकार करेंगे।

17 वर्ष से अधिक आयु के युवा दे सकेंगे अग्रिम आवेदन

सुराणा ने बताया कि निर्वाचन विभाग ने निर्वाचक नामावली में नाम जुड़वाने के लिए साल में 4 अवसर (1 जनवरी, 1 अप्रेल, 1 जुलाई व 1 अक्टूबर) प्रदान किए हैं। मतदाता सूचियों के प्रारूप प्रकाशन की दिनांक 6 जनवरी 2024 से 17 वर्ष से अधिक आयु के ऐसे मतदाता जो अर्हता दिनांक 1 जनवरी, 1 अप्रेल, 1 जुलाई अथवा 1 अक्टूबर तक 18 वर्ष की आयु पूर्ण कर रहे हैं, उन सभी पात्र मतदाता से प्रारूप-6 में अग्रिम आवेदन प्राप्त किए जा सकेंगे। मतदाता सूची में नया नाम जोड़ने के लिए प्रारूप 6, नाम हटाने के लिए प्रारूप 7 तथा निर्वाचन क्षेत्र के भीतर एवं बाहर स्थानांतरण, निर्वाचक नामावली में दर्ज विवरणों में सुधार, ईपिक का प्रतिस्थापन एवं दिव्यांगजन का चिन्हिकरण करने के लिए प्रारूप- 8 में आवेदन किया जा सकता है। मतदाता इसके लिए संबंधित बीएलओ से संपर्क कर सकते हैं अथवा एनवीएसपी पोर्टल या वोटर हेल्पलाइन एप के माध्यम से भी आवेदन कर सकते हैं।

यह भी आए सुझाव

बैठक में राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों और मीडियाकर्मियों ने कई महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए। इसमें मुख्य रूप से वृद्धाश्रमों में निवासरत बुजुर्गों के नाम मतदाता सूची में जुड़वाना सुनिश्चित किए जाने तथा उनके लिए होम वोटिंग की सुविधा उपलब्ध कराना रहा। एडीएम ने सुझाव का स्वागत करते हुए इसके लिए यथासंभव प्रयास करने का आश्वासन दिया। साथ ही अनाथ आश्रमों में निवासरत 17 वर्ष से अधिक आयु के किशोरों के अग्रिम आवेदन प्राप्त करने का भी सुझाव आया। एडीएम ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग से ऐसे स्थलों की सूचियां प्राप्त कर विशेष प्रयास किए जाने की बात कही।

बीएलओ नहीं करें आनाकानी

बैठक में राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों ने अवगत कराया कि कुछ बीएलओ मतदाताओं की ओर से प्रपत्र 6, 7 अथवा 8 भरकर प्रस्तुत किए जाने पर आवेदन स्वीकार नहीं कर उन्हें ऑनलाइन आवेदन के लिए बाध्य करते हैं। ऑनलाइन प्रक्रिया से अवगत नहीं होने के कारण वे लोग फिर आवेदन नहीं कर पाते। इस पर एडीएम सुराणा ने इसे गंभीरता से लेते हुए सभी बूथ लेवल अधिकारियों को ऑफलाइन आवेदन स्वीकार करने में आनाकानी नहीं करने की हिदायत दिए जाने का आश्वासन दिया। 

उन्होंने कहा कि मतदाता की ओर से ऑफलाइन आवेदन किए जाने से बीएलओ का ही काम आसान होता है, ऐसे में उन्हें आनाकानी नहीं करनी चाहिए। उन्होंने स्पष्ट किया कि भविष्य में ऐसी कोई भी शिकायत आने पर संबंधित बीएलओ के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।

यह है मतदाताओं की वर्तमान स्थिति

प्रारूप प्रकाशन के दौरान उदयपुर जिले में 21 लाख 85 हजार 974 मतदाता पंजीकृत हैं। इसमें पुरूषों की संख्या 11 लाख 11 हजार 507 तथा महिलाओं की संख्या 10 लाख 74 हजार 444 है। 23 ट्रांसजेण्डर मतदाता हैं। नाम जुड़ने, हटाने और संशोधन की प्रक्रिया के बाद 8 फरवरी को अंतिम सूची का प्रकाशन किया जाएगा।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal