नगरीय विकास कर बकाया होने पर सम्पति को किया सीज


नगरीय विकास कर बकाया होने पर सम्पति को किया सीज

नगर निगम ने की सख्त कार्रवाई

 
UMC
UT WhatsApp Channel Join Now

उदयपुर। सोमवार को नगर निगम उदयपुर द्वारा नगरीय विकास कर बकाया होने पर सख्त कार्रवाई करते हुए संपत्ति को सीज किया गया। नगर निगम आयुक्त वासुदेव मालावत ने बताया कि उदयपुर शहर में नगरीय विकास कर को लेकर निगम द्वारा अब सख्त रवैया अपनाया जाएगा। जो भी संपत्ति नगरीय विकास कर के दायरे में सम्मिलित की गई है और उनका सर्वे कर डिमांड जारी की जा चुकी है यदि उनके द्वारा अभी तक नगरीय विकास कर जमा नहीं किया गया है तो ऐसी सभी संपत्तियों को सीज करने की कार्रवाई प्रारंभ की जाएगी। 

निगम द्वारा इसी क्रम में सोमवार को कार्यवाही प्रारंभ की गई। सोमवार को प्रथम कार्यवाही राजस्व अधिकारी नितेश भटनागर द्वारा कृषि मण्डी बाहर सिद्धि विनायक कोर्पोरेशन को सीज कर की गई। सिद्धि विनायक पर नगरीय विकास कर के अंतर्गत 11,16,328/- राशी  बकाया चल रही है। उक्त कोल्ड स्टोरेज 17000 वर्ग फिर भूमी पर स्थित है। इसी तरह कृषि मंडी के बाहर ही पटेल ट्रेडर्स नामक फर्म के बकाया 12,56,236/- नगरी विकास कर को वसूली हेतु पटेल ट्रेडर्स फर्म को अधिग्रहित सीज कर दिया गया है। उक्त दोनों संपत्तियों को कई बार डिमांड नोटिस देने व व्यक्तिगत संपर्क करने पर भी कर जमा नहीं करवाया गया था। 

अवकाश के दिन भी जमा होंगी राशि

वित्तीय वर्ष 2022- 2023 समाप्ति पर होने के कारण उदयपुर के नागरिको की सुविधा को देखते हुए नगरीय विकास कर राशि जमा करने के लिए नगर निगम कार्यालय मे कैश काउंटर संख्या 12 A ग्राउण्ड फलोर पर एवम U.D. Tax का कमरा संख्या 62 सार्वजनिक अवकाश दिनांक 30/03/2023 गुरूवार को भी खुला रहेगा। शहर वासी अपना नगरीय विकास कर 31 मार्च से पहले अवश्य रूप से जमा करवाए। अन्यथा उनकी संपत्ति को निगम द्वारा सीज किया जाएगा। समय पर अपनी राशि जमा करवाकर शहर वासी नियमानुसार ब्याज पैनल्टी में छूट एवं महिला करदाताओं के लिए लागू छूट का लाभ उठाए ।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal