चित्तौड़गढ़-पहुंना में हुई घटना को लेकर पुलिस अधीक्षक ने की शांति की अपील

चित्तौड़गढ़-पहुंना में हुई घटना को लेकर पुलिस अधीक्षक ने की शांति की अपील

18 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया, पुलिस ने बीएसएफ के साथ किया रूट मार्च

 
pahuna

चित्तौड़गढ़ 21 मार्च 2024। मंगलवार को राशमी थाना क्षेत्र के पहुंना में फ़ाग महोत्सव पर निकले बेवाण (जुलूस) के दौरान दो समुदायों के बीच उपजे विवाद व पत्थरबाजी के मामले में पुलिस ने 18 लोगों को गिरफ्तार कर लिया हैं। मौके पर अतिरिक्त पुलिस बल लगाया जाकर गश्त व निगरानी रखी जा रही है। पहुना में कानून एवं शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए पुलिस ने बीएसएफ के साथ रूट मार्च निकाला।

पुलिस अधीक्षक सुधीर जोशी ने बताया कि में राशमी थाने के पहुना कस्बे में फागोत्सव पर जुलूस निकाले जाने के मौके पर दो समुदायों के बीच विवाद उत्पन्न होने व पत्थरबाजी होने से जुलूस के साथ उपस्थित पुलिस चौकी पहुंना के जाब्ते द्वारा स्थिति को नियंत्रण करने का प्रयास किया जा रहा था लेकिन दोनों समुदाय के व्यक्ति आपस में भिड़ गये। जिसकी सूचना थाना राशमी पर प्राप्त होने पर थानाधिकारी राशमी व वृताधिकारी गंगरार मय पुलिस जाब्ते के मौके पर पहुंच समझाईश की गई। समझाईश के दौरान भी उग्र हो रहे 18 उपद्रवीयों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया।  

उक्त घटना की सूचना पर जिला कलक्टर चित्तौडगढ आलोक रंजन, पुलिस अधीक्षक सुधीर जोशी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चित्तौडगढ परबत सिंह, उपखण्ड अधिकारी कपासन, वृताधिकारी कपासन सहीत प्रशासनिक व पुलिस अधीकारियों द्वारा भी मौके पर पहुंच दोनों समुदाय के मौतबिर लोगो से समझाईश की गई। 

कस्बे में कानून एवं शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के लिए एएसपी परबत सिंह, एएसपी रावतभाटा भगवत सिंह सहित पुलिस व बीएसएफ के अधिकारियों व जवानों ने रूट मार्च किया। मौके पर अतिरिक्त पुलिस बल लगाया जाकर गश्त व निगरानी रखी जा रही है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal