महिला चलाएंगी ई-रिक्शा, स्पीड बोट्स पर लगे अंकुश


महिला चलाएंगी ई-रिक्शा, स्पीड बोट्स पर लगे अंकुश

जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में दुर्घटनाओं को रोकने और सुचारू आवागमन के लिए कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए

 
road saefty
UT WhatsApp Channel Join Now

उदयपुर 11 फरवरी 2023। जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक शनिवार को जिला कलक्टर ताराचंद मीणा की अध्यक्षता व जिला पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा की मौजूदगी में कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित हुई। बैठक में दुर्घटनाओं को रोकने सहित सुचारू आवागमन की व्यवस्थाओं सहित कई महत्वपूर्ण विषयों पर निर्णय लिए गए। सदस्य सचिव व पीडब्ल्यूडी एसई अशोक शर्मा ने गत बैठक की अनुवर्ती कार्यवाही सहित बैठक एजेंडा प्रस्तुत किया।

पार्किंग का उपयोग हो, आवश्यकता हो तो बताएं

कलक्टर मीणा ने शहर में तैयार की गई समस्त पार्किंग का शत प्रतिशत उपयोग करने के निर्देश दिए और कहा कि किसी भी स्थान पर अगर नई पार्किंग तैयार करने की जरूरत है तो उसके लिए भी संबंधित अधिकारी प्रस्तावित करें। कलक्टर ने वॉल सिटी के लिए नगर निगम द्वारा प्रस्तावित ग्रीन मोबिलिटी जोन प्रोग्राम के लिए उप समिति बनाने के निर्देश दिए वहीं आगामी बैठक से पहले इस समिति को अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा।

महिला चलाएंगी ई-रिक्शा, स्पीड बोट्स पर लगे अंकुश

बैठक के दौरान जिला कलक्टर मीणा ने शहर में महिलाओं के माध्यम से ई-रिक्शा संचालित करने के प्रस्ताव का अनुमोदन करते हुए कहा कि वर्तमान में 25 ई-रिक्शा संचालित किए जावें जिन्हें संबंधित महिलाओं को निःशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने शत प्रतिशत ई-रिक्शा के संचालन सुनिश्चित करने के लिए संबंधित अधिकारियों को पाबंद किया। इसी तरह कलक्टर ने झीलों में पक्षियों व जलीय जीवों के हित में स्पीड बोट्स पर अंकुश लगाने तथा बोट्स में चलने वाले रेस्टोरेंट्स को प्रतिबंधित करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने आगामी टेंडर में देवाली छोर पर जेटी स्थापित करते हुए ही बोट्स को अनुमति देने की पालना करने को कहा वहीं शहर के समीप आवागमन वाले वन क्षेत्रों में स्ट्रीट लाईट्स इत्यादि की व्यवस्था के लिए वन विभाग के माध्यम से कार्य करवाने के भी निर्देश दिए गए।

सड़क दुर्घटनाओं को रोकने प्रभावी कार्यवाही का सुझाव

बैठक में जिला पुलिस अधीक्षक एक्सीडेंट जोन बने झाड़ोल स्टेट हाईवे पर दुर्घटनाओं को रोकने पुख्ता उपाय करने की बात कही और बताया कि जो उपाय तात्कालिक राहत दें उन पर विशेष फोकस किया जाए। उन्होंने सड़क पर ब्लैक स्पॉट चिन्हित करने और वाहनों की गति को नियंत्रित करने के उद्देश्य से स्थान-स्थान पर अलग-अलग प्रकार के अवरोध यथा यलो लाईट, डेंट आदि स्थापित करने के निर्देश दिए। उन्होंने हाईवे पर सड़क निर्माण संबंधित खामियों को दूर करने के बारे में भी सुझाव दिए।

इन विषयों पर भी हुई चर्चा 

बैठक में सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए ब्लेक स्पोट सुधार, भट्टजी की बाड़ी, कलक्टर निवास के सामने अवैध अतिक्रमण हटाने, हाइवे पर आवारा पशुओं के कारण होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने हेतु टोल नाकों को पाबंद करने, हेलमेट उपयोग का प्रचार प्रसार करने, रात्रि में आतिशबाजी व लाईटिंग से होने वाले प्रदूषण को रोकने, ट्राफिक लाईट में सुधार करने, शहर में ऑटो स्टेंड स्थापित करने, मुख्यमंत्री की बजट घोषणा संबंधित कार्याें, हवाई अड्डे के समीप नेशनल हाइवे पर व्यू कटर लगाने, नगर निगम द्वारा सभी मार्गों पर बसों के संचालन करने सहित कई अन्य विषयों पर चर्चा की गई।

बैठक में एडीएम प्रभा गौतम, एसई अशोक शर्मा, नगर निगम आयुक्त वासुदेव मालावत, एएसपी मंजीत सिंह, सीएमएचओ डॉ. शंकरलाल बामनिया, डीटीओ कल्पना शर्मा, ट्रेफिक पुलिस उपाधीक्षक कुशाल चौरडि़या, यूआईटी से नीरज माथुर, नगर निगम से मुकेश पुजारी सहित संबंधित विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal