हिंदुस्तान जिंक छठे सीएसआर हैल्थ इम्पेक्ट अवार्ड 2022 से सम्मानित


हिंदुस्तान जिंक छठे सीएसआर हैल्थ इम्पेक्ट अवार्ड 2022 से सम्मानित

हिंदुस्तान जिंक को सीएसआर स्वास्थ्य अभियान श्रेणी में असाधारण प्रदर्शन के लिए मिला पुरस्कार

 
HZL
UT WhatsApp Channel Join Now

देश के एकमात्र और दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा एकीकृत जस्ता-सीसा-चांदी उत्पादक कंपनी हिंदुस्तान जिंक को नई दिल्ली में आयोजित पुरस्कार समारोह के दौरान छठे सीएसआर हैल्थ इम्पेक्ट पुरस्कार से सम्मानित किया। 

सीएसआर स्वास्थ्य अभियान श्रेणी में असाधारण प्रदर्शन के लिए कंपनी को अपनी प्रमुख सीएसआर परियोजना, खुशी आंगनवाड़ी नंदघर के लिए यह पुरस्कार प्रदान किया गया, जिससे राजस्थान के 5 जिलों उदयपुर, राजसमंद, चित्तौड़गढ़, भीलवाड़ा और अजमेर के 2,500 गांवों में 1,90,000 बच्चे लाभान्वित हुए।

इस पुरस्कार हेतु जूरी सदस्य राम बंद्योपाध्याय-आईएएस, कॉरपोरेट मामलों के पूर्व सचिव, आलोक रंजन-आईएएस, पूर्व मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश सरकार, डॉ चंद्रकांत पांडव-पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट, एस श्रीधर, मैनेजिंग डायरेक्टर फाइजर इंडिया और प्रेसिडेंट ओपीपीआई, डॉ फरहत मंटू-जनरल डायरेक्टर, एमएसएफ दक्षिण एशिया, डॉ रंजना कुमारी-निदेशक, सामाजिक अनुसंधान केंद्र मैथ्यू चेरियन-बोर्ड अध्यक्ष, केयर इंडिया, सौमिल मोदी-कंट्री हेड, जनरल मैनेजर, नोवार्टिस ऑन्कोलॉजी, इंडियाय और विजय सेठी-डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन, सस्टेनेबिलिटी इंजीलवादी थे।

समारोह के मुख्य अतिथि भारत के केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मंडाविया और सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री रामदास अठावले थे। हिन्दुस्तान जिंक की ओर से यह पुरस्कार सीएसआर विभाग के अधिकारी योगेश वर्मा एवं अंजली असीजा ने ग्रहण किया।

सीएसआर हेल्थ इम्पैक्ट अवार्ड इंटीग्रेटेड हेल्थ एंड वेलबीइंग काउंसिल की एक पहल है, जिसका उद्देश्य व्यवसायों को राष्ट्रव्यापी सीएसआर आधारित स्वास्थ्य अभियाना का नेतृत्व करने के लिए प्रेरित करना और अन्य कॉर्पोरेट को बड़े पैमाने पर शामिल होने की अपील करना है, जिससे यह अभियान और मजबूत हो सके। 

हिन्दुस्तान जिंक द्वारा खुशी अभियान के अंतर्गत आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और पूरे समुदाय पर कोविड-19 के प्रभाव का अध्ययन करने के लिए डिप स्टिक मूल्यांकन किया। कोविड 19 और उसके उपरान्त प्री-स्कूल शिक्षा की निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए, व्हाट्सएप के माध्यम से प्रीस्कूल शिक्षा सामग्री और शिक्षण शिक्षण सामग्री वाले वीडियो साझा किए। सामुदायिक जुड़ाव को मजबूत करने के लिए घर घर जाकर जागरूक किया। इसके अलावा कार्यक्रम का मुख्य फोकस ग्रामीण बच्चों की पोषण स्थिति में सुधार लाने और समुदाय के स्वास्थ्य और स्वच्छता पहलुओं को मजबूत करने पर है।

हिंदुस्तान जिंक का मानना है कि सभी का स्वास्थ्य सर्वोच्च प्राथमिकता है और सभी व्यवसायों को देश के समग्र स्वास्थ्य को बेहतर बनाने का प्रयास करना चाहिए। अपने संचालन और आम जनता के आसपास रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य और कल्याण को सुनिश्चित करने के लिए कंपनी की प्रतिबद्धता को समय समय पर सम्मानित किया गया है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal