Byju’s की अमेरिकी यूनिट ने खुद को दिवालिया घोषित करने की मांग की

Byju’s की अमेरिकी यूनिट ने खुद को दिवालिया घोषित करने की मांग की

इस कदम से कंपनी का संकट और गहरा गया है

 
byjus

उदयपुर, 3 फरवरी। भारत की एडटेक कंपनी, जो एक समय भारत के सबसे लोकप्रिय टेक स्टार्टअप्स में से एक थी। बायजू (BYJU's) के बुरे दिन खत्म होने का नाम नहीं ले रहे हैं। कभी अरबों रुपये की हैसियत रखने वाली यह कंपनी अब कर्ज के बोझ तले दब गई है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बायजू की अमेरिकी शाखा ने 1.2 बिलियन डॉलर के कर्ज में चूक के बाद दिवालियापन के लिए आवेदन किया है। भरी भरकम कर्ज के कारण कंपनी ने कई कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया।  

क्यों दिया अदालत में आवेदन

बायजूस की अल्फा यूनिट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी टिमोथी पोहल द्वारा दायर अदालती दस्तावेजों के अनुसार, अल्फा इंक के पास कर्ज के बारे में अपनी मूल कंपनी के साथ लड़ने के लिए पर्याप्त पैसा नहीं है। डेलावेयर की अमेरिकी अदालत में चैप्टर 11 की याचिका में कहा गया है कि ऋणदाताओं को बायजू के अल्फा को फंडिंग जारी रखने से पहले कंपनी को दिवालियापन दाखिल करने की आवश्यकता थी।

मूल्यांकन में भारी गिरावट

बायजू रवीन्द्रन द्वारा स्थापित एड-टेक कंपनी बायजू भारत के सबसे लोकप्रिय स्टार्टअप्स में से एक थी। इसका मूल्य 2022 में 22 बिलियन डॉलर था, लेकिन हाल ही में ऋणदाताओं ने इसके खिलाफ दिवालियापन की कार्यवाही शुरू की है। जिसके कारण कंपनी की वैल्यू पर गहरा असर हुआ। बायजू के कुछ निवेशकों ने कहा कि कंपनी का मूल्यांकन 1 बिलियन डॉलर से 3 बिलियन डॉलर के बीच कम हो गया।

कर्मचारियों को नहीं मिल रही समय पर सैलरी

फंड की कमी के कारण बायजू अपने हजारों कर्मचारियों को नौकरी से बाहर कर चुकी है। जो कर्मचारी अभी भी कार्यरत हैं उन्हें भी समय पर वेतन नहीं मिल रहा। भारी दिक्कतों से जूझ रही कंपनी के कर्मचारी वेतन नहीं मिलने के कारण परेशान हैं।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal