कौन सा राज्य भारत में इलेक्ट्रिक वाहन क्रांति में सबसे आगे बढ़ा?

कौन सा राज्य भारत में इलेक्ट्रिक वाहन क्रांति में सबसे आगे बढ़ा?

भारत में विद्युत वाहनों का 6.3% का अद्भुत प्रवेश हुआ

 
electric Vehicle 2023

NEHA SAKKA -TRUST EV

Author Introduction: It is with a sense of deep humility that I represent Jaipur Discom (Electricity Department, GoR) as the State Nodal Agency for Rolling out Electric Vehicle Charging Stations in Rajasthan. Alongside my role as an Electric Engineer at Jaipur Discom, I have had the privilege of spearheading my initiative- the TRUST EV AWARENESS OATH program. This initiative, honored with the National Excellence Education Award 2022 by the Minister of Heavy Industries, Government of India, has been instrumental in imparting knowledge to over 4000 Indian youth in various segments of the EV industry. Our efforts extend to organizing free seminars and webinars in multiple government departments, aiming to catalyze EV adoption within the state. Additionally, I humbly hold the title of the World's Prominent E-Mobility Influencer Educator in the Influencer Book of World Records.

19, फरवरी 2024। भारत के ऑटोमोटिव उद्योग में वर्ष 2023 को विद्युत वाहनों (EV) के अनूठे बढ़ावे के साथ एक महत्वपूर्ण परिवर्तन माना जा सकता है। भारत में विद्युत वाहनों का 6.3% का अद्भुत प्रवेश हुआ, पूरे साल में 15 लाख से अधिक EVs (15,29,967) बिके। सबसे अधिक बिक्री मई 2023 में हुई, जब 1.5 लाख से अधिक EVs (1,58,343) बिके, और नवंबर 2023 में 1,53,518 EVs बिके।

कौन सा राज्य भारत में इलेक्ट्रिक वाहन क्रांति में सबसे आगे बढ़ा ?

f

चंडीगढ़ इलेक्ट्रिक वाहन क्रांति में सबसे आगे बढ़ा, 2023 में बिकने वाले वाहनों में से 12.05% ईवीज़ (6,393 ईवीज़) थी जो 2022 में 5.34% ( 2,721 ईवीज़) थी। गोवा भी पीछे नहीं रहा, 2023 में 11.65% (9,471 ईवीज़) की बिक्री की, जो 2022 में 8.03% (5,688 ईवीज़) थी। । दिल्ली ने 2023 में 11.2% (73,624 ईवीज़) की बिक्री की, जो 2022 में 10.23% (62,257 ईवीज़ ) थी।

2023 में 10,000 से अधिक बिकने वाले ईवीज़ की श्रेणी में सभी राज्यों और यूनियन टेरिटरीज़ में से, दिल्ली सबसे आगे रहा। इसी श्रेणी में पिछले साल की तुलना में पश्चिम बंगाल में इलेक्ट्रिक व्हीकल की बिक्री में 92.22% की वृद्धि देखी गयी है , केरल में 90.6% और मध्य प्रदेश में 84.06% बिक्री में वृद्धि हुई है।

केरल ने 2023 में ईवीज़ की 9.99% पेनेट्रेशन दर (75,548 ईवीज़) प्रदर्शित की, यह 2022 में 5.05% की पेनेट्रेशन दर के साथ तुलना करते हुए एक महत्वपूर्ण वृद्धि है, जब 39,619 ईवीज़ बिके थे।

आसाम, 2023 में 9.3% की पेनेट्रेशन दर और 60,802 ईवीज़ की बिक्री की, जो 2022 में 7.88% की पेनेट्रेशन दर और 40,720 ईवीज़ की बिक्री के साथ तुलना में बढ़ोतरी दिखाई।

ईवी बिक्री में 1% से कम पेनेट्रेशन वाले राज्यों और यूनियन टेरिटरीज़ में हिमाचल प्रदेश ( 1,128 ईवीज़), डी एंड एन एच और डी एंड डी ( 160 ईवीज़ ), अंडमान और निकोबार (26 ईवीज़), मेघालय (114 ईवीज़ ), अरुणाचल प्रदेश (21 ईवीज़ ), नागालैंड (6 ईवीज़) शामिल हैं।

इलेक्ट्रिक 2 व्हीलर्स : 2023 में एक मिलियन यूनिट की बिक्री

d

प्राइवेट 2-व्हीलर सेक्टर में ओला इलेक्ट्रिक टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड (2.67 लाख), टी.वि.एस मोटर कंपनी लिमिटेड (1.66 लाख), और एथर एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड (1.05 लाख) प्रमुख सेलर थे जिन्होंने एक लाख से ज़्यादा ईवी की बिक्री की।

वाणिज्यिक 2 व्हीलर श्रेणी में, ओला इलेक्ट्रिक टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड (855), क्वांटम एनर्जी लिमिटेड (525), और हीरो इलेक्ट्रिक व्हीकल्स प्राइवेट लिमीटेड (159) सबसे आगे रहे।

ओला इलेक्ट्रिक टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड, टी वि एस मोटर कंपनी लिमिटेड , एथर एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड , बजाज ऑटो लिमिटेड, ओकाया ई वि प्राइवेट लिमिटेड, और Bgauss ऑटो प्राइवेट लिमिटेड की बिक्री बढ़ी है , जबकि एम्पेयर व्हीकल्स प्राइवेट लिमिटेड, ओकिनावा ऑटोटेक प्राइवेट लिमिटेड, और हीरो इलेक्ट्रिक व्हीकल्स प्राइवेट लिमीटेड की बिक्री पिछले साल की तुलना में
घटी है ।

टॉप प्लेयर्स ने 3-व्हीलर इलेक्ट्रिक मोबिलिटी में 5,85,000 यूनिटों की बिक्री की

f

2023 में इलेक्ट्रिक वाहनों के 3-व्हील सेगमेंट ने अद्भुत आंकड़े प्रस्तुत किए हैं। कुल बिक्री की संख्या 5,82,121 यूनिट थी, जिसमें प्रमुख रूप से 4,73,720 यात्री वाहन थे।

इस में सबसे अग्रणी खिलाड़ी थे YC इलेक्ट्रिक वाहन (40,655), महिंद्रा और महिंद्रा लिमिटेड (37,925), और साइरा इलेक्ट्रिक ऑटो प्राइवेट लिमिटेड (29,322)।

3-व्हीलर केटेगरी में YC इलेक्ट्रिक वाहन, महिंद्रा और महिंद्रा लिमिटेड, साइरा इलेक्ट्रिक ऑटो प्राइवेट लिमिटेड, दिल्ली इलेक्ट्रिक ऑटो प्राइवेट लिमिटेड, पियाजियो वाहन प्राइवेट लिमिटेड, मिनी मेट्रो ईवी एलएलपी, चैंपियन पॉली प्लास्ट, यूनिक इंटरनेशनल, और होटेज कॉर्पोरेशन इंडिया टॉप 10 मार्केट प्लेयर्स रहे, जिनमें महिंद्रा लास्ट माइल मोबिलिटी को छोड़कर सभी ने पिछले साल की तुलना में बिक्री में बढ़ोतरी देखी।

4-व्हीलर वाहनों ने भी इलेक्ट्रिक मोबिलिटी का स्वागत किया

s

2023 में, ऑटोमोटिव क्षेत्र ने 4-पहिया इलेक्ट्रिक वाहन डोमेन में कुल 72,757 इकाइयों की बिक्री के साथ एक आदर्श बदलाव का खुलासा किया है। यह प्रगति प्रभावशाली है और हमें उम्मीद है कि इससे वाहनों के उपयोग में सकारात्मक परिवर्तनों का प्रमाण भी देखने को मिलेगा।

4- व्हीलर इलेक्ट्रिक व्हीकल की के श्रेणी में सबसे ज्यादा गाड़ियाँ बेचने वाली कंपनी टाटा पैसेंजर इलेक्ट्रिक मोबिलिटी लिमिटेड रही। उन्हें 33,437 इकाइयाँ बेची। उनके बाद टाटा मोटर्स पैसेंजर वाहन लिमिटेड (17,864), फिर एमजी मोटर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (9,275), और फिर महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड (4,148) इस केटेगरी में टॉप मार्किट प्लेयर्स रहे 2020 की तुलना में, अब 2 व्हीलर्स और 3 व्हीलर्स एक सामन्य यातायात बन गए हैं।

2500 से अधिक इलेक्ट्रिक बसेस 

f

इलेक्ट्रिक व्हीकल की तरक्की के अंदर से एक अद्भुत बढ़ोतरी आई है, जिसमें 2,592 इलेक्ट्रिक बसें और अनेक लोगों के वाहन शहरी यातायात में उपयोग हो रहे हैं। इस परिवर्तन को 288 माध्यम और 2,298 भारी इलेक्ट्रिक वाहनों की मौजूदगी से समझा जा सकता है, जो एक सामर्थ्यवर्धक यातायात की दिशा में कदम उठा रहे हैं। पैसेंजर इलेक्ट्रिक व्हीकल की केटेगरी में टाटा मोटर्स लिमिटेड ( 1,025 यूनिट्स), ओलेक्ट्रा ग्रीनटेक लिमिटेड (327 यूनिट्स), पी एम आई इलेक्ट्रो मोबिलिटी सॉल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड( 287 यूनिट्स) टॉप 3 मार्किट प्लेयर्स रहे ।

इन्ही के साथ जेबीएम ऑटो लिमिटेड (256), मायत्राह मोबिलिटी प्राइवेट लिमिटेड (172), स्विच मोबिलिटी ऑटोमोटिव लिमिटेड (158), और वीई कमर्शियल वाहन लिमिटेड (64) ई बसेस सेलर्स में शामिल रहे अब गुड्स व्हीकल भी एलेक्ट्रीफाई होने लगे हैं। 2023 वर्ष में कूल 3000 से ज़्यदा इलेक्ट्रिक गुड्स व्हीकल देखने को मिले, जिसमे 2701 लाइट गुड्स व्हीकल थे और 304 हैवी गुड्स व्हीकल शामिल रहे हैवी गुड्स व्हीकल की श्रेणी में बीवाईडी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड शीर्ष खिलाड़ी रहे और लाइट गुड्स व्हीकल की श्रेणी में टाटा मोटर्स लिमिटेड शीर्ष खिलाड़ी रहे।

यही नहीं अब स्पेशल केटेगरी व्हीकल्स भी एलेक्ट्रीफी होते नज़र आ रहे हैं। 2023 में कूल 16 स्पेशल केटेगरी व्हीकल्स जिसमे की 6 आल टेर्रिन क्रेन्स शामिल थी। इसी के साथ साथ 8 इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर्स भी खेतो में नज़र आये, जिसमे से एस्कॉर्ट्स लिमिटेड 5 इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर्स बेचे । ईंधन की बढ़ती किमित से झूझ रहे किसानो के लिए इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर्स एक रहत का माध्यम दिखाई पड़ते हैं।

हालांकि इस समय, इलेक्ट्रिक एम्बुलेंसेस और निर्माण यंत्रणा वाहनों की अनुपस्थिति नई संभावनाओं को खोलती है, जो उद्योग को नए और परिवर्तनात्मक समाधानों की ओर प्रेरित करती है।

इलेक्ट्रिक व्हीकल पब्लिक चार्जिगं स्टेशन

f

ब्यूरो ऑफ़ एनर्जी एफिशिएंसी के मुताबिक अब तक हमारे देश में 16,271 इलेक्ट्रिक व्हीकल पब्लिक चार्जिगं स्टेशन लग चुके हैं । जिसमे की महाराष्ट्र में 3000 से अधिक चार्जिंग स्टेशन है। इसके बाद दिल्ली में 1800 और कर्नाटक में 1000 पब्लिक चार्जिगं स्टेशन लग चुके हैं । झीले की बात की जाए तो पुणे में देश भर में सबसे ज़्यदा पूक्लिक चार्जिंग स्टेशन लगे हैं जो की 1894 का आंकड़ा रखते हैं। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal