हिन्दुस्तान जिंक द्वारा जिंक उत्पादों के लिए पहला पर्यावरण घोषणा पत्र (ईपीडी) प्रकाशित

हिन्दुस्तान जिंक द्वारा जिंक उत्पादों के लिए पहला पर्यावरण घोषणा पत्र (ईपीडी) प्रकाशित

दुस्तान जिंक के ईपीडी की तुलना विश्व के अन्य निर्माताओं के ईपीडी से की जा सकती है
 
HZL

उदयपुर 24 मार्च 2023 । वेदांता समूह की कंपनी हिंदुस्तान जिंक ने अपने जिंक उत्पाद का पहला पर्यावरण उत्पाद घोषणा (ईपीडी) प्रकाशित किया है, जिससे स्थिरता, पारदर्शिता और पर्यावरण फुटप्रिन्ट को कम करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता को मजबूत किया जा सके। पर्यावरण उत्पाद घोषणा एक स्वतंत्र रूप से सत्यापित और पंजीकृत दस्तावेज है जो उत्पादों के जीवन-चक्र पर्यावरणीय प्रभाव के बारे में पारदर्शी और तुलनीय जानकारी का संचार करता है। कंपनी अपने स्थायी व्यवसाय प्रथाओं के माध्यम से हमारे हितधारकों, समुदायों और पर्यावरण के लिए दीर्घकालिक मूल्य प्रदान कर रही है।

इस अवसर पर हिंदुस्तान जिंक के सीईओ अरुण मिश्रा ने कहा कि “पर्यावरण उत्पाद घोषणा का प्रकाशन हमारे सतत विकास लक्ष्यों की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। यह हमारे मूल्यवान ग्राहकों को उनकी परियोजनाओं के लिए सर्वोत्तम सामग्री का चयन करने और सतत निर्माण के लिए विश्वव्यापी आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करेगा। हम अपने जीवन चक्र आकलन के परिणामों के आधार पर लगातार सुधार कर रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि हमारे उत्पादों के संभावित पर्यावरणीय प्रभावों को कम किया जा सके।

ईपीडी अपने उत्पादों के पूरे जीवनचक्र के दौरान पर्यावरण संबंधी प्रदर्शन पर वस्तुनिष्ठ, तुलनीय और तृतीय-पक्ष सत्यापित डेटा प्रदान करता है। हिंदुस्तान जिंक के ईपीडी की तुलना विश्व के अन्य निर्माताओं के ईपीडी से की जा सकती है, क्योंकि यह आईएसओ 14025ः2006 और ईएन 15804ः2012 ए2ः2019 मानकों का अनुपालन करता है। आईएसओ 14040 और आईएसओ 14044 मानकों के अनुरूप जिंक उत्पादों के लिए ईपीडी विकसित करने के लिए जीवन चक्र मूल्यांकन (एलसीए) अध्ययन किया गया। ईपीडी में जीवन चक्र मूल्यांकन (एलसीए) विनिर्माण, उत्पाद उपयोग और जीवन के अंत चरणों के सभी चरणों से संभावित प्रभावों पर विचार करके जिंक उत्पाद के पर्यावरणीय प्रदर्शन को मापने के लिए एक समग्र दृष्टिकोण प्रदान करता है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal