टेन्ट व्यवसायी की राजस्थान सरकार से मांग शादी समारोह में व्यक्तियों की संख्या बढ़ाए

टेन्ट व्यवसायी की राजस्थान सरकार से मांग शादी समारोह में व्यक्तियों की संख्या बढ़ाए

24 घंटे के अन्दर नहीं मानी गई तो चक्का जाम, धरना प्रर्दशन किया जाएगा

 
tent association

40 व्यक्तियों की जगह 300 व्यक्तियों की परमिशन दी जाए एवं व्यापार को टेंट, लाइट, जनरेटर, फ्लावर एण्ड कैटरिंग, हलवाई, फोटोग्राफी, डीजे, बैंड, इवेंट, ब्यूटी पार्लर आदि को पुरी तरह से खोला जाए

उदयपुर में टेन्ट व्यवसायी समिति ने शादी समारोह एंव व्यक्तियों की पाबंदी को हटाने के लिए जिला कलेक्टर को अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन दिया। टेन्ट व्यवसायी का कहना है कि हम राजस्थान सरकार से गुजारिश करते है कि शादी समारोह में समय अवधि एवं व्यक्तियों की पाबंदी को हटाया जाए इससे जुड़े सभी के व्यापार प्रभावित हो रहे है।

उदयपुर जिला टेंट व्यवसायी समिति के अध्यक्ष सुधीर चावत ने बताया की हमें संयुक्त रुप से 40 व्यक्तियों की जगह 300 व्यक्तियों की परमिशन दी जाए एवं टेंट, लाइट, जनरेटर, फ्लावर एण्ड कैटरिंग, हलवाई, फोटोग्राफी, डीजे, बैंड, इवेंट, ब्यूटी पार्लर आदि को पुरी तरह से खोला जाए। वहीं शादी समारोह में समय अवधि को रात्रि 10 बजे तक की जाए। क्योंकि अब कुछ ही सावे, मुहूर्त अनुसार शादी में शेष रह गए है बार-बार ज्ञापन देने पर भी हमारी समस्याओं का समाधान नहीं किया जा रहा है।

संपूर्ण रोजगार खोल दिए गए है परन्तु शादी से जुड़े ही व्यापारियों को सीमित गाइडलाइन के चलते काम नहीं करने दिया जा रहा है। सरकार, जिला प्रशासन द्वारा टेन्ट व्यवसायी समिति की मांगे 24 घंटे के अन्दर नहीं मानी गई तो चक्का जाम, धरना प्रर्दशन, आमरण अनशन आदि किए जाएंगे।

उदयपुर जिला टेंट व्यवसायी समिति के साथ ज्ञापन देने आये उदयपुर नगर निगम के उपमहापौर पारस सिंघवी ने भी व्यपारियो की मांग का समर्थन जताते हुए बताया की राज्य सरकार को इस दिशा में प्रयास करना चाहिए ताकि इन व्यवसाय से जुड़े लोगो को रोज़गार का खतरा न पैदा हो। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal