आत्मनिर्भर भारत के तहत् टाटा की हिन्दुस्तान जिंक के साथ ‘वोकल फाॅर लोकल‘ की पहल

आत्मनिर्भर भारत के तहत् टाटा की हिन्दुस्तान जिंक के साथ ‘वोकल फाॅर लोकल‘ की पहल

स्टील उत्पादन में जिंक की आपुर्ति हेतु टाटा और हिन्दुस्तान जिंक के बीच एमओयू

 
आत्मनिर्भर भारत के तहत् टाटा की हिन्दुस्तान जिंक के साथ ‘वोकल फाॅर लोकल‘ की पहल
इस एमओयू के तहत हिंदुस्तान जिंक, टाटा स्टील और टाटा स्टील बीएसएल (पूर्व में भूषण स्टील लिमिटेड, जिसे अब टाटा स्टील की सहायक कंपनी के रूप में जाना जाता है) को जिंक की आपूर्ति करेगा।

मुंबई, 9 नवंबर। स्टील उत्पादन में देश की शीर्ष कंपनी टाटा स्टील ने अपनी इकाइयों में उपयोग के लिए जिंक आपूर्ति हेतु महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए देश की सबसे बड़ी और विश्व की 5वीं जिंक निर्माता कंपनी हिन्दुस्तान जिंक के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर किए है। आत्मनिर्भर भारत के तहत् टाटा और हिन्दुस्तान जिंक के साथ ‘वोकल फाॅर लोकल‘ की यह पहल महत्वपूर्ण साबित होगी। 

हिन्दुस्तान जिंक हस्ताक्षरित 24 हजार टन जिंक एवं अन्य मूल्य वर्धित धातु अब तक की सर्वाधिक मात्रा हैं। इस एमओयू के तहत हिंदुस्तान जिंक, टाटा स्टील और टाटा स्टील बीएसएल (पूर्व में भूषण स्टील लिमिटेड, जिसे अब टाटा स्टील की सहायक कंपनी के रूप में जाना जाता है) को जिंक की आपूर्ति करेगा।

इस अवसर पर हिन्दुस्तान जिंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरुण मिश्रा ने कहा, आत्मनिर्भर भारत के लिए टाटा स्टील और हिन्दुस्तान जिंक का यह साझा कदम है। जहा एक ओर वैश्विक तकनीकी विशेषज्ञ आवश्यकता अनुरूप उत्पादकता और गुणवत्ता में सुधार हेतु तकनीकी सेवाएं प्रदान करता है वहीं हमारा वेण्डर इंवेट्री मैनेजमेंट टाटा स्टील की इकाइयों में इंवेट्री लागत को भी कम करेगा। यह अलौह धातु उद्योग में अपनी तरह की पहली साझेदारी मूल्य निर्माता होने और राष्ट्र निर्माण की दिशा में हमारी प्रतिबद्धता को सनिश्चित करता है।”

टाटा स्टील के लिए हिन्दुस्तान जिंक द्वारा वेण्डर मैनेजमेंट इन्वेंट्री, वीएमआई को लागू किया है जिसके तहत् विशेष ध्यान रखा जाएगा। हिन्दुस्तान जिंक के वेयरहाउस से समय और सावधानी का ध्यान रखते हुए सामग्री को अविलंब पहुंचाया जाएगा। इसके अलावा, हिंदुस्तान जिंक टाटा समूह की कंपनियों के लिए पूरे भारत में अपने सभी डिपो में स्टॉक रखेगा।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal