बहन के डूबने की झूठी रिपोर्ट करवाई थी दर्ज, बहन मिली छोटी बहन के बॉयफ्रेंड के साथ

बहन के डूबने की झूठी रिपोर्ट करवाई थी दर्ज, बहन मिली छोटी बहन के बॉयफ्रेंड के साथ 

पुलिस को गुमराह करने और राजकीय विभागों की टीमों का समय बिगड़ने के आरोप में पुलिस ने दो महिलाओं सहित 3 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया हैं 

 
crime

उदयपुर 19 अगस्त 2022 । अपने खुद की पानी में डूबने की झूठी अफवाह उड़ाकर पुलिस को गुमराह करने और राजकीय विभागों की टीमों का समय बिगड़ने के आरोप में पुलिस ने दो महिलाओं सहित 3 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया हैं और आरोपियों को शांति भंग करनेके आरोप में हिरासत में लिया हैं।

पुलिस और एसडीआरएफ की टीमें जिसकी तलाश कर रहें थे वो अपनी छोटी बहन के बॉय फ्रेंड के साथ अलीपुरा के मकान में रह रहीं थी जहां से पुलिस ने उसे बरामद कर पहले घरवालों को सौंपा फिर उसके खिलाफ मामला दर्ज किया।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कुंदन कवरियां ने बताया की 12 अगस्त को प्रार्थी भगयश्री निवासी चित्तौडगढ़ हाल वल्लभनगर ने नाई थाने में मामला दर्ज करवाया था वो अपनी 2 बड़ी बहनों शालिनी और देवश्री और देवश्री के ससुर के साथ अलसी गढ़ घूमने गई थी, तभी करीब 5-6 बजे के बीच उसकी मंझली  बहन शालिनी लघु शंका का बहाना कर गई और वापस नही लौटी, काफ़ी देर नही लौटने पर सभी ने इसको तलाश करना शुरु किया जिसपर अलसीगढ़ तालाब के किनारे उसकी चुन्नी, पर्स व चप्पल मिले। 

प्रार्थी ने उसकी बहन शालिनी का अलसीगढ़ तालाब में डूब जाने की शंका भी जाहिर की जिस पर पुलिस ने तुरंत संज्ञान लिया और एसडीआरएफ की टीम को मौके पर बुला रेस्क्यू ऑपरेशन शुरु किया, 5 दिन तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलाने के बाद भी शालिनी का कुछ पता नही चला और लगातार टीम उसे तालाब में ढूंढती रहीं। 

इसी बीच पुलिस को सूचना मिली की दरअसल प्रार्थीया और उसकी बहन शालिनी लम्बे समय से एक नितेश प्रजापत नामक व्यक्ति के संपर्क में हैं और उसकी बहन शालिनी ने घर से जाने के लिए एक प्रैंक (prank) किया था और झूठी कहानी बनाई थी और वो अपनी छोटी बहन के बॉयफ्रेंड नितेश के साथ अलसीगढ़ से मोटरसाइकल पर बैठ कर चली गई थी और तब से उसके बॉयफ्रेंड के साथ किराए के कमरे में अलीपुरा इलाके में रह रहीं थी।

जानकारी की पुष्टि करने के बाद पुलिस ने कमरे पर दबिश दें कर दोनों को वहाँ से बरामद किया। पुलिस पूछताछ में सामने आया की प्रार्थीया भाग्यश्री उसकी बहन शालिनी और उसका बॉयफ्रेंड नितेश स्कूल में साथ पड़ते थे, शालिनी की शादी होने के बाद से ससुराल में पाबन्दी होने के कारण कहीं बाहर आना जाना नही हों पता था इसी के चलते उसने दोनों के साथ मिलकर शालिनी के डूबने की योजना बनाई और फिर अलसीगढ़ तालाब पर पहुँच कर वाहन से नितेश के साथ शालिनी चली गई। नितेश रिजेंटा सेंटर पर वेटर की नौकरी करता हैं और शहर के अलीपुरा इलाके में किराए के मकान में रहता हैं।

कवरियां ने बताया की फिलहाल पुलिस ने तीनों को शांति भंग करने के आरोप में हिरासत में लिया हैं जब की पुलिस को झूठी जानकारी देकर समय बर्बाद करने के लिए अलग से मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही की जाएगी।

इस मामले में कवरिया ने लोगों से अपील की हैं की इस तरह के प्रेँक (pranks) ना करें चाहे वह पुलिस हों, चाहे मिडिया, चाहे समाज के मौतबीर लोग हों चाहें और कोई लेकिन सभी चीजों में रिसोर्स काफ़ी हद तक वेस्ट होती हैं, समय बर्बाद होता हैं, और ऐसे में असली घटनाओं पर समय पर रिसोर्स भेज पाने में खासी परीशानियों का समाना भी करना पड़ता हैं और ये रिसोर्स कहीं किसी अच्छे काम के लिए इस्तेमाल में लाई जा सकती हैं।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal