कानोड़ नगर पालिका अध्यक्ष, अध्यक्ष के पति और उपाध्यक्ष रंगे हाथो गिरफ्तार

कानोड़ नगर पालिका अध्यक्ष, अध्यक्ष के पति और उपाध्यक्ष रंगे हाथो गिरफ्तार 

ठेकेदार से 80 हजार रुपए रिश्वत चुके थे। फिर 30 हजार रुपए की और रिश्वत की डिमांड कर रहे थे।
 
kanod

उदयपुर में कानोड़ नगर पालिका के अध्यक्ष, अध्यक्ष के पति को रंगे हाथों रिश्वत लेते और उपाध्यक्ष को रिश्वत की डिमांड करते हुए एसीबी की टीम ने गुरुवार को पकड़ लिया। अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों ने अलग-अलग मामले में रिश्वत मांगी। 

अध्यक्ष चंदा मीणा और उसके पति सत्यनारायण मीणा ने ठेकेदार से नगर पालिका में कम्युटर सामग्री सप्लाई के लिए बिल भुगतान की एवज में रिश्वत मांगी थी। इसके लिए वे ठेकेदार से 80 हजार रुपए रिश्वत चुके थे। फिर 30 हजार रुपए की और रिश्वत की डिमांड कर रहे थे। शिकायत पर अजमेर एसीबी की टीम ने इन्हें रंगे हाथों 27 हजार रुपए रिश्वत लेते पकड़ लिया।

पेंट की जेब में रखते ही अध्यक्ष पति को रंगे हाथों दबोचा

जानकारी के अनुसार नगर पालिका कानोड़ में अध्यक्ष ने लेपटॉप, फोटो स्टेट मशीन और प्रिंटर आदि सामग्री की सप्लाई के बिल कुछ माह से रोके हुए थे। इन्हें पास नहीं किया जा रहा था। इसके लिए ठेकेदार से 80 हजार रुपए रिश्वत लेने के बाद 30 हजार रुपए और डिमांड की गई। शिकायत पर एसीबी की टीम ने इन्हें पकड़ने के लिए योजना बना ली। गुरुवार दोपहर को जब ठेकेदार द्वारा 30 हजार रुपए नगर पालिका अध्यक्ष चंदा मीणा की मौजूदगी में उसके पति सत्यनारायण मीणा ने ले लिए। फिर उसने ये पैसे जैसे ही अपनी पेंट में रखे तो एसीबी की टीम ने उन्हें वहीं दबोच लिया।

उपाध्यक्ष बाबेल बोला, 40 हजार से एक रुपया कम नहीं लूंगा

इधर, आरोपी उपाध्यक्ष नरेन्द्र बाबेल द्वारा नगर पालिका में बिल पास करने की एवज में कमीशन के रूप में 40 हजार रुपए मांगे गए। नरेन्द्र ने ठेकेदार को बोला कि वह 40 हजार से एक रुपया कम नहीं लेगा। ये रिश्वत नगर पालिका में सैल्फी प्वाइंट व ओपन जिम के काम के कमीशन के रूप में ली जा रही थी। यह कार्रवाई पुलिस उपमहानिरीक्षक समीर कुमार सिंह और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो एडिशनल एसपी राकेश कुमार वर्मा के निर्देशन में की गई। एसीबी टीम में निरीक्षक मीरा बेनीवाल, हैड कान्स्टेबल रामचन्द्र, युवराज सिंह और कान्स्टेबल गोविंद सहायक आदि शामिल थे।

पति से 27 हजार रुपए बरामद किए

पुलिस इंस्पेक्टर नरेश चौहान ने बताया कि अध्यक्ष ने 80 हजार रुपए पहले ले लिए और 30 हजार रुपए की फिर डिमांड करी। ऐसे में उसे 27 हजार रुपए दे दिए जो रंगे हाथों पकड़ते हुए उसके पति से बरामद किए। इसी क्रम में उपाध्यक्ष नरेन्द्र बाबेल ने ओपन जिम और सेल्फी प्वाइंट में अपने हिस्से के कमीशन की मांग की। उसने ठेकेदार को 40 हजार रुपए से एक रुपए भी कम नहीं लेने की बात कही थी। ऐसे में तीनों को डिटेन किया गया। कार्रवाई अभी जारी है।

तो वहीं दूसरी ओर नगर पालिका कानोड़ के अध्यक्ष उपाध्यक्ष ओर अध्यक्ष के पति कों एसीबी अजमेर  टीम ने 30 हज़ार कि रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया हैं।

एसीबी टीम कों शिकायत मिली थी कि शिकायत दी गई थी कि उसके द्वारा  पालिका मण्डल कानोड़ में सप्लाई की गये सामाग्री के बिल पास करने की एवज में चंदा मीणा, अध्यक्ष नगर पालिका कानोड़,  और उनके पति सत्यनारायण मीणा , (अध्यक्ष न.पा कानोड़) द्वारा 30 हजार रूपये की रिश्वत राशि मांगकर परेशान किया जा रहा है।

जिस पर एसीबी, अजमेर के उप महानिरीक्षक पुलिस  समीर कुमार सिंह के सुपरवीजन में एसीबी की अजमेर इकाई के उप अधीक्षक पुलिस  राकेश कुमार वर्मा के निर्देशन में शिकायत का सत्यापन किया जाकर रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal