Relatives staged a sit-in demonstration for not taking action by the police in the murder of the youth

युवक की हत्या- पुलिस कार्रवाई न होने पर परिजनों ने किया धरना प्रर्दशन

युवक की हत्या- पुलिस कार्रवाई न होने पर परिजनों ने किया धरना प्रर्दशन 

परिजनों ने कलेक्टर को ज्ञापन देकर इस मामले की निष्पक्ष जांच कर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की

 
a

उदयपुर के खेरोदा थाना क्षेत्र में 25 वर्ष युवक की संदिग्ध अवस्था में हुई हत्या के मामले में मृतक के परिजनों और समाज के लोगों ने पुलिस द्वारा इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाते हुए उदयपुर कलेक्ट्रेट के बाहर धरना प्रदर्शन किया और रोड जाम करने का प्रयास किया। बुधवार सुबह बड़ी मात्रा में समाज के लोग और मृतक चयन सिंह के परिवार के लोग कलेक्ट्रेट के बाहर पहुंचे उन्होंने जमकर प्रशासन और पुलिस विभाग के खिलाफ नारेबाजी की और कलेक्टर को ज्ञापन देकर इस मामले की निष्पक्ष जांच कर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है।

परिवार के लोगों का कहना है कि उनके बेटे चैन सिंह की हत्या होटल व्यवसाई द्वारा कराई गई है और उसे गाड़ी में डाल फेंक दिया गया,  इसके बाद जब थाना खेरोदा पर इस मामले की रिपोर्ट लिखाई गई तो पिछले 7 तारीख से अभी तक इस मामले में पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई।

मृतक के पिता गोपाल सिंह ने बताया कि मृतक चयन सिंह आखरी बार दिवाली पर घर आया था जिसके बाद 4 तारीख को वह अपने घर से वापस से होटल जाने के लिए निकला था लेकिन उसकी हत्या कर उसे गाड़ी में डालकर हॉस्पिटल के बाहर डाल दिया गया मृतक के पिता ने होटल मालिक पर उसके बेटे जयसिंह से अवैध गतिविधियां कराने का भी आरोप लगाया है। मृतक के पिता का आरोप है कि उसे होटल में ही मार दिया गया था और उसके बाद उसकी लाश को प्राइवेट गाड़ी में डालकर हॉस्पिटल के बाहर ले जाकर डाल दिया गया और इसकी जानकारी प्राइवेट वाहन चालक ने पूछने मृतक के परिवार वालों को बताई जिसका उनके पास ऑडियो रिकॉर्डिंग भी उपलब्ध है। मृतक के पिता गोपाल ने बताया कि उसका बेटा चयन सिंह होटल मालिक से पिछले 2 सालों से संपर्क में था और होटल मालिक उस से अवैध काम भी कराया करता था, साथ ही में चैन सिंह का सारा पैसा भी होटल मालिक ही अपने पास रखा करता था और जरूरत पड़ने पर कुछ पैसा वह अपने परिवार वालों को भेज दिया करता था।

आंसुओं से भरी आंखों से मृतक के पिता गोपाल ने न्याय की मांग की है और यह सवाल किया है कि पुलिस थाने में मामला दर्ज कराने के बावजूद अभी तक कार्रवाई क्यों नहीं हुई है और इसी को लेकर वह आज कलेक्ट्रेट के बाहर पहुंचे हैं और उनके समर्थकों ने और उनके परिवार के लोगों ने मिलकर कलेक्टर से इस मामले की निष्पक्ष जांच और आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग रखी है। वहां मौजूद उग्र भीड़ ने कलेक्ट्रेट के बाहर जमकर नारेबाजी की और रोड जाम करने का प्रयास भी किया। मौके पर मौजूद पुलिस ने उनको समझाइश कर रोड खाली करने की बात भी की लेकिन जिद पर अड़े भीड़ ने कुछ मिनटों तक सड़क को जाम कर दिया जिस पर एडिशनल एसपी सिटीजन सुशील ठाकुर थानाधकारी भोपालपुरा हनुमंत सिंह दादा और अन्य पुलिस अधिकारियों ने सड़क खाली कराई और यातायात को सुचारू किया।

ज्ञापन के माध्यम से प्रदर्शनकारियों ने कलेक्टर कों बताया कि चेन सिंह  सिसोदिया, निवासी- बिछावेडा का निवासी था उसकी दिनांक 07 नवम्बर को मेनार हाईवे चौराहा से आगे भगवती होटाल के पास भूमिका होटल है जहां पर चेन सिंह कार्यरत था की हत्या कर शव रख दिया गया। चैन सिंह नेशनल हाईवे पर स्थित ढाबों पर जो कि लादु कीर ओर उसका भतीजा राजु कीर चलाते है जिसमें एक ढाबा जो भमरासिया घाटी नायरा पेट्रोल पम्प के पास पश्चिम साईड है पुलिस थाना डबोक के अन्तर्गत आता है व दुसरा ढाबा मेनार से आगे भगवती होटल के पास भूमिका होटल नाम से है जिसे राजू कीर चलाता है। यह ढाबा पुलिस थाना खेरोदा के अन्तर्गत पड़ता है। इन दोनों ढाबों की देखभाल व भोजन चाय-पानी बनाने का चेन सिंह कार्य करता था। चेन सिंह पिछले करीब 2 वर्षों से लादू कीर व राजु कीर के सम्पर्क में होकर कई महिनों से इन्हीं दोनों के पास ढाबे पर काम करता था।

ज्ञापन में उन्होंने बताया कि चेन सिंह के पैसे नकदी सब ढाबा मालिक के पास जमा रहती थी जब भी आवश्यकता होने पर कुछ राशि दे देते थे। चेन सिंह को ढाबा मालिक मोबाईल फोन तक पास नहीं रखने देते थे, क्योंकि इन दोनों ढाबों पर अवैध मादक पदार्थ एवं अवैध चोरी की सामग्री का लेन-देन होता था। यह कि चेन सिंह इन सब अवैध गतिविधियों की जानकारी रखता था व उसकी बड़ी रकम ढाबा मालिक के पास थी। अतः कोई विवाद होने पर उसकी हत्या की जाने की पुरी संभावना है।

यह कि इन ढाबों पर पुलिस थाना डबोक और पुलिस थाना खेरोदा के पुलिसकर्मियों की मासिक बंदी होने से चेन सिंह की प्रथम दृष्टया हत्या होने पर भी मुकदमा दर्ज नहीं किया गया जिस पर पुलिस थाना खेरोदा का घेराव किया गया जिस पर वर्तमान विधायक महोदय, वल्लभनगर पूर्व विधायक रणधीर सिंह जी भीण्डर, पंचायत समिति भीण्डर के प्रधान हरिसिंह सोनीगरा, पंचायत समिति वल्लभनगर के प्रधान देवीलाल नगारची, बांसडा से पंचायत समिति भरत कुमार व्यास, किसान नेता कुबेर सिंह जी चावडा। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on  GoogleNews | WhatsApp | Telegram | Signal

From around the web