RPSC सेकंड ग्रेड भर्ती परीक्षा GK का पेपर लीक

RPSC सेकंड ग्रेड भर्ती परीक्षा GK का पेपर लीक 

ज़िले के बेकरिया थाने के बाहर एक बस से 40-45 ऐसे युवकों को पकड़ा गया है, जिनके पास पेपर मिले

 
RPSC

राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से आयोजित सीनियर टीचर (माध्यमिक शिक्षा विभाग) परीक्षा-2022 का GK का पेपर लीक हो गया। इसके चलते आज शनिवार की पहली पारी में सुबह 9 बजे से 11 बजे तक वाली परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। हालाँकि दूसरी पारी में होने वाली परीक्षा को यथावत रखा गया है। 

उदयपुर ज़िले के गोगुन्दा-पिंडवाड़ा हाईवे पर बेकरिया थाने के बाहर नाकाबंदी के दौरान एक बस से 40-45 ऐसे युवकों को पकड़ा गया है, जिनके पास पेपर मिले हैं। इनके पास मिले पेपर में ओरीजनल पेपर के सवालों से मिलते-जुलते सवाल थे ।

जानकारी के अनुसार उदयपुर डीएसटी टीम के साथ बेकरिया और अन्य थानों की पुलिस ने मिलकर ने कार्रवाई की। पुलिस ने बस में मौजूद सभी अभ्यर्थियों को हिरासत में लिया है। बेकरिया से सभी को उदयपुर के सुखेर थाने में लाया गया है, जहां उनसे पूछताछ हो रही है। अधिकांश आरोपी जालौर और सिरोही समेत अलग-अलग क्षेत्र के रहने वाले बताए जा रहे हैं। बस से पेपर के अलावा प्रिंटर समेत कुछ अन्य उपकरण भी मिले हैं।

एसपी शर्मा ने बताया कि देर रात को इनपुट मिलने के बाद से टीम को एक्टिव कर दिया था। बेकरिया थाने के बाहर बस को पकड़ा गया है। बस में युवकों के साथ कुछ युवतियां भी हैं। संख्या ज्यादा होने से पूछताछ में वक्त लग सकता हैं। बताया जा रहा कि लाखों रूपए देकर यह पेपर बस में बैठे अभ्यर्थियों ने खरीदा था।

वहीं विधानसभा मे नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने भी पेपर आउट के मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि एक बस से इतने लोगों का पकड़ा जाना बहुत बड़ी घटना हैं। यह राज्य सरकार के माथे पर नियमित कलंक है। बार-बार पेपर आउट होने से परीक्षार्थी परेशान होते है। मतलब साफ है कि कोई गैंग हैं, जो हर बार किसी न किसी रूप में पेपर बाहर ले आती हैं। राज्य सरकार को ऐसे बेरोजगार युवाओं की पीड़ा को समझना चाहिए। आखिर ऐसा क्या कारण है, जो हर बार पेपर बड़ी गैंग के पास चले जाते है। मतलब रैकेट बहुत बड़ा है। पहले भी 8 बार पेपर आउट हो चुके हैं। आज 9वीं बार पेपर आउट हुआ है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal