बच्चा चुराने वाली महिला का सहयोगी पति गिरफ्तार

बच्चा चुराने वाली महिला का सहयोगी पति गिरफ्तार 

एमबी अस्पताल से चुराया था बच्चा 

 
mb hospital

उदयपुर 2 मार्च 2024। शहर के महाराणा भूपाल गवर्नमेंट हॉस्पिटल से 24 फरवरी 2024 को एक 13 महीने की बच्ची चोरी करने के आरोप में 27 फरवरी को गिरफ्तार हुई महिला आरोपी लीला उर्फ मंजू के दूसरे पति रोशन गमेती निवासी घरेलू का गुड़ा चीरवा को उसके गुनाह को छुपाने, मंजू द्वारा बच्ची चोरी करने, अपराध को पुलिस या फिर किसी और मौतबिर को नहीं बताने और चुराई गई बच्ची को छुपाने में उसका सहयोग करने के आरोप में में हाथीपोल थाना पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया है।

पुलिस को इस मामले की जांच के दौरान यह भी जानकारी मिली है कि आरोपी महिला लीला उर्फ मंजू जिसे पुलिस को पहले यह बताया था कि उसका पहला पति मुकेश मर चुका है, वह दरअसल जिंदा है और उसके और मंजू के तीन बच्चों के साथ उसके पैतृक गांव में ही रहता है। पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए मंजू का नया पति रोशन गमेती आईपीसी की धारा 363,302 और 301 2013 में सुखेर थाने के एक मामले में सज़ायाफ्ता आरोपी हैं।

पुलिस ने आरोपी रोशन गमेती के खिलाफ आईपीसी की धारा 212 और 368 केदार मामला दर्ज कर लिया है और उसे इस घटना को लेकर पूछताछ की जा रही है।

गौरतलब हैं की 24 फरवरी 2024 मध्य प्रदेश के भोपाल से उदयपुर के एमबी अस्पताल में अपने साले का इलाज करने के लिए आए पीड़ित संदीप सराठे ने हाथीपोल थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि 23 फरवरी की रात जवाब और उसकी पत्नी हिना और उसकी छोटी बहन एमबी अस्पताल के वार्ड नंबर 113 मैं सोए हुए थे तो रात को करीब 3 से 3:30 बजे के बीच उनकी 13 महीने की बेटी अभियंशी  को किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा चुरा लिया गया है।

पीड़ित की रिपोर्ट के आधार पर हाथीपोल थाना पुलिस तुरंत एक्शन में आई और अस्पताल परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरा के फुटेज खंगाले गए तो कमरे में बताए गए समय के बीच एक महिला द्वारा बच्ची को अपने साथ ले जाते हुए देखा गया।

सीसीटीवी फुटेज को आधार बनाकर हाथीपोल थाना पुलिस की विभिन्न टीमों ने महिला की तलाश करना शुरू किया। और पुलिस ने लगातार इस मामले की जांच करते हुए बच्ची चोरी करने के आरोप में एक 35 वर्षीय महिला को 27 फरवरी को उदयपुर के चीरवा गांव के एक कमरे से गिरफ्तार कर लिया और उसी कमरे से बच्ची को भी सही सलामत बरामद कर लिया। पुलिस पूछताछ में गिरफ्तार की गई महिला जिसकी पहचान लीला उर्फ़ मंजू के रूप में हुई थी उसने चीरवा में इस कमरे में अपने नए पति रोशन गमेती के साथ रहना बताया।

साथ ही उसने पुलिस को यह भी जानकारी दी कि उसके पहले पति मुकेश की मृत्यु हो चुकी है, जिसके बाद एक डेढ़ साल से वह रोशन गमेती के संपर्क में आई और उसके साथ रहने लगी। बच्चा नहीं होने की वजह से वह अक्सर दोनों के बीच में झगड़ा हुआ करता था उसने रोशन के साथ हमेशा के लिए घर बसाने का सोचा और इसी के चलते उसने अस्पताल से बच्चा चोरी कर उसे रोशन का बच्चा बात कर उसके घर वालों से सहानुभूति हासिल करने का सोचा और 13 महीने की बच्ची अभियंशी को चुरा लिया।


 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal