Banswara News: शादीशुदा महिला को डायन बता कर पीटा, पति सहित 3 हिरासत में

Banswara News: शादीशुदा महिला को डायन बता कर पीटा, पति सहित 3 हिरासत में 

निर्वस्त्र कर लोहे की चैन से बांधा 

 
Banswara News

प्रशासन ने लिया संज्ञान 

बांसवाड़ा 21 फरवरी 2024।  राजस्थान के बांसवाड़ा ज़िले से  में एक बार फिर एक हैरान करने वाली घटना सामने आई है। जहां एक 36 वर्षीय महिला को डायन बताकर उसके पति, सास और सौतन ने निर्वस्त्र कर रात भर पिटाई की।  महिला को खाट पर जंजीरों से बांधा और उसकी जमकर मुंह पर मुक्के मारे.जब महिला के पिता को इसकी जानकारी मिली तो वह पुलिस के पास पहुंचे तो पुलिस बोली की अभी समय नहीं है कल आना। 

यह घटना बांसवाड़ा जिले के मोटागांव क्षेत्र की है जहां पर महिला को डायन कह कर उसके साथ कुकर्त्य जैसी घटना का मामला सामने आई है। महिला के पति जो पूर्व में सरपंच रहा है, उसकी सौतन जो पहली पत्नी थी और पीड़िता की सास ने डायन कह कर बुरी तरह से पिटाई की।  महिला को निर्वस्त्र कर जंजीरों से हाथ से बांधा और फिर पिटाई की। 

जब यह घटना पीड़िता के पिता को पता चली तो वह ससुराल पहुंचा और उसे छुड़ाकर अस्पताल लेकर बाद में जब घाटोल डिप्टी के ऑफिस गए तो उन्हे यह कहकर रवाना कर दिया कि अभी साहब नहीं है और कल आना..

पीड़ित महिला ने पुलिस रिपोर्ट में बताया कि 2021 में उसका नातरा विवाह हुआ था और उसके पति के पहले से एक पत्नी भी थी। महिला ने रिपोर्ट में बताया की  पिछले कुछ समय से सब कुछ अच्छा रहा और उसके दो बेटियां भी हुई। जब पहली पत्नी का बेटा बीमार हुआ तो पति उसकी सौतन और सास ने उसे डायन कहकर प्रताड़ित किया। 

महिला ने बताया कि उसका पति घर आया और उसे यह कहते हुए पकड़कर मारपीट की कि उसने बेटे पर जादू टोना कर बीमार कर दिया है और जब तक बेटे को ठीक नहीं कर देती तब तक उसे मारता रहेगा। इस दौरान उसकी पहली पत्नी और सास भी आ गये और डायन कहते हुए उस पर नींबू छिड़का और दोनों ने हाथ पकड़ कर निर्वस्त्र किया बाद में खाट पर बांधकर बुरी तरह पिटाई की।

 एसपी से शिकायत के बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया और थाना अधिकारी मौके पर पहुंचे और मामले की जाँच शुरू की, जिसके चलते पुलिस ने घटना में शामिल 3 में से 1 आरोपी को मंगलवार रात ही हिरासत में ले लिया तो वहीं 2 अन्य को पुलिस ने बुधवार शाम तक हिरासत में ले लिया जिनसे घटना को लेकर पुछताछ  की जा रही है। 

मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए संभागीय आयुक्त नीरज कुमार पवन ने कहा की सभी आरोपियों को पकड़ लिया गया है। साथ ही पीड़िता को गवर्नमेंट हॉस्पिटल एक विशेष टीम के साथ भेजा गया गया है, साथ ही इस पूरी घटना के दौरान मानसिक अवसाद से पीड़िता को बाहर निकलने के लिए मनोचिकित्सकों द्वारा उसकी काउंसिलिंग की व्यवस्था कर दी गई है।

पवन ने कहा की प्रशासन इस मामले को लेकर सभी पेहलूओं को ध्यान में रखते हुए काम कर रहा है। चाहे बात आरोपियों की गिरफ़्तारी की बात हो, चाहे पीड़िता की सेहत और इलाज की, चाहे उसको पीड़ित प्रतिकर दिलाने की बात हो या फिर आरोपियों के कड़ी कार्यवाही की बात हो कोई भी ढील नहीं बरती जाएगी, ताकि आने वाले समय में इस तरह की घटना की  पुनरावृत्ति ना हो।  
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal