इनकम टैक्स में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी में शामिल आरोपी गिरफ्तार


इनकम टैक्स में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी में शामिल आरोपी गिरफ्तार 

हनुमानगढ़ से गिरफ्तार हुआ ठगी में शामिल एक और आरोपी

 
arrest
UT WhatsApp Channel Join Now

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में नौकरी दिलाने के नाम पर हिरणमगरी सेक्टर 4 के रहने वाले व्यक्ति सवा करोड़ रुपए की ठगी करने के मामले में पुलिस ने एक और आरोपी को मंगलवार कों हनुमानगढ़ से गिरफ्तार किया। पुलिस ने उसे उसे न्यायालय में पेश किया गया, जहां से जेल भेज दिया गया।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार कुलदीप सिंह निवासी गांव सोटवारा, झुंझुनू हाल सेक्टर 4, न्यू विद्या नगर, राधा कृष्णा अपार्टमेट ने रिपोर्ट दी थी कि उसने वर्ष 2019 में बीएससी पूर्ण की। उसके बाद उसे नौकरी की आवश्यकता थी। इस दौरान उसके परिचित जगसीर गिल पुत्र जागीर सिंह निवासी रायसिंह नगर जिला गंगानगर जो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रायसिंह नगर में लैब टेक्निशियन के पद पर पदस्थापित है।

उसने नौकरी दिलाने का पूर्ण विश्वास दिलाया और काफी लड़कों को नौकरी लगाने के जॉइनिंग लेटर भी दिखाए। उसने बताया कि इनकम टैक्स विभाग में इंस्पेक्टर की नौकरी दिला सकता हैं। उसके बदले में 25 लाख रुपए लगने कि बात कही,उसके बाद जगसीर सिंह ने उसकी पहचान दिल्ली की विजय लक्ष्मी राठी से कराई। परिवादी एवं उसके चार-पांच दोस्तों द्वारा सरकारी नौकरी के नाम पर विजय लक्ष्मी राठी के कहे अनुसार पीएनबी रायसिंह नगर के बैंक खाते में व कई अन्य खातों में पृथक-पृथक 1 करोड़ 20 लाख रुपए का करीब 2 वर्षों में भुगतान किया गया। 

इस मामले में पुलिस ने आरोपी राजेश पुत्र साहबराम मेघवाल निवासी झाम्बर, हनुमानगढ़ को गिरफ्तार किया। मामले में पूर्व में पुलिस विजयलक्ष्मी पुत्र हिमताराम राठी निवासी खोखरावाली थाना समिचा कोठी, श्रीगंगानगर, द्रोपदी राठी पत्नी विजयलक्ष्मी, संदीप सिडाणा पुत्र सुरेंद्रपाल सिंह निवासी गुरु तेग बहादुर नगर, नई दिल्ली व सतगुरु सिंह पुत्र मेजर सिंह निवासी गाग लहरा जिला संगरुर को गिरफ्तार कर चुकी है। आरोपियों के खिलाफ पूर्व में भी सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी के रिकार्ड प्राप्त हुआ हैं।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal