फर्जी अभ्यार्थी से परिक्षा दिलवा बना कॉन्स्टेबल

फर्जी अभ्यार्थी से परिक्षा दिलवा बना कॉन्स्टेबल

चित्तौड़गढ़ सदर थाना पुलिस ने लिया हिरासत में

 
fake constable
बाड़मेर जिले के नागाणा थाने में पदस्थापित
 

चित्तौड़गढ़। कांस्टेबल भरती परीक्षा में फर्जीवाड़ा कर अपनी जगह किसी अन्य को बैठा कर पास हो नौकरी पाने के मामले में ज़िले की सदर थाना पुलिस ने एक कॉन्स्टेबल को गिरफ्तार किया है। 

दरअसल चित्तौड़गढ़ पुलिस की वर्ष 2015 की कॉन्स्टेबल पद पर भर्ती हुआ जालौर ज़िले के निवासी सुरेश विश्नोई ने परीक्षा में फर्जीवाड़ा कर अपनी जगह किसी अन्य को बैठा कर पास हो नौकरी हासिल की थी।

आरोपी सुरेश विश्नोई भर्ती परीक्षा में खुद नहीं बैठ अपनी जगह किसी और को बैठा कर पास हुआ था, मामले में डिप्टी एसपी बुद्धराज टांक में सदर थाने पर प्रकरण दर्ज कराया है। वर्तमान में बाड़मेर जिले के नागाणा थाने में पदस्थापित था।

चित्तौडग़ढ़ जिला पुलिस अधीक्षक राजन दुष्यन्त ने बताया कि वर्ष 2018 में कानि. भर्ती परिक्षा के बाद शारिरिक दक्षता परिक्षा के दौरान कानि. भर्ती परिक्षा में चयनित दिनेश कुमार विश्नोई का बायोमेट्रीक मिलान परिक्षा के दौरान किये गये बायोमेट्रीक अंगूठा निशानी से मिलान नही होने पर कार्यालय पुलिस अधीक्षक के कनि. लिपिक ज़ाकिर हुसैन द्वारा थाना सदर चितौडगढ पर आईपीसी की धारा 419,420,467, 468,471,120बी के तहत में मामला दर्ज कराया था।

जिसमें अभ्यार्थी जालौर के मालवाडा थाना चितलवाना निवासी दिनेश पुत्र मांगीलाल विश्नोई को गिरफतार किया गया। जिसने पुलिस पुछताछ में उसने अपने स्थान पर अपने भाई गणपत विश्नोई द्वारा परिक्षा देना बताया। जिस पर वर्ष 2020 में इस मामले के जांच अधिकारी तत्कालीन डीएसपी चित्तौड़गढ़ अमितसिंह द्वारा गणपत पुत्र मांगीलाल विश्नोई निवासी मालवाडा थाना चितलवाना जिला जालौर को गिरफतार किया गया तथा गणपतलाल एवं दिनेश कुमार से पुछताछ की गई।

पूछताछ के दौरान दोनों ने पुलिस को बताया कि इसी प्रकार फर्जी अभ्यार्थीयों से परिक्षा दिलवा कर पुलिस, जीआरपी,आरएसी और खनन विभाग आदि में 26 व्यक्ति भर्ती होकर नौकरी कर रहे है।

उन्होंने बताया को कानि. सुरेश विश्नोई के स्थान पर भी अन्य व्यक्ति द्वारा परिक्षा दी गई थी। जो वर्ष 2015 में पुलिस कानि. के पद पर भर्ती हुआ है। इस जानकारी के आधार पर जांच पुलिस उप अधीक्षक चित्तौडगढ़ द्वारा की जाकर कानि. सुरेश कुमार के विवादित हस्ताक्षरों की जांच विवादरहित हस्ताक्षरों से करवाई गई तो कानि. सुरेश कुमार के परिक्षा के दौरान किये गये हस्ताक्षरों का मिलान विवादरहित हस्ताक्षरों से नही होना पाया गया। इस प्रकार कानि. सुरेश कुमार के स्थान पर अन्य अभ्यार्थी द्वारा परिक्षा देना पाया गया है।

थानाधिकारी हरेन्द्रसिंह सिंह सौदा के निर्देशन में एएसआई अशोक कुमार, हैडकानि जगदीश, बलवन्त सिंह की एक विशेष टिम का गठन कर शनिवार को डेडवा थाना सांचोर जिला जालोर निवासी हाल कानि. 127 थाना नागाणा जिला बाडमेर को सुरेश कुमार विश्नोई को गिरफ्तार किया गया। आरोपी कॉन्स्टेबल से अग्रिम पूछताछ जारी है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal