उदयपुर में हिस्ट्रीशीटर भूपेंद्र रावल पर फायरिंग का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

उदयपुर में  हिस्ट्रीशीटर भूपेंद्र रावल पर फायरिंग का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

 
Main accused in firing on on history sheeter from udaipur bhupendra rawal was arrested by the Udaipur Police on 17 february

सूरजपोल थाने के हिस्ट्रीशीटर भूपेंद्र रावल पर फायरिंग की घटना के मुख्य आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। साजिश में शामिल, मुख्य आरोपी के भाई, भारत को भी पुलिस ने घटना के शडयंत्र में शामिल होने के मामले मैं गिरफ्तार किया हैं।

थानाधिकारी भोपालपुरा, भारत योगी ने बताया कि आरोपी विजय रावल को पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर शहर के सुखेर थाना क्षेत्र की अंबेरी इलाके के अमरक जी की पहाड़ियों से गिरफ्तार किया है। योगी ने बताया कि पुलिस जब उसका पीछा कर रही थी, तब उसने पहाड़ी से  कूद कर भागने का प्रयास किया, जिसके दौरान उसके पैर में गंभीर चोट आई।

कैसे हुई थी फ़ाइरिंग

9 फरवरी को जिम करने के बाद भूपेंद्र रावल हमेशा की तरह जिम के बाहर रोड पर पड़ी अपनी कर के पास गया, तब कुम्हरो के भट्टे की ओर से आती बाइक पर तीन युवक, क्रमश: विजय रावल व उसके दो अन्य साथी, ने पिस्तौल से भूपेंद्र को गोली मारी, जो रावल के बाएं पीर पर लगी। एक गोली कंधे पर लगी और फिर भूपेंद्र के सामने आकार गोली मारी जो उसके सीने में जा लगी।

भूपालपुरा थाना अधिकारी भरत योगी ने बताया कि मुख्य आरोपी विजय रावल से पूछताछ में अभी तक प्रथम दृष्टा यह जानकारी सामने आई की हिस्ट्रीशीटर भूपेंद्र रावल उसका चचेरा भाई है, जो मकान की बात को लेकर पूर्व में पारिवारिक झगड़े हुए थे तथा उसके बाद से भूपेंद्र रावल ने 2-3 साल पहले बापू बाजार में उसके साथियों के साथ मारपीट करवाई थी। दीपावली के समय विजय अपनी पुत्री के साथ दीपावली मेला दिखाने के बाद वापस आ रहा था तो रास्ते में उसके साथ भूपेंद्र रावल के साथियों ने मारपीट करते हुए कपड़े फाड़ दिए थे।

उसे दिन से विजय ने भूपेंद्र रावल को जान से मारने का मन बना लिया था। इसके लिए उसने अपने दोस्त रवि साहू उर्फ़ रवि मित्तल को साथ में शामिल कर साल भर पहले तीन पिस्तौल व कारतूस मांगे व गणेश चतुर्थी के दिन भूपेंद्र रावल पर फायरिंग का प्लान भी बनाया था, लेकिन सही मौका नहीं मिलने पर भूपेंद्र रावल पर फायरिंग नहीं कर पाया।

उसके बाद से ही विजय भूपेंद्र रावल पर फायरिंग करने का मौका ढूंढ रहा था। इस प्लान में अपने मौसी के लड़के करण नाथ एवं अपने दोस्त रवि मित्तल को शामिल किया और अपने बड़े भाई भारत को पूरा प्लान बताया और पिस्टल भारत के सूरजपोल स्थित ऑफिस में राखी। घटना के दिन विजय, रवि और करण नाथ, तीनों बाइक पर बैठकर फाइव टाउन क्लब जिम पहुंचे, जब उन्हें भूपेंद्र रावल की होने की सूचना मिली। जिम से बाहर निकालने पर तीनों ने भूपेन्द्र पर गोलियां छाई और फिर प्रतापनगर होते हुए निम्बाहेड़ा पहुचे ओर वहाँ से हुलिया बदलकर उज्जैन, इंदौर और हिम्मतनगर की तरफ भागे।

थाना अधिकारी ने बताया कि न्यायालय के समक्ष पुलिस कस्टडी रिमान्ड मांगा जाएगा और रिमान्ड मिलने के बाद तीनों आरोपियों से इस घटना को लेकर पूछताछ की जाएगी। साथ ही उनके द्वारा इस घटना में इस्तेमाल किए गए हथियार की बरामदगी के प्रयास भी किए जाएंगे। पुलिस ने इससे पूर्व आरोपियों के अन्य साथी करण नाथ को गिरफ्तार कर लिया है, जो कि फिलहाल पुलिस कस्टडी रिमान्ड में है और पुलिस उससे भी पूछताछ कर रही है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal