अवैध रूप से पैसा वसूलते नर्सिंगकर्मी को रंगे हाथों पकड़ा

अवैध रूप से पैसा वसूलते नर्सिंगकर्मी को रंगे हाथों पकड़ा 

अपने ही गाँव के मरीज के परिवारजन से अवैध रूप से वसूली 

 
नर्सिंगकर्मी कालू व्यास

उदयपुर - जिले के महाराणा भूपाल अस्पताल में एक नर्सिंग कर्मी को मरीज के परिजन से वसूली करते हुए पकड़ा।  दरअसल, एमबी अस्पताल में  करेड़ा निवासी पुष्पा का पिछले 15 दिनों से इलाज चल रहा है। इसी दौरान पुष्पा के पति प्रभु ने बताया कि हॉस्पिटल में उसी के गांव के एक नर्सिंगकर्मी कालू व्यास से उसकी मुलाकात हुई थी। कालू ने डॉक्टर से जान पहचान होने और अच्छा इलाज मिलने का झांसा दिया। जहाँ ऑपरेशन के नाम पर 7 हज़ार रुपये की डिमांड की।

पत्नी के अच्छे इलाज के चलते नर्सिंगकर्मी कालू की बातों में आकर प्रभु ने उसे 1000 रुपये पहले ही दे दिए थे। लेकिन बाद में नर्सिंगकर्मी कालू व्यास बाकी पैसों की मांग करते हुए धमकियां देने लगा। इसी बीच गुरूवार को मरीज के परिचारक प्रभु ने कालू को फोन कर हॉस्पिटल बुलाया और 2 हज़ार रुपये दे दिये। आसपास खड़े लोगों ने इस चौथ वसूली को समझ लिया और अवैध रूप से पैसा वसूलते नर्सिंगकर्मी को रंगे हाथों पकड़ लिया। लोगों के पूछने पर नर्सिंगकर्मी कालू व्यास ने कहा कि ये डॉक्टर साहब की फीस है जो उन्हें देनी है। लोगों के विरोध के बाद नर्सिंगकर्मी कालू ने पीड़ित से लिया सारा पैसा लौटा दिया।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि कालू व्यास की पोस्टिंग गिर्वा पंचायत समिति के टीएडी सीएचसी में है।
 

इस घटना के बाद जब सीएमएचओ दिनेश खराड़ी से बात की तब खराड़ी ने कहा की नर्सिंगकर्मी के खिलाफ जांच कमेटी बैठाई है, सख्त कार्रवाई करेंगे, फिलहाल उसे एपीओ कर दिया गया है। सीएमएचओ ने बताया कि फिलहाल लिखित में कोई शिकायत नहीं आई है। लिखित में शिकायत आएगी तो इन्क्वायरी करेंगे। पहले भी इस व्यक्ति के खिलाफ इस तरह के मामले आ चुके हैं। इस पर एक डॉक्टर ने कोर्ट केस भी किया हुआ है। वहीं टीएडी सीएचसी की इंचार्ज डॉ. मीता जायसवाल ने बताया कि कालू व्यास लैब असिस्टेंट है।


 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal