नकली सोने के बिस्किट को असली सोना का बता कर वृद्धा से लूट

नकली सोने के बिस्किट को असली सोना का बता कर वृद्धा से लूट 

महिला को झांसा देकर ठगी करने वाले 2 अभियुक्त गिरफ्तार

 
crime

उदयपुर 15 फरवरी 2022 । शहर के सूरजपोल थाना क्षेत्र में पूड़ियां तल कर गुज़ारा करने वाली वृद्धा से दो ठगो ने झांसे में लेकर नकली सोने की डली को असली सोने का बिस्किट बताकर थमा दिया और बदले में उसका असली मंगलसूत्र ले उड़े। सूरजपोल थाना पुलिस ने त्वरित कार्यवाही करते हुए दो ठगो को चंपालाल धर्मशाला से धर दबोचा। दोनों आरोपी बिहार झारखण्ड से आकर ठगी करते थे। 

दरअसल प्रार्थीया श्रीमति लक्ष्मी बाई पति श्री छगन लाल उम्र 55 वर्ष निवासी ठक्कर बाबा कॉलोनी सूरजपोल ने अपने पुत्र के साथ उपस्थित होकर रिपोर्ट दी कि वह शादी ब्याव में पूडियां बेलने का काम करती है। दिनांक 13.02.2022 को अपने घर से उदियापोल की तरफ पैदल-पैदल जा रही थी, तभी उदियापोल चौराहे पर दिन में करीब 12.00 बजे दो बुजुर्ग व्यक्ति उन्हें ले और उनमें से एक बुजुर्ग ने एक सफेद रंग के कपडे में बंधी हुई एक छोटी पोटली उसके गिराई और दुसरे बुजुर्ग ने उसे उठा कर कहा कि माता जी आप इस पोटली को हाथ लगा दो इसमें जो भी कुछ होगा, आप रख लेना तब उनके कहने से उस पोटली को हाथ लगाया, तभी उन दोनों व्यक्तियों ने वह पोटली को खोल कर देखा तो अन्दर एक गुलाबी रंग के कागज में एक सोने जैसे रंग की डली रखी हुई पाई। 

इसके बाद उन दोनों ने वृद्धा को कहा कि यह तो सोने की डली है इसे आप ही रख लो,  हमें आप 5000 रूपये दे दो तब वृद्धा ने उनसे कहा कि उनके पास पैसे  नही है तो दोने ने झांसे में लेकर गले में पहने हुये सोने का मंगलसूत्र और पेंडल ले लिया। साथ ही कसम दिलाई कि यह बात किसी को मत बताना। जब रात को करीब 11 बजे पूडियां बना कर अपने घर आई और सुबह बेटे को दिखाया ठगी का पता चला। 

सूरजपोल थानाधिकारी लाधर मालवीय ने बताया पुलिस टीम द्वारा गुप्त तंत्र से एकत्रित की गई सूचना पर चम्पालाल धर्मशाला में 12 फरवरी से रूके हुये उक्त घटना को अंजाम देने वाले बुजुर्ज ठग नवल कुमार पुत्र स्व. भूषण सहाय (लाला) उम्र 66 वर्ष निवासी नवादा, बिहार एवं अर्जुन प्रसाद पुत्र राम किशन प्रसाद उम्र 73 वर्ष निवासी लखीसराय बिहार, हाल जामताडा, (झारखण्ड ) को गिरफतार कर अभियुक्तों के कब्जे से प्रार्थीया का असली सोने का मंगलसूत्र बरामद किया गया।

पुलिस ने बताया की अभियुक्त मूल रूप से बिहार एवं झारखण्ड के रहने वाले है। स्वयं की सन्तान द्वारा कोई सहयोग नही करने से झारखण्ड व बिहार से उदयपुर आकर इस प्रकार की घटनाओ को अन्जाम देना स्वीकार किया है। अब तक की पूछताछ पर दोनो अभियुक्तों ने उक्त घटना के अलावा उदयपुर शहर में कोर्ट चौराहा के आसपास एक महिला से भी ठगी कर सोने की अंगुठी एव कान के बुन्दे ठगना स्वीकार किया है। प्रकरण में अग्रिम अनुसंधान जारी है।

पुलिस ने बताया की बिहार राज्य में पटना शहर, समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर एवं पश्चिमी बंगाल के आसपनसोल, बडाकर व झारखण्ड के रांची शहर में विगत 8-10 वर्षो से इसी प्रकार की बारदाते करना स्वीकार किया है।

पर्दाफाश करने वाली पुलिस टीम

सहायक उपनिरीक्षक गोवर्धनलाल, हेड कांस्टेबल शरीफ खान, तेजसिंह, कांस्टेबल कमलेश कुमार जाखड, कमलेश कुमार, राकेश कुमार।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal