पेपर लीक मामले में एक और गिरफ्तारी, मास्टर माइंड सारण की रिमांड अवधि बढ़ी

पेपर लीक मामले में एक और गिरफ्तारी, मास्टर माइंड सारण की रिमांड अवधि बढ़ी 

जयपुर से किया राजीव उपाध्याय को गिरफ्तार

 
Paper leak Bhupendra Saran

सुरेश ढाका और अनिल मीणा उर्फ़ शेर सिंह अभी भी फरार

उदयपुर 27 फरवरी 2023। थर्ड ग्रैड टीचर भरती परीक्षा पेपर लीक मामले में पुलिस एक और आरोपी राजीव उपाध्याय को जयपुर से गिरफ्तार किया जिसे रविवार देर रात उदयपुर लाया गया। तो वही 24 फरवरी 2023 को गिरफ्तार किये गए मामले के मास्टर माइंड भूपेंद्र सारण की रिमांड अवधि समाप्त होने पर आज सोमवार को दोनों ही आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। 

दोनों ही आरोपियों को पुलिस उप-अधीक्षक महेंद्र पारीख और पुलिस द्वारा उदयपुर कोर्ट में लाया गया, जहाँ पुलिस से दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया और कोर्ट ने दोनों में से भूपेंद्र सारण की रिमांड अवधि को बढ़ाते हुए 10 दिन कर दी, तो वहीँ आरोपी राजीव उपाध्याय को भी 4 दिन के पुलिस कस्टडी रिमांड पर भेज दिया गया। तो वहीँ इस मामले में सामने आए अनिल मीणा उर्फ़ शेर सिंह अभी भी फरार चल रहा है और पुलिस द्वारा उसकी तलाश की जा रही है। 

पुलिस उप अधीक्षक महेंद्र पारीख ने बताया की इस मामले में काफी हद तक अनुसन्धान हो चूका है और कुछ अनुसधान अभी भी बाकी है, इसको लेकर आज कोर्ट में भूपेंद्र की रिमांड अवधि  बढ़ाने की मांग की गई थी जिसपर अवधि की 10 दिन के लिए बढ़ा दिया गया, भूपेंद्र ने प्राथमिक पूछताछ में अपने एक साथी राजीव उपाध्याय का नाम बताया था और कहा था की उसने भी पेपर लीक में उसका सहयोग किया है, भूपेंद्र द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर उपाध्याय को जयपुर से गिरफ्तार किया गया है जिस से पूछताछ अभी शेष है। 

जानकारी के अनुसार गिरफतार आरोपी उपाध्याय उत्तर प्रदेश के अलीगढ का रहने वाला है और पिछले कुछ सालों से जयपुर में रहकर कंस्ट्रक्शन का काम करता है। पुलिस अब उपाध्याय की भूपेंद्र से जान पहचान होना और इस ममाले में उसकी लिप्तता के बारे में पूछताछ कर रही है। 

राजीव उपाध्याय ने भी किया था भूपेंद्र का सहयोग

जानकारी के अनुसार भूपेंद्र ने पुलिस को बताया की उसने पेपर के कुछ बंडल राजीव उपाध्याय को 19 दिसंबर 2022 को सुरेश ढाका को देने के लिए दिए थे। 

पुलिस अब इन दोनों ही आरोपियों से गहनता से पूछताछ कर रही है, तो वही फरार आरोपी अनिल मीणा उर्फ़ शेर सिंह की तलाश भी जारी है, भूपेंद्र ने पुलिस को बताया था की उसने ये पेपर अनिल मीणा जो की सरकारी स्कूल का प्रिंसिपल है उसे से 40 लाख रूपए में ख़रीदा था और मामले का अन्य मास्टर माइंड सुरेश ढाका तक पहुचाया था। 

गौरतलब है की पुलिस द्वारा दिसंबर महीने में उदयपुर में आयोजित थर्ड ग्रैड टीचर भर्ती परीक्षा के जनरल नोलेज के पेपर के कुछ घंटों पहले ज़िले के बेकरिया थाना क्षेत्र से एक बस में बैठकर पेपर सोल्व करते हुए मामले के एक मास्टर माइंड सुरेश विश्नोई सहित 44 लोगों को गिरफ्तार किया था और उसी रात को 10 अन्य लोगो को सुखेर थाना क्षेत्र की एक होटल से गिरफ्तार किया गया था। इस मामले में पुलिस ने आरोपी भूपेंद्र के सर पर 10 लाख रूपए का इनाम भी घोषित किया था, और जयपुर से उसकी पत्नी और महिला मित्र को भी गिरफतार किया जा चुका है। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal