जनजाति क्षेत्र में फ़ैल रहा महादेव ऐप का ऑनलाइन गेमिंग सट्टा

जनजाति क्षेत्र में फ़ैल रहा महादेव ऐप का ऑनलाइन गेमिंग सट्टा 

एक आरोपी गिरफ्तार 

 
mahdev app online gaming

उदयपुर और सलूम्बर दोनों ही जिलों में पुलिस इन दिनों ऑनलाइन फ्रॉड और ऑनलाइन सट्टे के खिलाफ सख्ती दिखा रही है। इसी कड़ी में एसपी सलूम्बर अरशद अली को सूचन मिल रही थी की ज़िले और आस-पास क्षेत्र में महादेव ऐप की सट्टा जाल फैल रहा है जिसमें सैकडो युवाओ को जाल में फंसा रखा है। 

लगातार मिल रही सुचना को गंभीरता से लेते हुए सलूंबर एसपी अरशद अली द्वारा विभिन्न टीमों का गठन कर इस मामले की जाँच करने के आदेश दिए। इस दौरान पुलिस को ऑनलाइन सट्टे से जुडी कई अहम् जानकारियां मिली टीम द्वारा एकत्रित सूचना के आधार पर सलूम्बर तथा उदयपुर क्षेत्र में महादेव ऐप फ्रेंचाईस चलाने वाले जुगल पटेल पुत्र जयप्रकाश उम्र 24 वर्ष निवासी पटेल नगर सलूम्बर को गिरफ्तार किया गया तथा उससे मोबाईल एवं सॉफ्टवेयर बरामद किये।

आरोपी जुगल पटेल स्वंय 19 जनवरी 2023 के सलूम्बर के एक व्यक्ति की मार्फत दुबई गया जहाँ लगभग 03 महीने महादेव ऐप का काम किया और पुरा प्रशिक्षण भी प्राप्त किया। उसके साथ दो और लड़के भी दुबई गये थे जिन्होने भी जुगल के साथ शारजाह आबुधाबी में महादेव ऐप कॉल सेन्टर से प्रशिक्षण पूर्ण रूप से प्राप्त करने के बाद तीनो व्यक्ति सलूम्बर आये और महादेव ऐप की सलूम्बर और उदयपुर क्षेत्र के फ्रेंचाईजी के कॉल सेन्टर पर काम किया उसके साथ लगभग 15 लड़के कॉल सेन्टर पर काम करते थे। उस दौरान स्वंय जुगल ने अपनी माँ के नाम का बैंक मे खाता खुलवा कर महादेव ऐप दुबई के सम्पर्को को खाता संख्या उपलब्ध करवाई। 

इस खाते के 40 दिन में लेन-देन से ज्ञात आया है कि लगभग 2 करोड़ रूपये का लेन-देन हुआ है। इसी प्रकार जुगल ने अपने एक साथी से बैंक खाता संख्या लेकर दुबई के सम्पर्कों को उपलब्ध करवाया । जब विशेष टीम ने जुगल को हिरासत में लिया तब जुगल का दुबई के व्यक्ति से लाईव सट्टा का कराबोर चल रहा था । 

वर्तमान में इस खाते में एक सप्ताह में 40 लाख का लेन-देन हुआ है। जुगल ने इसी प्रकार अन्य साथियों के खाते भी दुबई स्थित महादेव ऐप वालों को उपलब्ध करवाये है जिनमे भी करोड़ो रूपये का लेन-देन हुआ है । इन सभी का अनुसंधान किया जा रह है ।

तरीका अपराध:

सोशल मिडीया प्लेटफार्म पर बडे-बडे सेलीब्रिटी से महादेव ऐप बैटिंग का विज्ञापन दिया जाता हैं जिस पर सम्पर्क करने के लिये वाट्सअप नम्बर भी उपलब्ध कराये जाते है।

सट्टा लगाने वाले व्यक्ति उस वाट्सअप नम्बर से सम्पर्क करता है तब उसी वाट्सअप नम्बर पर महादेव ऐप विभिन्न प्रकार की बैटींग लींक का मॉड्यूल भेजा जाता है। सट्टा लगाने वाला जब उस ऐप लिंक चुनाव कर लेता है तब उसे एक खाता नम्बर भेजा जाता है जिस पर पैसा भेजने को कहा जाता है। पैसा पहुंचने के बाद दुबई से उसको कोड तथा पैसों को अनुसार अंक उपलब्ध कराये जाते है। सट्टा लगाने वाला यदि हार गया तो पैसे महादेव ऐप के खाते में चले जाते है यदि कुछ जीत गया तब उसे दुसरा मोबाईल नम्बर उपलब्ध कराया जाता है जिस पर सम्पर्क कर पैसा निकाल जा सकता है । इस लालच में हजारो युवाओ का भविष्य जाल में फंस चुका है।

फ्रेंचाइजी चलाने वाले पैसे एक खाते से दूसरे खाते में तथा दुसरे खाते से तीसरे खाते में स्थानान्तरण करता है, फिर पैसे निकाल कर हवालों के जरिये दुबई भेजा जाता है। पुलिस से बचने के लिए आजकल ये अपराधी कही जोगणिया तो कहीं लोटस तो कही महादेव एप के नाम से नेटवर्क चलाते हैं लेकिन अन्ततः सभी एक ही महादेव एप का हिस्सा हैं। इस तरह सलूम्बर एवं उदयपुर क्षेत्र में एक महिला व कुछ पुरूषो को चिन्हीत किया गया जो सीधे दुबई आते-जाते है और महादेव ऐप के मालिको से सम्पर्क में है। इस सम्पूर्ण नेटवर्क की जॉच / अनुसंधान किया जा कर पूरे नेटवर्क का जल्दी से जल्दी से भण्डाफोर्ड किया जायेगा।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal