मात्र दसवीं पास है लेकिन साइबर तकनीक का मास्टर है आरोपी

मात्र दसवीं पास है लेकिन साइबर तकनीक का मास्टर है आरोपी

फ़्लोरा काम्प्लेक्स में फिरौती के लिए व्यापारी पर फायरिंग का आरोपी गिरफ्तार 

 
मात्र दसवीं पास है लेकिन साइबर तकनीक का मास्टर है आरोपी

फिरौती स्वरुप मांगे थे 10 लाख रूपये 

दयपुर 28 दिसंबर 2020। शहर में दस दिन पूर्व फ़्लोरा काम्प्लेक्स निवासी व्यवसायी विनय भंडारी के घर पर फिरौती के चक्कर में फायरिंग करने के आरोपी को उदयपुर पुलिस ने धर दबोचा है।  

एएसपी गोपालस्वरूप मेवाड़ा ने बताया की फ़्लोरा काम्प्लेक्स निवासी व्यवसायी विनय भंडारी के घर पर फिरौती के चक्कर में फायरिंग करने के आरोपी 35 वर्षीय शाकिर हुसैन उर्फ़ टोनी उर्फ़ बाबा पिता शौकत अली निवासी सज्जन नगर 80 फिट रोड मुल्ला तलाई को पुलिस की साइबर सेल की सहायता से सीडीआर विश्लेषण एवं तकनीकी आधार पर अनुसन्धान कर गिरफ्तार किया।  

फिरौती स्वरुप मांगे थे 10 लाख रूपये 

व्यवसायी पर फायरिंग करने के बाद शाकिर उर्फ़ टोनी उर्फ़ बाबा ने व्यवसायी विनय भंडारी के मोबाइल पर अज्ञात मोबाइल से व्हाट्सप्प मैसेज आया व फायरिंग की घटना का हवाला देते हुए फिरौती स्वरुप 10 लाख रूपये की मांग की अन्यथा पुनः फायर करने की धमकी दी गई।  मामले की गंभीरता को देखते हुए एएसपी गोपाल स्वरुप मेवाड़ा, पुलिस उप अधीक्षक महेंद्र पारीक, सुखेर थानाधिकारी डी पी दाधिच, प्रोबेशनरी आईपीएस सुश्री रंजीता शर्मा, अम्बामाता थानाधिकारी लक्ष्मणराम विश्नोई, हिरणमगरी थानाधिकारी डॉ हनवंत सिंह, घंटाघर थानाधिकारी भवानी सिंह जिला पुलिस स्पेशल टीम योगेश चौहान तथा साइबर सेल प्रभारी गजराज सिंह की टीम ने शहर के 300 से अधिक सीसीटीवी कैमरे तथा व्यवसायी के समस्त स्टाफ से पूछताछ की गई    

ऐसे हुआ घटना का खुलासा 

पुलिस टीम ने विभिन्न स्थानों के बीटीएस डाटा, साइबर सेल की सहायता से सीडीआर विश्लेषण और तकनिकी अनुसन्धान के आधार पर पाया गया की जिस मोबाइल नंबर से धमकी भरा मैसेज वह मोबाइल नंबर गोगुन्दा के रूप लाल गमेती का निकला। जिसका सिम 5-6 माह पहले चोरी हो गया था।  तत्पश्चात ज्ञात हुआ की यह सिम शहर के मुल्ला तलाई स्थित मोबाइल रिपेयर की दुकान के मोबाइल में काम में लिया गया था।  गहनता से जांच करने पर पता चला की उस मोबाइल में मुल्ला तलाई निवासी किसी महिला का सिम भी काम में लिया था।  

मोबाइल रिपेयरिंग के दुकान मालिक से पूछताछ करने ज्ञात हुआ की 3-4 महीने पहले शाकिर उर्फ़ टोनी उर्फ़ बाबा यह सिम मांग कर ले गया। शाकिर को डिटेन कर कड़ाई से पूछताछ की गयी तो उसने स्वीकार किया की उसने रूप लाल की चोरी की हुई सिम से विनय भंडारी को धमकी भरा मैसेज किया।  तथा महिला के सिम से नेट कालिंग और व्हाट्सप्प अकाउंट बनाया। आरोपी के कब्ज़े से पुलिस ने वह मोबाइल बरामद किया जिससे धमकी भरा मैसेज सुरक्षित रखा पड़ा है।  

सिम ही नहीं वारदात में प्रयुक्त मोटरसाइकिल भी चोरी की ही प्रयुक्त की 

शातिर अपराधी ने वारदात में न सिर्फ चोरी की सिम इस्तेमाल की बल्कि वारदात में प्रयुक्त की गई मोटरसाइकिल भी चोरी की इस्तेमाल की।  पुलिस द्वारा आरोपी वारदात में प्रयुक्त मोटरसाइकिल, देशी कट्टा व् अन्य मोबाइल व् सिम बरामदगी के प्रयास जारी है। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने सभी अलामात अपने कब्ज़े में होना स्वीकार किया है।  

मात्र दसवीं पास है लेकिन साइबर तकनीक का मास्टर है आरोपी 
पुलिस ने बताया की आरोपी शाकिर उर्फ़ टोनी उर्फ़ बाबा मात्र दसवीं पास है लेकिन साइबर तकनीक एवं  सोशल मीडिया हैंडलिंग के मामले में बहुत होशियार और जानकार है।  उसने चोरी के मोबाइल नंबर से धमकी भरा मैसेज किया ताकि पुलिस सिम धारक को ढूंढती रहे और वह उसकी पकड़ से बाहर रहे।  यही नहीं आरोपी ने अपने मैसेज में वाहट्सएप्प प्रोफ़ाइल में अन्य अपराधी (जिसके हाथ में हथियार है) की पिक्चर लगा रखी थी ताकि व्यवसायी डर जाए और पुलिसिया जाँच भी गलत दिशा में डायवर्ट हो जाये।  

पुलिस ने बताया की आरोपी शाकिर के खिलाफ अम्बामाता थाना में आर्म्स एक्ट और जानलेवा हमले के केस पूर्व में दर्ज है।  फ़िलहाल आरोपी टेंट, बर्तन इत्यादि  किराये पर देने का कार्य करता है।  अब तक की जांच के मुताबिक आरोपी द्वारा सम्पूर्ण वारदात उसने अकेले ही की है फिर भी अन्य गैंग व किसी अन्य अपराधी की संलिप्तता को लेकर पुलिस हर पहलु से जांच कर रही है।   
    

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal