क्या आप किरायेदार रखने से पहले करवाते है पुलिस वेरिफिकेशन ?

क्या आप किरायेदार रखने से पहले करवाते है पुलिस वेरिफिकेशन ? 

नहीं तो आपके साथ भी हो सकती है ऐसी घटना, रहे सावधान !

 
thief arresr

पुलिस हर रोज अलग अलग माध्यमो से लोगो से अपने घरों में किराये पर रखे जाने वाले लोगो का पुलिस वेरिफिकेशन करवाने की अपील करती है, लेकिन क्या जनता पुलिस की इस महत्वपूर्ण अपील को ध्यान में रखती है ?  और क्या कमरा किराये पर देने से पहले या बाद में किरायेदार का पुलिस वेरिफिकेशन करवाती है?  शायद नहीं! क्यों की ऐसी ही एक लापरवाही की घटना राजनगर के एक घर से सामने आई है जहाँ घर में किरायेदार के रूप में रहकर मकान मालिक का दिल जीतकर उसकी ही अलमारी से एक महिला लाखों के जेवर लेकर फरार हो गई। जिसको पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से चोरी किए गए लाखों के जेवर भी बरामद किये।  

थानाधिकारी राजनगर हनुवंत सिंह राजपुरोहित से मिली जानकारी के अनुसार घटना कन्हैया पेट्रोल पम्प के पास पिपरडा निवासी गोपी लाल सालवी के घर में हुई थी जिसपर पीड़ित गोपीलाल ने रिपोर्ट दी थी की कुछ दिन पूर्व उसके मकान में एक महिला कोशल्या देवी और उसका पति किराये पर कमरा लेकर रहते थे, इस दौरान पीड़ित की पत्नी और कोशल्या की अच्छी बात चीत होने लगी थी। 

जून महीने में किसी कार्यक्रम में जाते समय उसकी पत्नी ने सोने के जेवर पहने जिस वक्त कोशल्या वहीँ मौजूद थी और उसने अलमारी में जेवर रखने की जगह भी देख ली थी, कुछ दिनों के बाद उसने पीड़ित की पत्नी से उसके जेवर पहनने के लिए मांगे जिस पर उसने मना कर दिया था। 

पीड़ित ने अपनी रिपोर्ट में ये भी बताया था की उसके कुछ दिन बाद दंपति कमरा खाली करके वहां से चला गया.11 अगस्त को जब पीड़ित और उसकी पत्नी ने जेवर देखने के लिए अलमारी खोली तो उसमे से कुछ जेवर कम लगे। पीड़ित ने पुलिस को बताया की कुल जेवर में से सोने की आधा तोला, टोकरिया सोने की एक तोला, नेकलीस सोने का ढाई तोला, टडढा सोने का ढाई तोला, दो कंदोरे चांदी के एक किलो, पाईजेब चांदी के आधा किलो, छोटी पायल चांदी की 250 ग्राम, घुघरिया वाला कातरिया चांदी का कम लगे। 

पीड़ित की रिपोर्ट पर पुलिस ने मामले की जाँच करना शुरू किया और आरोपी महिला कोशल्या (27) निवासी रेलमगरा को मुखबिर की सुचना पर गिरफ्तार किया। जिसने पूछताछ के दौरान पीड़ित के घर से जेवर चुराना कुबूल किया, जिसके बाद पुलिस ने उसके कब्जे से चोरी किये गए जेवर भी बरामद कर लिए।  

तरीका वारदात

अभियुक्ता कौशल्या प्रजापत द्वारा अपने मकान मालकिन का विश्वास जीत लिया ओर मकान मालकिन अभियुक्ता पर पूरा विश्वास करने लगी, मकान मालकिन अभियुक्ता को अपनी सारी बाते बताती और सोने चांदी के जेवर भी अभियुक्ता को कई बार बताये व मकान मालकिन कमरे व अलमारी का लोक नही लगाती थी। जिस पर अभियुक्ता कौशल्या के मन मे लालच/खोट आ गया और मकान पर कोई नही था तब अभियुक्ता ने मौका पाकर पीड़ित की अलमारी मे रखे सोने चांदी के जेवर चोरी कर लिये। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal