A case of rape with a deaf girl came to light in Hiranmagri

हिरणमगरी थाना क्षेत्र में मूकबधिर युवती के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया

हिरणमगरी थाना क्षेत्र में मूकबधिर युवती के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया

पीड़िता की माँ की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज किया

 
rape

हिरणमगरी थाना क्षेत्र में 22 वर्षीय मूकबधिर महिला के साथ दुष्कर्म कर उसे गर्भवती करने का मामल सामने आया है । पीड़िता की माँ की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।  

दरअसल 21 तारीख को पीड़ित महिला सुखेर थाना क्षेत्र में राहगीर को भटकते हुए मिली थी।  जिसे पर उन्होंने चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के सदस्यों को सूचित किया। चाइल्ड वेलफेयर कमेटी ने सखी सुरक्षा सुखेर नामक एनजीओ को सौंप दिया।  सुखेर थाना पुलिस ने जब पीड़िता का मेडिकल चेकअप करवाया तो पीड़िता के पांच महीने की गर्भवती होने का पता चला। 

सुखेर थाना पुलिस ने पीड़िता का पता लगाया तो पता चला कि पीड़िता हिरणमगरी भोपा मगरी की निवासी है और कुछ महीनो पहले ही घर छोड़ चुकी है।  पुलिस ने परिजनो को सूचित किया तो पीड़िता की माँ ने हिरणमगरी थाने में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ उसकी बेटी के साथ बलात्कार का मामल दर्ज करवाया। 

पुलिस ने बताया की गुरुवार को मेडिकल चेकअप और डीएनए टेस्ट करवाया गया और ट्रांसलेटर की मदद से 163 सीआरपीसी के तहत बयां भी दर्ज किये गए। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

परिजनों ने बताया की कुछ दिन पहले यह यवती हिरणमगरी सेक्टर 3 के विवेक पार्क में घूम रही थी। लोगो ने इसको लावारिस घूमते देखा तो चाइल्ड वेलफेयर कमेटी को सौंपा था जिसे उन्होंने सुखेर स्थित एक शेल्टर होम में भेजा था लेकिन युवती से पुनः वहां से कहीं निकल जाने के बाद 21 अक्टूबर को सुखेर थाना क्षेत्र में पुनः किसी राहगीर को मिली और सुखेर स्थित एनजीओ में पहुँचाया गया। जानकारी के अनुसार शेल्टर होम से निकलने के दौरान उसका पैर भी टूट गया था।   

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on  GoogleNews | WhatsApp | Telegram | Signal

From around the web