फ़र्ज़ी सीबीआई आईपीएस ऑफिसर और उसके तीन साथियों के कारनामे

फ़र्ज़ी सीबीआई आईपीएस ऑफिसर और उसके तीन साथियों के कारनामे 

पुलिस पूछताछ में चौकाने वाले खुलासे
 
farji

उदयपुर के सर्किट हाउस से दो दिन पूर्व हाथीपोल थाना पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए फर्जी सीबीआई आईपीएस ऑफिसर और उसके तीन साथियों के मामले में पुलिस को और भी अहम जानकारियां मिली है।

थानाधिकारी लीला राम का मैं बताया कि गिरफ्तारी के बाद जब आरोपी सुनील कुमार से पूछताछ की गई तो उसने कई खुलासे किए हैं, साथ ही मामले की जांच के दौरान पुलिस को आरोपी सुनील कुमार द्वारा प्रतिष्ठित समाचार पत्रों के नाम पर खुद के द्वारा बड़ी-बड़ी कार्यवाहियां करने और आरोपियों की गिरफ्तारी में खुद की अहम भूमिका होने की खबरें बनाकर खुद को आईपीएस ऑफिसर बताया है, ऐसे कुछ समाचार पत्रों के कटिंग सामने आई है।

हालांकि पुलिस द्वारा जांच के दौरान सामने समाचार पत्रों की कटिंग और अवार्ड फंक्शन में खींचे गए आरोपी सुनील कुमार के कुछ फोटोग्राफ सामने आने पर उनकी सत्यता के बारे में जांच की जा रही है।

पुलिस को यह भी जानकारी मिली है कि उसने पूर्व में भी अपनी सोशल मीडिया आईडी भी खुद को आईपीएस ऑफिसर बढ़कर और पुलिस यूनिफॉर्म में फोटो लगाकर लोगों को भ्रमित करने का काम किया है।

पुलिस को सूत्रों से जानकारी मिली कि गिरफ्तार किया गया आरोपी सुनील कुमार पूर्व में भी समाचार पत्रों के नाम पर किसी मोबाइल ऐप का इस्तेमाल कर फर्जी तरीके से खुद के द्वारा की गई बड़ी पुलिस कारवाइयां करने की खबरें बनाकर उसमें खुद को आईपीएस ऑफिसर बात कर लोगों को भ्रमित करता आ रहा है।

पुलिस ने गिरफ्तारी के बाद आरोपी सुनील कुमार और उसके तीन साथियों को गुरुवार को न्यायालय में पेश किया था जहां से उसे एक दिन के पुलिस कस्टडी डिमांड पर भेज दिया गया पुलिस अब इससे इस पूरे प्रकरण को लेकर गहनता से पूछताछ कर रही है और पुलिस को इस पूरे मामले में और भी बड़े खुलासे होने की उम्मीद है।  

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal