पिता की हत्या का बदला लेने के लिए हुई थी सल्लाड़ा पूर्व उप सरपंच की हत्या

पिता की हत्या का बदला लेने के लिए हुई थी सल्लाड़ा पूर्व उप सरपंच की हत्या

मुख्य अभियुक्त वीपी सिंह के पिता खुमाण सिंह की हत्या का आरोपी था पूर्व उप सरपंच चंदन सिंह

 
murder

हत्या के आरोपियों की गिरफ्तारी 

उदयपुर 7 मार्च 2022। जिले के सराड़ा थाना क्षेत्र के खेतावतवाडा सल्लाड़ा के पूर्व उप सरपंच 48 वर्षीय चन्दन सिंह राजपूत पिता पहाड़ सिंह की कल रविवार को दिन दहाड़े तलवार से निर्मम हत्या कर दी गई थी।  हत्या के आरोप में सराड़ा थाना पुलिस ने हत्या के मुख्य आरोपी, उसके साथी को गिरफ्तार कर लिया है। वहीँ घटना में लिप्त एक बाल अपचारी को भी डिटेन किया गया है। 

जिला पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार चौधरी ने बताया की हत्या के मुख्य आरोपी विश्वनाथ प्रताप सिंह उर्फ़ वीपी सिंह को अम्बावतपुरा सल्लाड़ा को आमलिया भैरव जी मंदिर के पास घनी बबूल की झाड़ियों से गिरफ्तार किया गया, मुख्य आरोपी विश्वनाथ प्रताप सिंह उर्फ़ वीपी सिंह ने अपने साथी कुलदीप पटेल निवासी सल्लाड़ा और बाल अपचारी के साथ मिलकर घटना को अंजाम देना स्वीकार किया। हत्या में सहयोगी कुलदीप पटेल को भी गिरफ्तार कर लिया गया वहीँ मृतक की रैकी में लिप्त बाल अपचारी को डिटेन किया गया। 

पिता की हत्या का बदला लेने के लिए की थी हत्या 

सल्लाड़ा के पूर्व उप सरपंच की हत्या के मामले में सामने आया है की दोनों परिवारों में पुरानी दुश्मनी चली आ रही है।  वर्ष 2004 में सल्लाड़ा पूर्व उप सरपंच चंदन सिंह एवं मुख्य अभियुक्त वीपी सिंह के पिता खुमाण सिंह के बीच विवाद में खुमाण सिंह और उसके परिजनों ने चंदन सिंह और उसके भाइयों पर जानलेवा हमला कर चंदन सिंह के हाथ पैर तोड़ दिए थे। इसका बदला लेने के लिए चंदन सिंह ने वर्ष 2006 में अपने साथियो के साथ मिलकर खुमाण सिंह की हत्या कर दी थी। इस केस में चंदन सिंह संदेह का लाभ लेकर बरी हो गया था। 

वर्ष 2006 में जब खुमाण सिंह की हत्या हुई थी तब उसका पुत्र वीपी सिंह 4 वर्ष का था। वीपी सिंह के मन में बदले की भावना पनपती गयी। इसी दौरान 4 मार्च की एक घटना ने बदले की भावना को उस वक़्त चिंगारी मिल गयी जब चंदन सिंह ने वीपी सिंह को रास्ते पर कांटे की बाड़ ठीक करते समय कहा की यह कांटे क्यों डाल रहा है, इसे हटा ले नहीं तो तेरे बाप की तरह तुझे भी उड़ा दूंगा। इसी बात पर वीपी सिंह ने चंदन सिंह की हत्या की योजना बनाई। 

दो दिन तक इंतज़ार किया जैसे ही मौका मिला काम तमाम कर दिया। 

घटना के बाद दो दिन तक इंतज़ार के बाद जैसे ही आरोपी वीपी सिंह को मौका मिला उसने चंदन सिंह को अकेला पाकर पहले तो चंदन सिंह से हाथापाई की फिर उसे नीचे गिराकर तलवार से चंदन सिंह के गर्दन पर वार किया, इस पर चंदन सिंह द्वारा बचाव के लिए अपने हाथ आगे कर दिए जिससे चंदन सिंह के दोनों हाथ कलाई से कट गए।  इसके बाद वीपी सिंह ने चंदन सिंह के सिर एवं गर्दन से तलवार से लगातार सात आठ वार कर हत्या कर दी। और मौके से अपने साथी के साथ फरार हो गया। 

पुलिस ने बताया की घटना में हत्या की योजना बनाने, घटना के दिन बस स्टैंड से घटनाथल के लिए वीपी सिंह के साथ जाने, घटनास्थल पर मौजूद रहने एवं घटना के बाद वीपी सिंह के कहे अनुसार उसकी मोटरसाइकिल को लेकर उसके घर छोड़ने एवं सल्लाड़ा से फरार हो जाने के आरोप में वीपी सिंह के साथी कुलदीप पटेल पिता वालजी पटेल निवासी सल्लाड़ा को भी गिरफ्तार कर लिया गया। वहीँ हत्या की योजना में शामिल रहने एवं मृतक की रैकी के आरोप में एक बाल अपचारी को डिटेन किया गया है। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal