तलवार के दम पर लूट मचाने वाली तलवार गैंग का पर्दाफाश


तलवार के दम पर लूट मचाने वाली तलवार गैंग का पर्दाफाश 

मसाला गैंग के नाम से भी जानी जाने वाली तलवार गैंग के दो आरोपी गिरफ्तार, गैंग में शामिल दो बाल अपचारी भी किये गए डिटेन 

 
तलवार के दम पर लूट मचाने वाली तलवार गैंग का पर्दाफाश
UT WhatsApp Channel Join Now

14 फरवरी से 18 फरवरी के दरमियान की गई 8 वारदातों के साथ अन्य 4 वारदातों का खुलासा 

उदयपुर 20 फरवरी 2021। उदयपुर जिला पुलिस ने शहर के निकटवर्ती झाड़ोल, नाई, अम्बामाता एवं गोगुन्दा थाना क्षेत्रो में राह चलते लोगो से निरंतर तलवार से हमला कर लूटपाट कर रही तलवार गैंग (मसाला गैंग) का पर्दाफाश करते हुए गैंग को दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है वहीँ गैंग में शामिल दो बाल अपचारियों को डिटेन किया है। 

जिला पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान मामले का खुलासा करते जिला पुलिस अधीक्षक डॉ राजीव पाचार ने बताया की 14 फरवरी से 18 फरवरी के बीच तलवार से हमला कर लूटपाट करने गैंग के दो सदस्य 22 वर्षीय लहर सिंह पुत्र धन सिंह निवासी लखमावतो का गुडा केलवाड़ा जिला राजसमंद एवं 19 वर्षीय हेमेंद्र चौधरी उर्फ़ नेपाली पुत्र लक्ष्मीलाल निवासी बाघपुरा झाड़ोल को बापर्दा गिरफ्तार किया गया है एवं गैंग द्वारा घटनाओ में लिप्त दो बाल अपचारियों को भी डिटेन किया गया है। 

जिला पुलिस अधीक्षक ने बताया की गिरफ्तारशुदा गैंग ने 14 फरवरी से 18 फरवरी के बीच की गई आठ वारदातों के अतिरिक्त 4 अन्य लूट की वारदातों को अंजाम देना स्वीकार किया है। अभियुक्त हेमेंद्र चौधरी उर्फ़ नेपाली के खिलाफ मारपीट, चोरी नकबजनी के कुल 5 केस तथा लहर सिंह के खिलाफ लूट के 2 केस पूर्व में दर्ज है वहीँ 1 बाल अपचारी के खिलाफ भी लूट के 2 केस पूर्व में दर्ज हो चुके है। 

तरीका ए वारदात 

तलवार गैंग के शातिर महाराणा भूपाल जनरल हॉस्पिटल के पार्किंग स्टैंड पर काम करते है। गैंग योजनाबद्ध तरीके से उदयपुर शहर के आसपास के ग्रामीण क्षेत्रो में वारदात के लिए सुबह 3 बजे उठकर मोटरसाइकिल से आने जाने वाले लोगो की रैकी करते है व मौका पाकर सुनसान स्थानों पर रास्ता पूछने के बहाने रुकवा कर या अपने वाहनों को आड़े लगाकर लात मारकर, गिराकर तलवार व धारदार हथियार से हमला कर घायल कर नकदी, मोबाईल तथा वाहन आदि की लूट की घटना को अंजाम देते है। यह इतने शातिर है की पीड़ित द्वारा पुलिस को तत्काल सूचना नहीं दी सके, इस हेतु पीड़ित का मोबाईल फोन और गाडी की चाबी भी अपने साथ ले जाते है। 

पुलिस ने बताया की इस गैंग को धर दबोचने के लिए गठित की गई टीम ने समस्त घटनाओ के घटनास्थलों का बारीकी से निरीक्षण किया गया। वहीँ पीड़ितों से जांच पड़ताल के साथ साथ घटनास्थल के आसपास के निवासियों से मालूमात की गई।  साइबर सेल से घटनाओ में प्रयुक्त एवं छीने गए मोबाइल के सम्बन्ध में तकनीकी अनुसन्धान, पूर्व के चालानशुदा अपराधियों से पूछताछ और हुलिए के आधार पर दबिश देकर धर दबोचा। 

इन पुलिस टीम का विशेष योगदान 

तलवार टीम पर नकेल डालने वाली पुलिस टीम  

श्रीमती प्रेम धणदे वृत्ताधिकारी वृत्त गिर्वा, साबिर खान नाई थानाधिकारी, मनोहर सिंह हेड कांस्टेबल, दिनेश सिंह, राजेंद्र सिंह कांस्टेबल थाना गोवर्धन विलास, जगदीश प्रसाद, नंदकिशोर कांस्टेबल थाना नाई, गजराज हेड कांस्टेबल, लोकेश रायकवाल कांस्टेबल साइबर सेल की मुख्य भूमिका रही।   

UdaipurTimes की ख़बरों से जुड़ने के लिए हमारे GOOGLE NEWS | WHATSAPP |  SIGNAL | TELEGRAM चैनल्स को सब्सक्राइब करें और FacebookTwitter और Instagram पर भी फॉलो करें

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal