आबकारी विभाग की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करीब डेढ़ करोड़ की 1880 कार्टन अवैध शराब बरामद

आबकारी विभाग की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करीब डेढ़ करोड़ की 1880 कार्टन अवैध शराब बरामद

पहली बार एक ही स्थान पर अवैध शराब के विरुद्ध इतनी बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। 

 
excise dept seized 1.5 corore rupees liqour

आबकारी विभाग ने इतिहास की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए 15 गाड़ियों में लदी करीब डेढ़ करोड़ कीमत की हरियाणा, पंजाब व चंडीगढ़ निर्मित 1880 कार्टन अंग्रेजी शराब बरामद करने में सफलता हासिल की है।

जयपुर/उदयपुर, 30 मई। आबकारी विभाग ने इतिहास की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए 15 गाड़ियों में लदी करीब डेढ़ करोड़ कीमत की हरियाणा, पंजाब व चंडीगढ़ निर्मित 1880 कार्टन अंग्रेजी शराब बरामद करने में सफलता हासिल की है।

आबकारी आयुक्त डॉ जोगाराम ने बताया कि अवैध शराब के विरुद्ध राज्य सरकार की ओर से लगातार कार्रवाई की जा रही है। मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई थी कि सिरोही जिले के रोहिड़ा थाना क्षेत्र में स्वरूपगंज से आबू रोड के बीच भुजेला गांव के पास पावर हाउस के पीछे एक बाड़े में बड़ी मात्रा में अवैध शराब जमा की गई है। इस पर विभाग के अतिरिक्त जिला आबकारी अधिकारी राणा प्रताप सिंह के नेतृत्व में प्रहराधिकारी नारायण सिंह, नरेंद्र सिंह, जगदीश बिश्नोई एवं पंकज सिंह की पांच सदस्यीय टीम गठित की गई। 

टीम ने मुखबिर की ओर से बताए गए स्थान पर रविवार को अलसुबह दबिश देखकर 6 ट्रक एवं 9 लग्जरी कारों में भरी पंजाब, हरियाणा व चंडीगढ़ निर्मित विभिन्न ब्रांड की अंग्रेजी शराब की 1880 पेटियां बरामद की। इसकी राजस्थान में कीमत करीब डेढ़ करोड़ रुपये है। कार्रवाई करते हुए 11 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया जिनके विरुद्ध आबू रोड आबकारी थाने में प्रकरण दर्ज किया गया है। 

ज़ब्त की गई शराब में अधिकांश पर "फॉर सेल इन अरुणाचल प्रदेश" लिखा हुआ है। आबकारी आयुक्त ने बताया कि पहली बार एक ही स्थान पर अवैध शराब के विरुद्ध इतनी बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। 

उन्होंने बताया कि सरकार की मुखबिर योजना के सकारात्मक परिणाम मिल रहे हैं और लोग अवैध शराब की पुख्ता जानकारियां विभाग को दे रहे हैं। मुखबिर योजना के तहत अवैध शराब की जानकारी टोल फ्री नम्बर 18001806436 पर दी जा सकती है। जानकारी देने वाले का नाम गुप्त रखा जाता है और कार्रवाई होने पर उसे आर्थिक रूप से पुरस्कृत भी किया जाता है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal