15 हजार की रिश्वत के साथ पकड़ा ग्राम विकास अधिकारी

15 हजार की रिश्वत के साथ पकड़ा ग्राम विकास अधिकारी 

ग्राम पंचायत अधिकारी ने यह भी कहा की अगर 15 हज़ार की रिश्वत नहीं दी की गयी तो भविष्य में होने वाले विकास कार्य नहीं किये जाएंगे।  

 
corrupt

उदयपुर के एसीबी स्पेशल यूनिट की ओर से की गयी बड़ी कार्यवाही में मंगलवार को सलूम्बर पंचायत समिति की गामड़ा के ग्राम विकास अधिकारी मुकेश मीणा को रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया । जबकि ग्राम पंचायत अधिकारी का कार्य होता विकास की ओर ध्यान देना पर यहाँ अधिकारी खुद के विकास की ओर ज़्यादा ध्यान दे रहा था ।  

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के एएसपी उमेश ओझा के नेतृत्व में इस कार्यवाही को अंजाम दिया गया। एएसपी उमेश ओझा ने बताया की गामड़ा गाँव के वार्डपंच के पति भेरूलाल मीणा से नरेगा श्रमिकों को वेतन जारी करने के बदले में प्रत्येक मजदुर से 3 हज़ार रूपये देने की मांग की गयी। जिस पर रिश्वत के मामले को लेकर वार्डपंच कमला के पति ने इस मामले की लिखित शिकायत एसीबी में दी।  

शिकायत पर कार्यवाही करते हुए आरोपी अधिकारी रंगे हाथों मुकेश मीणा को गिरफ्तार किया गया। उमेश ओझा ने बताया की ग्राम पंचायत अधिकारी ने यह भी कहा की अगर 15 हज़ार की रिश्वत नहीं दी की गयी तो भविष्य में होने वाले विकास कार्य नहीं किये जाएंगे।  

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal