आखिरी कब थमेगा आदमखोर तेंदुए का आतंक, एक महीने में चौथा शिकार

आखिरी कब थमेगा आदमखोर तेंदुए का आतंक, एक महीने में चौथा शिकार

घर में सो रही वृद्धा को बनाया शिकार, वृद्धा की चींख सुन कर बचाव के लिए आये ग्रामीण 

 
panther

प्रशासन पर गुस्साए ग्रामीण 

उदयपुर में आये दिन तेंदुआ इंसानो पर हमला कर देते है जिस की वजह से जान का खतरा बना रहता है। इस जून में तेंदुए का यह चौथा शिकार है पिछले ही दिनी घर में सो  रही वृद्धा पर हुम्ला कर जंगलो की तरफ ले गया और वृद्धा को जान से हाथ धोना पड़ा।  

कल मंगलवार को सुबह जावर माइन्स थाना क्षेत्र के सिंघवटवाड़ा गाँव में घर में सो रही अधेड़ उम्र की महिला पर तेंदुए ने हमला किया इसी दौरान महिला ने बचाव के लिए चीखना शुरू किया तभी आस पास के ग्रामीण मौके पर पहुंचे आस पास के लोगो को आता देख तेंदुआ जंगल की तरफ भाग गया। तेंदुए के हमले से बसंती देवी को कई गंभीर चोट लगी जिन्हे तुरंत अस्तपाल पहुँचाया गया। जहाँ उनका इलाज जारी है।    

प्रशासन पर गुस्साए ग्रामीण 

तेंदुए के हमले के बाद ग्रामीण ने फिर से प्रशासन की लापरवाही के खिलाफ विरोध करते हुए ज़ाहिर किया की वन विभाग सुरक्षा के संदर्भ में सिर्फ झूठी बातें कर दिलासा दे रहे है कार्यवाही नहीं की जा रही है ग्रामीणों पर हर समय तेंदुए का खतरा बना रहता है।  

हालाँकि या पहली घटना नहीं है इससे पहले जावर माइंस के क्षेत्रवासियों और उनके मवेशियों को शिकार बना चूका है। वन विभाग द्वारा संभावित जगहों पर पिंजरा भी लगाया गया है। लेकिन आदम खोर तेंदुआ पिंजरे के जाल में अभी तक नहीं फंसा है। लगातार हमलो के बाद वन विभाग ने राज्य सरकार से पैंथर को शूट करने की अनुमति मांगी है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal