निलम्बित डिप्टी एसपी आंचलिया के रिश्वत मामले में मुख्य गवाह को मिली धमकी

निलम्बित डिप्टी एसपी आंचलिया के रिश्वत मामले में मुख्य गवाह को मिली धमकी

पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है

 
crime

उदयपुर। शहर के सुखेर थाना क्षेत्र में निलम्बित डिप्टी जितेन्द्र आंचलिया के खिलाफ एसीबी में चल रहे मुकदमें में मुख्य गवाह को दो युवकों द्वारा धमकाने का मामला सामने आया है।

पुलिस के अनुसार रामाकृष्णन अय्यर पुत्र आनन्द नारायण अय्यर निवासी अमृत नगर बडगांव उदयपुर ने मामला दर्ज करवाया कि वह निलम्बित डिप्टी जितेन्द्र आंचलिया के खिलाफ एसीबी में चल रहे प्रकरण में वह मुख्य गवाह है। वह 23 जून को प्रात: 8 बजे के आस-पास अमरख जी महादेव अंबेरी रोज की तरह ही दर्शन करने गया था। दर्शन करके वापस लौटते समय हाईवे से पहले दो लडक़े मोटरसाइकिल पर आकर उसके आगे गाड़ी लगा दी। दोनों लडक़ों ने कहा की वह जितेन्द्र आंचलिया और नारायण सिंह के सभी मामलों से दूर होने के लिए कहा, नहीं तो जान से मारने की धमकी दी। पीछे बैठे लडक़े ने बाईक से नीचे उतरकर उसके साथ धक्का-मुक्की की और 3 दिन का टाईम है जाकर जितेन्द्र आंचलिया के भाई से या नारायण सिंह मिलकर समझौता कर ले और इधर जमीन की तरफ मत आना। एक लडक़े ने अपना शर्ट उंचा करके पिस्टल बताई। 

पीडि़त ने बताया कि वह निलंबित डिप्टी जितेन्द्र आचलिया के एसीबी वाले में मुख्य गवाह है। उससे संबंधित प्रकरण में अभी जांच चल रही है। जिसके लिए उसे सब तरफ जाना पड़ता है। दोनों लडक़ों की हरकत से व पिस्टल देखकर गवाह काफी डर गया। बाईक का नंबर प्लेट नहीं था। दोनों लडक़े उनकी बोली से यूपी-बिहार की तरफ के लग रहे थे। 

उन्होंने बताया की इन लडक़ो ने उसे तीन दिन का अल्टीमेटम दिया है कि वह जितेन्द्र आंचलिया के भाई या नारायण सिंह से बात करके समझौता कर ले उनके किसी भी मामले में कही गवाही या बयान देने पर जान से मारने की धमकी दी। 

पीडि़त ने आशंका जताई कि जितेन्द्र आंचलिया और नारायण सिंह ने षड्यंत्र रचकर उसकी रैकी करवाकर उन्हें जान से मारने की धमकी देकर समझौता करने का दबाव बनाने का प्रयास किया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal