संतान नहीं होने पर बच्ची चुराने वाली महिला गिरफ्तार


संतान नहीं होने पर बच्ची चुराने वाली महिला गिरफ्तार

पुलिस ने 200 से ज्यादा सीसीटीवी खंगाले

 
child stolen case
UT WhatsApp Channel Join Now

उदयपुर 28 फ़रवरी 2024। ज़िले के सरकारी महाराणा भूपाल हॉस्पिटल में 4 दिन पहले चोरी हुई 13 महीने की बच्ची अभियंशी मंगलवार को मिल गई है। उदयपुर पुलिस ने बच्चा चुराने वाली आरोपी महिला मंजू गमेती उर्फ लीलाबाई (30) को गिरफ्तार किया है। महिला को चीरवा स्थित डोरियों फला महादेव मंदिर के पीछे स्थित पहाड़ियों में बने रोशन गमेती के घर से पकड़ा। पुलिस ने इसी घर से महिला के साथ बच्ची को दस्तयाब किया। 

करीब 2 साल पहले महि​ला के पति मुकेश की मृत्यु हो चुकी थी। ऐसे में वह पति का घर छोड़ रोशन गमेती के साथ नाते चली गई। एसपी योगेश गोयल ने मंगलवार को इस मामले का खुलासा करते हुए बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में महिला ने बच्ची चुराने का कारण खुद के कोई संतान नहीं होना बताया। 

हालांकि पुलिस इस मामले की गहनता से जांच करेगी कि कहीं इस घटना के पीछे कोई षड़यंत्र या फिर बच्चा चोर गिरोह तो शामिल नहीं है। एसपी गोयल ने बताया कि महिला कई समय से हॉस्पिटल के आसपास मजदूरी का काम करती थी और बच्चा चुराने की फिराक में यहीं घूमती रहती थी। बच्ची सकुशल मिली है जिसे उसके माता-पिता के सुपुर्द किया गया। 

खुद की संतान बताकर रोशन के साथ रहना चाहती थी महिला 

एसपी गोयल ने बताया कि आरोपी महिला शराब पीने की आदि थी। रोशन गमेती और आरोपी महिला के बीच आपसी मनमुटाव हो गया था। इस कारण महिला बीते 6-7 माह से रोशन से अलग रह रही थी। यह इस बच्ची को खुद की संतान बताकर रोशन के साथ रहना चाहती थी। इसलिए बच्ची को लेकर रोशन के घर चली गई थी। ताकि इसके अपराध का किसी को पता नहीं लगे। 

हालांकि पुलिस पूछताछ में रोशन ने इसे अपना बच्चा मानने से इंकार किया। महिला से बच्चा चुराने को लेकर विस्तृत पूछताछ जारी है। एसपी ने जनता और व्यापारियों को अपील करते हुए कहा अपने प्रतिष्ठानों की सुरक्षा के साथ-साथ अपने शहर की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे जरूर लगाएं।

पुलिस की 4 टीमें जुटी रही, 200 सीसीटीवी खंगाले

एसपी ने बताया कि डीएसटी और हाथीपोल थाना पुलिस ने करीब 200 से ज्यादा सीसीटीवी फुटेज खंगाले। जिसमें पता लगा कि ये महिला कोर्ट चौराहा पर किसी गार्ड के पास रुकी थी। पुलिस ने उस गार्ड से सम्पर्क किया। गार्ड से उस महिला के बारे में कुछ जानकारी मिली। इसके बाद पुलिस ने चीरवा के पास एक रोशन गमेती नाम के व्यक्ति के घर पहुंची। जहां से महिला को बच्ची के साथ दस्तयाब किया। 

जानकारी के अनुसार 24 फरवरी को तड़के साढ़े पांच बजे एक महिला मासूम अभियंशी को उठा ले गई थी। इस दौरान अभियंशी अपनी मां हीना के पास सर्जिकल वार्ड के बाहर सो रही थी। घटना की जानकारी के बाद हाथीपोल थाना पुलिस ने सीसीटीवी खंगाले थे। सीसीटीवी में एक महिला अभियंशी को जाते हुए दिखी। इसके बाद 4 टीमें बनाकर तलाश शुरू की तो पता चला कि महिला बच्ची को लेकर उदयपुर-नाथद्वारा हाईवे की तरफ निकली है।

भाई के लिए भोपाल से आई थी बहन, 10 दिन से हॉस्पिटल में थी

पुलिस के अनुसार बच्ची की मां भोपाल निवासी हीना परिहार का भाई दीपक राज परिहार राजसमंद के कांकरोली का रहने वाला है और कार मैकेनिक है। पेट में परेशानी के चलते उसका 10 दिन पहले ऑपरेशन हुआ था और घटना के एक दिन पहले उसे आईसीयू से जनरल सर्जिकल वार्ड में शिफ्ट किया गया था।

भाई के ऑपरेशन की सूचना मिलने पर बहन हीना भी 10 दिन पहले 13 महीने की बेटी अभियंशी को साथ लेकर उदयपुर आ गई थी। हीना भाई की देखरेख के लिए रात में हॉस्पिटल में रुकती थी। 23 फरवरी की रात वह बेटी को लेकर वार्ड के बाहर बरामदे में सो गई थी। शनिवार सुबह देखा तो बच्ची गायब थी।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal