CBSE:क्लास के एक सेक्शन में अब 40 स्टूडेंट्स ही पढ़ सकेंगे

CBSE:क्लास के एक सेक्शन में अब 40 स्टूडेंट्स ही पढ़ सकेंगे

कोविड में 45 छात्रों की थी स्वीकृति

 
CBSE

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने एक क्लास के एक सेक्शन में छात्र संख्या को लेकर फिर से बदलाव किया है। अब प्रति सेक्शन 40 स्टूडेंट्स ही पढ़ सकेंगे। यह बदलाव आने वाले तीन शैक्षणिक सत्रों तक लागू करना होगा। तीन साल अनिवार्य रूप से एक कक्षा में 40 स्टूडेंट्स ही होंगे। दरअसल, कोविड के समय सेंट्रल बोर्ड ने नियमों में रियायत देते हुए सीधे एडमिशन के मामलों में स्कूलों को 45 छात्र प्रति सेक्शन दाखिला देने की रियायत दी थी।

अब 40 छात्रों को दाखिला देने के साथ प्रति छात्र के लिए 1 वर्ग गज की जगह रखने का प्रावधान फिर से लागू कर दिया गया है। सीबीएसई के कंट्रोलर ऑफ एग्जामिनेशन डॉ. संयम भारद्वाज ने इसका ऑफिशियल सर्कुलर भी जारी कर दिया है। इस नियम को नहीं मानने वाले स्कूलों के खिलाफ एक्शन भी लिया जाएगा। छात्रों को सहूलियत और गुणवत्तायुक्त शिक्षा देने के लिए आदेश को फिर से रिवाइज किया गया है।

कोविड में बढ़ा दी गई थी स्टूडेंट्स की संख्या

सीबीएसई की ओर से जारी आदेश के अनुसार कोविड के समय कई छात्र एक स्थान से दूसरे स्थान पर माइग्रेट कर गए थे। रेजीडेंशियल स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र भी स्कूल की जगह अपने होम टाउन चले गए थे। मिडिल ईस्ट में रहने वाले कई परिवार वहां का काम छोड़कर भारत में आकर बस गए थे। वहीं कोविड के समय में छात्रों को प्रमोट करने से भी छात्र संख्या में अचानक बढ़ोतरी हुई थी। वहीं स्कूलों को कोविड के समय शिक्षा देने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। इसे देखते हुए सीबीएसई ने छात्र संख्या में बढ़ोतरी कर दी थी। इससे स्कूल संचालक और शिक्षकों को राहत मिली थी। अधिक सेक्शन की जगह उन्हें कम सेक्शन के छात्रों को ही पढ़ाना पढ़ रहा था।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal