MPUAT में ई.टी.आई. के द्वारा आयोजित ऑन लाइन कार्यशाला का उद्घाटन


MPUAT में ई.टी.आई. के द्वारा आयोजित ऑन लाइन कार्यशाला का उद्घाटन

राजस्थान के विभिन्न जिलों के कॉलेजो से  40 प्रतिभागी ले रहे भाग

 
MPUAT
UT WhatsApp Channel Join Now

शिक्षा से व्यवहार, शारीरिक, सामाजिक, उन्नयन हो तभी उसकी सार्थकता है-कुलपति डॉ. नरेन्द्र सिंह राठौड

उदयपुर, 21 फरवरी, 2022। युवा मामलात एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार और महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौधोगिकी विश्वविद्यालय के साझा तत्वाधान में छात्र कल्याण निदेशालय के अंर्तगत एम्पेनल्ड ट्रेनिंग इन्सटिट्यूशन ;ई.टी.आई. के द्वारा आयोजित 7 दिवसीय ऑन लाइन अभिविन्यास प्रशिक्षण कार्यशाला का उद्घाटन आज प्रातः 11 बजे प्रारम्भ हुआ।  इसमें राष्ट्रीय सेवा योजना के राजस्थान राज्य के कार्यक्रम अधिकारी प्रशिक्षित होंगे।

कार्यशाला के उद्घाटन के प्रारम्भ में महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौधोगिकी विश्वविद्यालय, उदयपुर के कुलगीत का वादन किया गया। उसके पश्चात डॉ. मुरतजा अली सलोदा, कार्यक्रम समन्वयक राष्ट्रीय सेवा योजना एवं निदेशक, एम्पेनल्ड  ट्रेनिंग इन्सटिट्यूशन तथा छात्र कल्याण अधिकारी ने अतिथियों एवं प्रतियागियों का स्वागत करते हुए बताया कि उक्त कार्यक्रम में राजस्थान के विभिन्न जिलों के कॉलेजो से  40 प्रतिभागी भाग ले रहे हैं, जो कि राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी है एवं सम्बधित महाविधालयों में प्राचार्य के पद पर कार्यरत हैं। 

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि माननीय कुलपति डॉ. नरेन्द्र सिंह राठौड ने अपने मुख्य अतिथि उद्बोधन में राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्य एवं समाज के साथ व्यक्ति के जुडाव को समझाया कि स्वयं के लिए नही अपितु दुसरों के लिए कार्य कैसे करना है, क्यों करना है किस लिए करना है कि बात को विभिन्न उदाहरणो, पहलुओं के माध्यम सें समझाया। हमारी शिक्षा हमें कल्याण के साथ हमने क्या पाया और हमारे द्वारा समाज को क्या दिया गया का निर्धारण करती है। शिक्षा से व्यवहार, शारीरिक, सामाजिक, उन्नयन हो तभी उसकी सार्थकता है। उन्होंने छात्रों को केम्पस से कम्युनिटी तक तथा वोलिन्टियर से विलेज तक कैसे जोडा जाऐ पर जोर दिया। आज छात्रों को अपना एवं समाज का उन्नयन, एक्टीव लर्निग, कठिन परिश्रम एवं कम उम्मीदों के साथ देने की भावना के माध्यम से कार्य करने की आवश्यक्ता है । उन्होने कहा कि भारत सरकार द्वारा राजस्थान राज्य मे इस प्रकार के इकलोते प्रशिक्षण केन्द्र की महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय मे स्थापना से युवाओं के विकास के नए आयाम स्थापित होंगे एवं उन्हें नवीन अवसर प्रदान होंगें।

क्षैत्रीय निदेशक राष्ट्रीय सेवा योजना एस.पी.भटनागर ने कार्यक्रम की रूप रेखा और ऑन लाइन आयोजन हेतु बधाई देते हुए प्रशिक्षण शिविर की सफलता की कामना की। भारत सरकार नई दिल्ली के युवा मामलात एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार और महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय उदयपुर के मध्य अनुबन्ध के अन्तर्गत विश्वविद्यालय मे एम्पेनल्ड ट्रेनिंग इन्सटिट्ंयूान (ई.टी.आई.) की स्थापना की गई है, जिसमें राजस्थान राज्य से भारत सरकार की राष्ट्रीय सेवा योजना (एन.एस.एस.) के अन्तर्गत इस कार्यक्रम का संचालन कर रहे कार्यक्रम अधिकारियों को प्रशिक्षित किया जाता है। 

डॉ मुरतजा अली सलोदा,  निदेशक ई.टी.आई. प्रशिक्षण केन्द्र ने बताया कि राज्य  भर में राष्ट्रीय सेवा योजना के 3600 कार्यक्रम अधिकारी विभिन्न कॉलेजों एवं स्कुलों में कार्यरत हैं। इन्हीं के द्वारा राष्ट्र निर्माण के विभिन्न सेवा कार्यो से छात्रों को अवगत कराया जाता है। प्रशिक्षण के दौरान सरकार के फ्लेगशिप कार्यक्रमों, स्वास्थ्य, योगा, डिजास्टर मेनेजमेंट, सामाजिक कुरितियों का निवारण, ग्रामीण क्षेत्रों में विकास, जल भंडारण एवं संरक्षण, ऊर्जा, प्राकृतिक संसाधनों का संधारण, इतिहास जैसे विभिन्न विषयों पर चर्चा होगी एवं राष्ट्र निर्माण तथा छात्रों के सर्वांगीण विकास की ओर कार्य किया जायेगा।

कार्यक्रम के अन्त में डॉ. धर्मेन्द्र सिंह, राज्य सम्पर्क अधिकारी, राष्ट्रीय सेवा योजना के उद्घाटन सत्र के अतिथियों एवं प्रतिभागियों को काय्रक्रम की रूपरेखा समझातें हुए भागीदारी हेतु सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया।

 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal