बी एन विश्वविद्यालय में करियर काउंसलिंग पर सेमिनार का आयोजन

बी एन विश्वविद्यालय में करियर काउंसलिंग पर सेमिनार का आयोजन

प्रबंधन विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ रुचि तवर ने इस क्षेत्र के विभिन्न कोर्सेस की जानकारी दी

 
BN

विद्या प्रचारिणी सभा अपनी स्थापना के 100 वर्ष पूर्ण करने जा रही है यह बहुत ही महत्वपूर्ण बात है

बी एन विश्वविद्यालय के होटल एवं पर्यटन प्रबंधन विभाग के द्वारा विश्व टूरिस्ट गाइड दिवस पर  बी एन पब्लिक विद्यालय एवं होटल प्रबंधन संस्थान के छात्र छात्राओं को पर्यटन एवं होटल इंडस्ट्रीमें बढ़ते हुए रोजगार उन्मुख अवसरों से अवगत करवाया गया। इस अवसर पर होटल इंडस्ट्री के ओबेरॉय उदयविलास की एचआर मैनेजर मंजरी शर्मा अरावली टूर्स के मुकेश टीकू गोल्डन टयूलिप के प्रबंधक मनमोहन सिंह मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित हुए। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर प्रोफेसर एन बी सिंह, रजिस्ट्रार परबत सिंह राठौड़ एवं प्रो.भानु कपिल ने  मुख्य अतिथि का पुष्पगुच्छ प्रदान कर स्वागत किया।

अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में प्रोफेसर एन बी सिंह ने पर्यटन एवं होटल प्रबंधन में बढ़ते हुए रोजगार के अवसर की जानकारी प्रदान की साथ ही बीएन विश्वविद्यालय को भारत के लब्ध प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में एक बताया और साथ ही बताया कि विद्या प्रचारिणी सभा अपनी स्थापना के 100 वर्ष पूर्ण करने जा रही है यह बहुत ही महत्वपूर्ण बात है कि किसी शिक्षण संस्थान के द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में शताब्दी पूर्ण करना।  प्रोफेसर सिंह ने नई शिक्षा नीति के बारे में जानकारी प्रदान करते हुए छात्र छात्राओं को वोकेशनल अध्ययन के बारे में प्रोत्साहित किया।पर्यटन प्रबंधन विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ रुचि तवर ने इस क्षेत्र के विभिन्न कोर्सेस की जानकारी दी।

कार्यक्रम की इसी कड़ी में ओबेरॉय उदयविलास होटल की एचआर प्रबंधक मंजरी शर्मा ने छात्र छात्राओं को पर्यटन एवं होटल प्रबंधन पाठ्यक्रम की जानकारी से अवगत कराते हुए इसके विभिन्न सेक्टर्स में रोजगार की संभावनाओं पर जोर देते हुए छात्र छात्राओं को प्रोत्साहित किया।

 उन्होंने कहा कि इस इंडस्ट्री ने एक भरे पूरे कैरियर का रूप ले लिया है चाहे हम होटल चल जाए रेस्टो जल जाए खाने–पीने चले जाएं कहीं ठहर ना पड़े टूर एंड ट्रेवल्स इवेंट मैनेजमेंट क्रूज लाइनर या कोई भी मैनेजमेंट कंपनी चले जाए हमें हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट के लोग की जरूरत जरूर पड़ती है। वर्ल्ड ट्रैवल एंड टूरिज्म काउंसिल के रिपोर्ट के हिसाब से दुनिया में पर्यटन की इस बड़ी आम आदमी चलते भारतीय हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में आगामी 10 सालों में करीब 8 मिलियन नौकरियां होंगे ऐसे में वह सभी लोग जो इस इंडस्ट्री में अवसर बनाना चाहते हैं उनके लिए सबसे सुनहरा अवसर होगा। इनमें  डिग्री मिलती है इसे बैचलर आफ होटल मैनेजमेंट, मास्टर्स इन टूरिज्म, डिप्लोमा इन केबिन क्रु मैनेजमेंट तो मेडिकल टूरिज्म भी एक कैरियर का विकल्प है जॉब ओरिएंटेड कोर्स करते हैं तो हॉस्पिटैलिटी युवाओं में काफी लोकप्रिय रहता है क्योंकि इस सेक्टर में अगर आप तीन साल ग्रेजुएशन की डिग्री करते हैं। ये एक ग्रेजुएशन की डिग्री है इसलिए यह तीन साल की होती है। 

गोल्डन टयूलिप होटल के प्रबंधक मनमोहन सिंह ने छात्र छात्राओं को होटल इंडस्ट्री के बारे में विस्तार से समझाया एवं अपने भविष्य को लक्ष्य आधारित बनाने पर जोर दिया। कार्यक्रम की अंतिम कड़ी में अरावली टूर्स के मुकेश टिक्कू ने पर्यटन के बारे में बताते हुए पैकेज तुवर इनबॉउंड टूरिज्म आउटपुट टूरिज्म के बारे में जानकारी प्रदान की।

संस्थान की सहायक अधिष्ठाता डॉक्टर चित्रा शेखावत ने स्कॉलरशिप की जानकारी प्रदान की। श्रीमती संगीता शर्मा ने बताया कि अब सीबीएसई ने भी कक्षा ग्याहरवीं में ऐच्छिक विषय के रूप में होटल मैनेजमेंट को शामिल कर दिया है अब विद्यार्थी कक्षा ग्याहरवीं से ही पढ़ सकते है। इस अवसर पर सहायक प्रोफेसर डॉक्टर देव प्रताप सिंह राठौड़, मरुधर राठौड़, विष्णुप्रिया झाला, महिपाल सिंह झाला आदि गणमान्य भी मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन संस्थान की छात्रा अजब अली पिया ने किया। यह जानकारी विश्वविद्यालय के जन सम्पर्क अधिकारी डॉ कमल सिंह राठौड़ ने दी।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal