केंद्र सरकार ने 12th CBSE परीक्षा रद्द की

केंद्र सरकार ने 12th CBSE परीक्षा रद्द की 

12वीं का रिजल्ट तय समय सीमा के भीतर और तार्किक आधार पर तैयार किया जाएगा

 
CBSE

कोरोना महामारी के कारण सरकार ने इस साल 10वीं की परीक्षा के बाद अब 12वीं की परीक्षा रद्द कर दी है

कोरोना महामारी के कारण सरकार ने इस साल 10वीं की परीक्षा के बाद अब 12वीं की परीक्षा रद्द कर दी है। परीक्षा को लेकर विद्यार्थी काफी इंतजार में थे। मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अहम बैठक के बाद यह फैसला लिया गया। 

इस साल कोविड मीटिंग के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि अभी छात्रों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता में है। ऐसे माहौल में उन्हें परीक्षा का तनाव देना ठीक नहीं है। हम उनकी जान खतरे में नहीं डाल सकते। उन्होंने कहा कि 12वीं का रिजल्ट तय समय सीमा के भीतर और तार्किक आधार पर तैयार किया जाएगा। 

आपको बता दे कि इस बैठक में प्रधानमंत्री ने विद्यार्थियों को लेकर कहा कि छात्रों के हित को ध्यान में रखकर ही 12वीं की परीक्षा पर फैसला लिया गया है। उन्होंने कहा की छात्रों की सुरक्षा और सेहत हमारे लिए सबसे बड़ी प्राथमिकता है। इस पर किसी भी तरह का समझौता नहीं किया जा सकता है। परीक्षा को लेकर छात्र, पैरेंट्स और टीचर्स सभी परेशान थे। इस फिक्र को खत्म किया जाना जरूरी था। ऐसे दबाव भरे माहौल में छात्रों को परीक्षा देने के लिए बाध्य किया जाना ठीक नहीं होगा। परीक्षा से जुड़े सभी पक्षों को इस समय छात्रों के प्रति संवेदनशीलता दिखाने की जरूरत है। इसके साथ सीबीएसई 12वीं के नतीजे किस तरह से बनाएगा इसके लिए वह जल्द ही एक फ्रेम वर्क तैयार करेगा। 

बारहवीं के छात्र आदिल के अनुसार परीक्षा स्थगित करने से काफी राहत मिली है। ऑफलाइन पढ़ाई से जैसी तैयारी होती है वैसी तैयारी परीक्षा के लिए नहीं थी। कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण परीक्षा को लेकर तनाव भी बना हुआ था। 

12TH बोर्ड परीक्षा रद्द होने के फैसले को लेकर कई विद्यार्थी खुश है तो कुछ परीक्षा न कराने को लेकर निराश भी है। उदयपुर टाइम्स ने 12वीं के छात्र साहिल सेफी से बात की। साहिल का कहना है कि एग्जाम होने चाहिए थे। एग्जाम होने से हमे बोर्ड एग्जाम देने का फिर से मौका मिलता। और आगे भी परीक्षा देने में आसानी होती। 

वहीं कुछ विद्यार्थियो का कहना है कि एग्जाम रद्द होने के फैसले से बेहद खुश है। यह एक राहत की बात है। लंबे समय से हमारे बीच परीक्षा को लेकर संशय था। कई सारे कॉलेज में एडमिशन इसी रिजल्ट पर आधारित होते है। इसलिए यह फैसला सही समय पर आया है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal