गिट्स के इन्जिनियरिंग एवं प्रबन्धन संकाय के कार्यक्रमों को एन.बी.ए. एक्रेडिटेशन


गिट्स के इन्जिनियरिंग एवं प्रबन्धन संकाय के कार्यक्रमों को एन.बी.ए. एक्रेडिटेशन

गिट्स दक्षिण राजस्थान में पहला एवं इकलौता ऐसा महाविद्यालय हैं जिसकों इन्जिनियरिंग एवं प्रबन्धन संकाय में एक साथ एन.बी.ए. की मान्यता प्राप्त हुई हैं।

 
nba gits
UT WhatsApp Channel Join Now

गीतांजली इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्निकल स्टडीज डबोक उदयपुर (गिट्स) के इन्जिनियरिंग एवं प्रबन्धन संकाय को शैक्षणिक गुणवत्ता के लिए राष्ट्रीय एजेन्सी एन.बी.ए. द्वारा एक्रेडिएशन प्रदान किया गया हैं। यह एक्रेडिएशन शिक्षा के जगत में उदयपुर के लिए बहुत बढी उपलब्धि हैं।

संस्थान निदेशक डाॅ. विकास मिश्र ने बताया कि एन.बी.ए. एक राष्ट्रीय एजेन्सी हैं जो भारत के तकनीकी उच्च शिक्षण संस्थानों की मान्यता के लिए अधिकृत हैं जो शिक्षा प्रणाली में नये-नये तरीकों, प्रोफेशनल केरियर में बढावा तथा शैक्षणिक कार्यक्रमो के विकास एवं सुधार के लिए गाइडलाइन प्रदान करता हैं। 

यह एक्रेडिटेशन वैश्विक एजेन्सी के राष्ट्रीय एक्सपर्ट द्वारा संस्थान में चल रहें शैक्षणिक कार्यक्रमों में टीचिंग लर्निंग प्रोसेस, शिक्षक छात्र का अनुपात, शोध कार्य, विद्यार्थियों को महाविद्यालय की तरफ से प्रदान की जाने वाली मूलभूत सुविधाओं, गुड गर्वेनेंस, प्लेसमेंट महाविद्यालय का समाज के प्रति योगदान, छात्रों के सर्वांगिण विकास के लिए प्रतिबद्धता तथा एकेडमिक एवं प्लसेमेंट के क्षेत्र में लगातार उन्नति जैसे 10 मापदण्डों पर तीन दिन तक चलने वाले गहन विश्लेषण एवं निरीक्षण के उपरान्त इनमें खरा उतरने पर दिया जाता हैं। 

एन.बी.ए. ने अगस्त माह में महाविद्यालय के निरीक्षण के पश्चात् कम्प्यूटर सांईंस इन्जिनियरिंग, सिविल इन्जिनियरिंग तथा एम.बी.ए. के प्रोग्राम को मान्यता प्रदान की  हैं। गिट्स दक्षिण राजस्थान में पहला एवं इकलौता ऐसा महाविद्यालय हैं जिसकों इन्जिनियरिंग एवं प्रबन्धन संकाय में एक साथ एन.बी.ए. की मान्यता प्राप्त हुई हैं।

निदेशक आई.क्यू.ए.सी. डाॅ. सुधाकर जिंदल के अनुसार इस मान्यता के पश्चात् महाविद्यालय के विद्यार्थी विदेश एवं विदेशी कम्पनीज में प्लेसमेंट एवं विदेशी विश्वविद्यालयों में एडमिशन के लिए योग्य हो जायेंगे। यह मानक विश्व के विकसित देशों में शिक्षा के गुणवत्ता एवं छात्रों के सर्वांगीण विकास को ध्यान मे रखते हुए ‘‘वाॅशिंगटन एकार्ड’’ के तहत स्थापित किये गये हैं। 

उल्लेखनीय है कि इसके द्वारा मान्य कार्यक्रमों के विद्यार्थी फोब्र्स के वैश्विक 500 मल्टीनेशनल कम्पनीज में गुणवत्ता के आधार पर नौकरी के लिए योग्य हो जायेंगे। 

एम.बी.ए. निदेशक डाॅ. पी.के. जैन ने कहा कि गिट्स महाविद्यालय राजस्थान राज्य का एकमात्र महाविद्यालय हैं जिसकों वर्तमान में प्रबन्धन संकाय में एन.बी.ए. की मान्यता प्राप्त हैं। एन.बी.ए. एक्रेडिटेशन एम.बी.ए. प्रग्रोम के लिए बहुत बढी उपलब्धि हैं जो भविष्य में विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास में सहायक सिद्ध होगा। 

कम्प्यूटर साईंस इन्जिनियरिंग के विभागाध्यक्ष डाॅ. मयंक पटेल के अनुसार यह एक्रेडिएशन गिट्स के विगत 19 वर्षों से तकनीकी एवं प्रबन्धन के क्षेत्र में गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा के लिए अनवरत प्रयास एवं बेहतरीन प्लेसमेंट का परिणाम हैं। जिससे विश्व पटल पर अपनी पहचान बनाने में सफल रहें।

सिविल इन्जिनियरिंग के विभागाध्यक्ष डाॅ. मनीष वर्मा ने बताया कि निरिक्षण के दौरान राष्ट्रीय एजेन्सी के प्रतिनिधियों ने दस्तावेजों का भौतिक सत्यापन तथा ऑनलाइन आकलन किया । तीन दिन तक चलने वाले इस निरीक्षण की रिपोर्ट को राष्ट्रीय स्तर की कमिटी द्वारा उपयुक्त पाये जाने और अनुमोदन के आधार पर तीन वर्ष के लिए एक्रेडिटेशन प्राप्त हुआ हैं।

संस्थान के वित्त नियंत्रक बी.एल. जांगिड ने शिक्षकों एवं स्टाॅफ मेम्बर्स को बधाई देते हुए कहा कि यह एक्रेडिटेशन हम सभी के अपने काम के प्रति समर्पण का नतीजा हैं। इस सफलता के साथ ही समाज के प्रति हमारी जिम्मेदारी और बढ गई हैं। कार्यक्रम का संचलान डाॅ. दिपिका साहू द्वारा किया गया।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal