IIMU इनक्यूबेशन सेंटर ने देशभर के एग्रीटेक और फिनटेक स्टार्टअप्स को दिया आमंत्रण


IIMU इनक्यूबेशन सेंटर ने देशभर के एग्रीटेक और फिनटेक स्टार्टअप्स को दिया आमंत्रण 

बी-स्कूल ने लॉन्च-एन-ज़ूम एक्सेलेरेटर प्रोग्राम के चौथे ग्रुप का किया एलान

 
IIM Udaipur
UT WhatsApp Channel Join Now
मार्केट वैलिडेशन, नेटवर्किंग, मेंटरशिप, इंडस्ट्री पार्टनरशिप और इनक्यूबेशन सपोर्ट के अलावा, कोहोर्ट में योग्य स्टार्टअप के लिए 20 लाख रुपए तक के निवेश के अवसर भी शामिल

आईआईएम उदयपुर के इनक्यूबेशन सेंटर ने अपने ’लॉन्च-एन-ज़ूम’ के चौथे समूह या कोहोर्ट की घोषणा की, जो 3 महीने का एक्सेलेरेटर कोहोर्ट प्रोग्राम है। इसे स्टार्टअप्स को संसाधन और सहायता प्रदान करने के लिहाज से डिजाइन किया गया है, ताकि वे तेजी से बढ़ सकें और बाजार की चुनौतियों को परखते हुए व्यावहारिक कदम उठा सकें। आईआईएमयूआईसी एग्रीटेक और फिनटेक क्षेत्रों में चुनौतियों से निपटने के लिए टैक्नोलॉजी सपोर्टेड स्टार्टअप (प्री-सीड, सीड और ग्रोथ स्टेज) को आमंत्रित कर रहा है। ऐसे स्टार्टअप जिनके पास अपना प्रोटोटाइप / एमवीपी तैयार है और एग्रीटेक और फिनटेक में अपने उत्पादों की स्केलिंग / मार्केटिंग की प्रक्रिया में हैं, इस कार्यक्रम के लिए पात्र हैं।


मार्केट वैलिडेशन, नेटवर्किंग, मेंटरशिप, इंडस्ट्री पार्टनरशिप और इनक्यूबेशन सपोर्ट के अलावा, कोहोर्ट में योग्य स्टार्टअप के लिए 20 लाख रुपए तक के निवेश के अवसर भी शामिल हैं। यह कार्यक्रम भारत के डीएसटी, (गवर्नमेंट) द्वारा संचालित है और पीआई इंडस्ट्रीज एंड फिडेलिटी इन्वेस्टमेंट्स के सहयोग से प्रस्तुत किया गया है। कॉरपोरेट पार्टनर के रूप में, पीआई और फिडेलिटी इन्वेस्टमेंट्स एग्रीटेक प्रतिभागियों का मार्गदर्शन और मार्गदर्शन करेंगे।

आईआईएम उदयपुर इनक्यूबेशन सेंटर के सीईओ कन्नन सुंदरराजन ने कहा, ‘निधि सीड सपोर्ट द्वारा समर्थित लॉन्च-एन-ज़ूम का चौथा संस्करण तीन महीने का एक्सेलेरेटर प्रोग्राम है, जिसमें उद्यमियों को हमारे मेंटर, उद्योग विशेषज्ञों और कॉर्पोरेट भागीदारों की मदद से अपने उद्यम को बढ़ाने का एक अनूठा अवसर मिलेगा। हम एक टीम के रूप में, आपकी अनूठी जरूरतों के लिए कार्यक्रम को तैयार करने का प्रयास करेंगे और आपके उद्यम के विकास में मदद करेंगे। मैं अपनी हार्दिक बधाई देता हूं और योग्य स्टार्टअप्स को इस समूह में पूरी गर्मजोशी के साथ आमंत्रित करता हूं।’

एग्रीटेक के फोकस क्षेत्र में मार्केट लिंकेज-फार्म इनपुट्स, फार्म मैकेनाइजेशन एंड ऑटोमेशन, प्रेसिजन एग्रीकल्चर एंड फार्म मैनेजमेंट, क्वालिटी मैनेजमेंट, सप्लाई चेन टेक, वेस्ट मैनेजमेंट और फाइनेंशियल सर्विसेज आदि जैसे विषय शामिल होंगे। जबकि फिनटेक के फोकस क्षेत्र में, ऑटोनॉमस फाइनेंस, फाइनेंशियल प्राइमेसी, बैंकिंग-एज-ए-सर्विस, वित्तीय समावेशन-रिटेल ग्राहक, और वित्तीय समावेशन- एसएमई आदि जैसी चुनौतियों पर काम किया जाएगा।

25 अक्टूबर 2021 से शुरू होने वाले 12-सप्ताह के कार्यक्रम में भाग लेने के लिए संभावित स्टार्टअप्स की एक छोटी संख्या का चयन किया जाएगा। यह प्रोग्राम चयनित स्टार्टअप्स को रैपिड प्रोटोटाइप सपोर्ट भी प्रदान करेगा और सभी भाग लेने वाले स्टार्टअप्स को निशुल्क अमेजन वेब सर्विसेज रेजर पे, जोहो क्रेडिट मिलेगा। इसके साथ ही, प्रोग्राम पूरा करने के बाद छात्र स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र के एल्युमनी बन जाएंगे और एक्सेलेरेटर प्रोग्राम के बाद भी एक वर्ष तक संस्थान की इनक्यूबेशन सेवाओं का आनंद लेना और उनका उपयोग करना जारी रखेंगे।

पात्रता

  • यह उद्यम भारत में एक पंजीकृत कंपनी होना चाहिए।
  • उद्यम को एक भारतीय स्टार्ट-अप होना चाहिए। यह समर्थन बहुराष्ट्रीय कंपनियों/विदेशी कंपनियों की भारतीय सहायक कंपनियों के लिए नहीं है। भारत के प्रवासी नागरिक (ओसीआई), भारतीय मूल के व्यक्ति (पीआईओ) को इस योजना के लिए भारतीय नागरिक माना जाएगा।
  • स्टार्टअप में भारतीय प्रमोटरों की हिस्सेदारी कम से कम 51 फीसदी होनी चाहिए।
  • चयनित स्टार्ट-अप को आईआईएमयूआईसी का इनक्यूबेटी बनना होगा और सीड फंड निवेश के समय आईआईएमयूआईसी में तीन महीने का इनक्यूबेशन पूरा करना चाहिए।


कार्यक्रम समयरेखा

  • आवेदन शुरूः 27 अगस्त, 2021
  • आवेदन बंद: 27 सितंबर, 2021
  • आवेदन स्क्रीनिंगः 28 सितंबर, 2021 - 15 अक्टूबर, 2021
  • परिणाम की घोषणाः 15 अक्टूबर, 2021
  • कोहोर्ट प्रारंभः 25 अक्टूबर, 2021


संस्थान के इनक्यूबेशन सेंटर ने अब तक तीन कोहोर्ट की मेजबानी की है, जिसमें शामिल होने वाले कई स्टार्टअप ने अपने स्टार्टअप आइडिया को एक बाजार उत्पाद में बदल दिया है। एक्सेलरेटर प्रोग्राम कोविड-19 के कारण वर्चुअली आयोजित किया जाएगा।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal