MLSU के वाणिज्य एवं प्रबंध अध्ययन महाविद्यालय में दो दिवसीय इंडक्शन कार्यक्रम

MLSU के वाणिज्य एवं प्रबंध अध्ययन महाविद्यालय में दो दिवसीय इंडक्शन कार्यक्रम

पाठ्यक्रम एक खास पाठ्यक्रम है जिसको कि पूरे भारत में एकमात्र सुखाड़िया विश्वविद्यालय ही चला रहा है

 
MLSU

विद्यार्थियों को मोटिवेशन पर आधारित एक्सटेंशन लेक्चर करवाया

सुखाड़िया विश्वविद्यालय के वाणिज्य एवं प्रबंध अध्ययन महाविद्यालय के बी वॉक (लेखांकन कराधान एवं अंकेक्षण) के प्रथम सेमेस्टर के विद्यार्थियों के लिए दो दिवसीय इंडक्शन कार्यक्रम रखा गया। जिसमें प्रथम दिन पर विद्यार्थियों को महाविद्यालय संकाय सदस्य तथा पाठ्यक्रम के बारे में जानकारी दी गई तथा अगले दिन एक मोटिवेशन पर आधारित एक्सटेंशन लेक्चर करवाया जाएगा।  आज के कार्यक्रम में प्रो पी के सिंह अधिष्ठाता, वाणिज्य महाविद्यालय ने इस पाठ्यक्रम की महत्ता बताते हुए कहा की यह पाठ्यक्रम एक खास पाठ्यक्रम है जिसको कि पूरे भारत में एकमात्र सुखाड़िया विश्वविद्यालय ही चला रहा है।

उन्होंने विद्यार्थियों को बधाई देते हुए कहा कि अब वोअपने कौशल को बेहतर तरीके से विकसित कर सकते हैं और अपने आप को रोजगार उन्मुख बना सकते हैं क्योंकि यह कोर्स तकनीकी ,सॉफ्टवेयर और प्रैक्टिकल पहलुओं पर जोर देता है। सुखाड़िया विश्वविद्यालय के अधिष्ठाता छात्र कल्याण एवं लेखांकन एवं व्यवसायिक सांख्यिकी विभाग के हेड प्रोफेसर शूरवीर सिंह भाणावत ने छात्रों को प्रेरणादाई शब्दों में बहुमूल्य सुझाव दिए जो कि वास्तविक जीवन पर आधारित हैं। कि किस तरह से भली-भांति सॉफ्टवेयर और प्रैक्टिकल ज्ञान सीखते हुए और उस में पारंगत होते हुए विद्यार्थी स्वयं का स्टार्टअप, बिजनेस और जॉब हर तरह के विकल्प के अवसर को का चयन कर सकते हैं।

कार्यक्रम की समन्वयक डॉ आशा शर्मा ने पाठ्यक्रम के कुछ विशेषताओं का जिक्र करते हुए छात्र-छात्राओं को विषय से परिचय करवाया कार्यक्रम में विद्यार्थियों के साथ साथ विभाग के संकाय सदस्य डॉक्टर शिल्पा वरडीया ,डॉक्टर शिल्पा लोढा, डॉक्टर पारुल दशोरा, श्री पुष्पराज मीणा तथा पाठ्यक्रम के अतिथि शिक्षक  प्रियंका आमेटा, गौरव सुराणा, नेहा बंसीवाल आदि उपस्थित थे। डॉ समता ओरडीया ने प्रोग्राम को संचालन किया तथा सीए अनीमा चोर्डिया  ने अंत में धन्यवाद ज्ञापित किया।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal