हिन्दुस्तान जिंक की समाधान परियोजना के किसानों ने मनाया विश्व दुग्ध दिवस

हिन्दुस्तान जिंक की समाधान परियोजना के किसानों ने मनाया विश्व दुग्ध दिवस

हिंदुस्तान जिंक की समाधान परियोजना के तहत 185 गांवों के किसान लाभान्वित हो रहे है

 
HZL samadhan

हिन्दुस्तान जिंक की समाधान परियोजना के तहत घाटावली माताजी किसान उत्पादक संगठन ने सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस उदयसागर बिछड़ी पंचायत में विश्व दुग्ध दिवस के अवसर पर उत्सव का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में आसपास के गांवों के 70 किसानों ने भाग लिया। 

कार्यक्रम में डॉ. एस.पी. त्रिवेदी अतिरिक्त निदेशक एवं डॉ. शक्ति सिंह संयुक्त निदेशक पशुपालन विभाग उदयपुर, डॉ. आर.के. जोशी, डीन व डॉ. हाकिम मंजर आलम, उपप्राचार्य वेटरनरी कॉलेज वल्लभनगर, हिन्दुस्तान जिंक की हेड सीएसआर  अनुपम निधि,एसबीयू उप प्रमुख देबारी अमीत वली, अनिल गदिया लोकेशन एचआर हेड, डॉ. एस.के. बंसल विषयगत परियोजना विशेषज्ञ उत्तर क्षेत्र, सुरेंद्र वेरडिया मुख्य कार्यक्रम प्रबंधक, बीएआईएफ इंस्टीट्यूट ऑफ सस्टेनेबल लाइवलीहुड्स उपस्थित थे। 

इस मौके पर बिछड़ी पंचायत की सरपंच धर्मीबाई, उप सरपंच लोकेश पालीवाल, पूर्व सरपंच बाबू सिंह, एफपीओ के निदेशक चुन्नीलाल पटेल सहित बीओडी सदस्य और जिंक स्मेल्टर देबारी की सीएसआर टीम भी मौजूद रहे। 

मुख्य अतिथियों ने स्वच्छ दूध उत्पादन के महत्व, गाय के स्वास्थ्य और दूध की गुणवत्ता पर इसके प्रभाव, इसे कैसे सुनिश्चित किया जाए, और इससे लाभों के बारे में उपस्थित लोगों को जानकारी दी। समाधान की टीम ने घाटावाली माताजी किसान उत्पादक संगठन के उत्पादक ब्राण्ड गोअम जिसमें घी, पाश्चराईज्ड एवं फ्रेश मिल्क, पनीर, दही, छाछ, मावा आदि उत्पादों की जानकारी दी। 

अतिथियों ने उत्पादों के बाजार में पहुंच और डेयरी उत्पादों की बिक्री को बढ़ाने के बारे में भी जागरूक किया। उन्होंने बड़े पैमाने पर एफपीओ के प्रयास, बीओडी और दूध देने वाले किसान सदस्यों की भागीदारी की सराहना की, साथ ही उन्हें अपना दूध उत्पादन बढ़ाने और आसपास के क्षेत्रों के अधिकतम किसानों तक पहुंचने के लिए प्रेरित किया। एफपीओ के बीओडी सदस्यों के साथ अतिथियों ने समाधान परियोजना के तहत स्वच्छ दूध उत्पादन पुस्तिका का भी अनावरण किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथियों द्वारा बोर्ड के सदस्यों को एफपीओ के प्रति उनके अच्छे प्रदर्शन हेतु सम्मानित किया गया।

किसान उत्पादक संघ किसानों के विकास और आय में वृद्धि के लिये हिंदुस्तान जिंक के सीएसआर के तहत् की गई पहल है जिसके माध्यम से 5 कृषि विकास केन्द्र स्थापित किए गए हैं। इस केन्द्र से जुडे किसान हिस्सेदारों को उनकी मांग के अनुरूप एफपीओ के माध्यम से फसल के बीज, उर्वरक, कीटनाशक आदि उचित दर पर उपलब्ध हो रहे है । ये एफपीओ देबारी,जावर, रामपुरा आगुचा, दरीबा , और चित्तौड़गढ़ में स्थापित किए गए हैं। 

हिंदुस्तान जिंक की समाधान परियोजना के अंतर्गत फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड के तहत अब तक 300 से अधिक किसान हित समूह में कुल 5 हजार से अधिक किसान शेयर धारक जुड़ चुके हैं जिनमें महिला सदस्य भी जुड़ी हुई हैं। हिंदुस्तान जिंक की समाधान परियोजना के तहत 185 गांवों के किसान लाभान्वित हो रहे है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal