‘रश ऑवर राइड’ का हुआ आयोजन, एसपी ने दिखाई झण्डी

‘रश ऑवर राइड’ का हुआ आयोजन, एसपी ने दिखाई झण्डी

उदयपुर शहर के हेरिटेज लुक को देखकर अभिभूत हुए साइकिल यात्री
 
 
‘रश ऑवर राइड’ का हुआ आयोजन, एसपी ने दिखाई झण्डी
तीन दिवसीय “पैडल टू जंगल“ का रोमांच कल से,

उदयपुर, 6 फरवरी 2020 । वन विभाग, ली टूर डी इंडिया तथा बेला बसेरा रिसोर्ट के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित होने जा रही तीन दिवसीय साईकिल सफारी ‘पेडल-टू-जंगल’ कार्यक्रम के तहत गुरुवार को पहली बार ‘रश ऑवर राइड’ का आयोजन हुआ।

इस राइड को फतेहसागर की पाल स्थित देवाली छोर पर जिला पुलिस अधीक्षक कैलाश विश्नोई ने झण्डी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान आयोजन के मुख्य समन्वयक तथा सेवानिवृत्त मुख्य वन संरक्षक राहुल भटनागर ने एसपी विश्नोई को तीन दिवसीय इस आयोजन के बारे में विस्तार से जानकारी दी और बताया कि इसमें देशभर के छः राज्यों से साईकिल यात्री सम्मिलित हो रहे हैं। इस दौरान अतिरिक्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक के.के. गर्ग ने मेवाड़ की समृद्ध प्राकृतिक संपदा की तारीफ की और इसमें साईकिल यात्रा के आयोजन की सराहना की। समारोह में ली टूर डी इंडिया के कुशाल राठौड़, रिटायर्ड डीएफओ सोहेल मजबूर, सहायक लेखाधिकारी दिनकर खमेसरा और बड़ी संख्या में पर्यावरणप्रेमी मौजूद थे।

हरी झण्डी दिखाने के बाद इसमें सम्मिलित समस्त साइकिल यात्री फतहसागर के देवाली छोर से रवाना होकर रानी रोड़, चांदपोल, जगदीश मंदिर होते हुए सिटी पैलेस पहुंचे। शहर के भीड़ भरे तथा हेरिटेज से समृद्ध रास्तों के बीच देशभर से पहुंचे इन साईकित यात्रियों ने साईकिल राईडिंग के साथ हेरिटेज और मेवाड़ी रहन-सहन, वेशभूषा को देखने का लुत्फ उठाया।

यहां सिटी पैलेस के लक्ष्यराज सिंह मेवाड़ द्वारा उनका स्वागत किया गया। पैलेस में संक्षिप्त समारोह के बाद घंटाघर, चेतक सर्कल होते हुए पुनः देवाली छोर पहुंचें।

कल जंगल की ओर रवाना होगी यात्रा:

इस आयोजन के मुख्य समन्वयक तथा सेवानिवृत्त मुख्य वन संरक्षक राहुल भटनागर ने बताया कि मुख्य कार्यक्रम साईकिल पर प्रकृति के त्रिदिवसीय रोमांच ‘पेडल टू जंगल‘ का आगाज 7 फरवरी की सुबह फतहसागर पाल से होगा, जिसे पुलिस महानिरीक्षक श्रीमती बिनीता ठाकुर हरी झण्डी दिखाकर रवाना करेंगी। 

इस आयोजन में प्रदेश के जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, कोटा तथा महाराष्ट्र से नागपुर व मुम्बई, चेन्नई, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा सहित देश के विभिन्न हिस्सों से पंजीकृत प्रकृति प्रेमी साइकिल के सहारे प्रकृति की अनुपम छठा का लुत्फ उठाएंगे। भटनागर ने बताया कि उदयपुर में यह तीसरा मौका है जब साईकिल पर जंगल यात्रा का रोमांच का अहसास होगा। 

तीन रात्रि तथा चार दिन के इस अनोखे अभियान के राजस्थान सहित देश के अन्य हिस्सों से चयनित प्रतिभागी हिस्सा ले रहे हैं। जिनमें साइकिल यात्री 150 किलोमीटर प्रकृति पथ की यात्रा करेंगे। ईको टूरिज्म को बढ़ावा देने व प्रकृति संरक्षण, आजीविका एवं आत्मनिर्भरता के बेहतर अवसर उपलब्ध कराने के लिए स्थानीय लोगों को प्रोत्साहित करना आदि यात्रा के प्रमुख उद्देश्य हैं।

यह रहेगा तीन दिनों का रूट चार्ट

श्री भटनागर ने बताया कि प्रथम दिन साइकिल यात्री फहतसागर पाल से रवाना होकर रानी रोड, बड़ी, छोटा मदार, गोडान कला, धार, उबेश्वरजी, भाटा गांव होते हुए श्रीराम गांव स्थित केम्प साइट पहुंचेंगे। दूसरे दिन का सफर श्रीराम गांव से प्रांरभ होकर गोगुन्दा, रावलिया कला, पानेर, बरवाड़ा, ओड़ा, केलवाड़ा, गवार होकर बेला बसेरा रिसोर्ट पर थमेगा। वहीं तीसरे दिन साइकिल सवार प्रकृति प्रेमी बेला बसेरा रिसोर्ट से निकलकर गवार, केलवाड़ा, बीड की भागल, कुंभलगढ़ सेंचुरी गेट, दाना बट्टा, ठण्डी बेरी होते हुए मुछाला महावीर तक पहुंचेंगे। यहां समापन समारोह में मुख्य वन संरक्षक आरके सिंह, राजसमंद उप वन संरक्षक फतेहसिंह राठौड़ और अन्य विशिष्टजनों की मौजूदगी में समापन समारोह का आयोजन किया जाएगा।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal